INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI – हरियाणा की समस्त जानकारी 5 मिनट में

INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI – हरियाणा की समस्त जानकारी 5 मिनट में,

हरियाणा, यह धरती है श्रीकृष्ण की जहाँ पर उन्होंने अर्जुन को मोहपाश से बाहर निकालते हुए निष्काम कर्म की शिक्षा दी। हरियाणा द्रोणाचार्य की धरती है। जिसके नाम पर दिल्ली से सटे हरियाणा के एक शहर का नाम गुरुग्राम पड़ा।

इसी धरा पर भगवान श्री कृष्ण द्वारा गीता जैसे गूढ ज्ञान, जन मानस के सामने आया। यह राज्य सिंधु घाटी सभ्यता का पोषक रहा है। हरियाणा हमारे देश भारत के समृद्ध राज्यों में गिनती की जाती है।

राष्ट्रीय आय की दृष्टि से हरियाणा का भारत में दूसरे नम्बर पर आता है। पहला स्थान पंजाब का है। हरियाली से परिपूर्ण हरियाणा का समग्र क्षेत्र साफ और सुंदर सड़कों से परिपूर्ण है। कहते हैं की हरियाणा के प्रत्येक गाँव मे सन 1970 से ही विजली उपलब्ध करायी गयी थी।

ऐसा करने वाला यह भारत का पहला राज्‍य बना। वर्तमान में भारत का यह राज्य  आटोमोबाइल उद्योग का प्रमुख हब है। कारें और दुपहिया वाहन के क्षेत्र में यह राज्य अग्रणी है। मारुति का मैन्यफैक्चर हब हरियाणा के गुरुग्राम में ही स्थित है।

इसके अतिरिक्त यह राज्य ट्रेक्टर  के निर्माण में भी आगे हैं। अगर आप हरियाणा के बारे में जानकारी (INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI ) विस्तार से चाहते हैं तो यह लेख पूरा पढ़ें

हरियाणा की समस्त जानकारी 5 मिनट में - COMPLETE INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI
Image credit By Last Emperor – https://commons.wikimedia.org

हरियाणा की समस्त जानकारी 5 मिनट में INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI

  • नाम – हरियाणा 
  • राजधानी – चंडीगढ़
  • स्थापना  – 01 नवम्बर, 1966
  • क्षेतफल – 44,212 वर्ग किलोमिटर
  • जनसंख्या –  2,53,53,081  (जनगणना 2011)
  • लिंग अनुपात –    877 (2011 के अनुसार )
  • साक्षरता दर – 76.64% है
  • भाषा (Haryana language) – पंजाबी, हिन्दी, उर्दू
  • क्षेत्रफल –  44,212   वर्ग कि मी
  • विधान सभा की कुल सीट – 90
  • लोकसभा की कुल सीट – 10 
  • राज्य सभा की कुल सीट – 05 
  • राजकीय वृक्ष – ‘पीपल’
  • राजकीय पक्षी – श्याम फ़्रैंकोलिन’
  • राजकीय पशु – ‘कृष्ण मृग’
  • राजकीय फूल – ‘कमल
  • प्रमुख दर्शनीय स्थल – कुरुक्षेत्र, सोहना,
  • प्रमुख शहर – अंबाला, करनाल, गुरुग्राम, पानीपत, जींद, बहादुरगढ़, फरीदाबाद। हरियाणा राज्य का सबसे बड़ा शहर दिल्ली से सटा फरीदाबाद है।

हरियाणा का इतिहास history of haryana in hindi

सहूलियत की दृष्टिकोण से हरियाणा के इतिहास को तीन भागों में बाँट कर वर्णन किया गया है ताकि पढ़ने में रोचक लगे।

हरियाणा का इतिहास धार्मिक दृष्टिकोण से haryana History In Hindi

हरियाणा का इतिहास भारत भूमि को हमेशा से ही गौरान्वित करती रही है। द्वापर में इसी धरा पर भगवान कृष्ण ने गीता का उपदेश दिया था। प्रसिद्धि भागवत गीता इसी धरा से निकलकर जनमानस तक पहुंची। कहा जाता है की ‘हरियाणा का इतिहास’ वैदिक कालीन है। 

हरियाणा को  पौराणिक भरत वंश की जन्‍मभूमि के रूप में भी याद किया जाता है। उन्हीं के नाम पर इस देश का नाम भारत पड़ा। द्वापर युग में महाभारत की लड़ाई हरियाणा के कुरुक्षेत्र में हुई थी।

इस बात का उल्लेख प्रसिद्ध महाकाव्‍य महाभारत में भी की गयी है। शतपथ ब्राह्मण में हरियाणा के कुरुक्षेत्र की चर्चा देवताओं की यज्ञभूमि के रूप में की गयी है।

हरियाणा का प्राचीन इतिहास

इतिहासकारों के अनुसार प्राचीन काल में नंद के समय यह क्षेत्र मगध साम्राज्य के अधीन था। मौर्यों वंश के शासनकाल में यह क्षेत्र मौर्य वंशी राजाओं के राज्य में रहा। मौर्यों वंश के पतन के बाद गुप्त काल तक के हरियाणा का इतिहास पूर्ण रूप से स्पष्ट नहीं है।

गुप्तों के बाद थानेश्वर के पुष्यभूतिवंशीय राजाओं ने इस क्षेत्र  पर राज किया। कलांतर में यह गुर्जर प्रतिहारों और गहड़वालों के आधिपत्य में रहा।

बाद में महमूद गजनवी ने थानेश्वर पर आक्रमण कर हरियाणा के कुरुक्षेत्र में स्थित चक्रस्वामी नामक भगवान विष्णु की मूर्ति को नष्ट कर दिया। उसके बाद दिल्ली के राजा पृथ्वीराज चौहान ने इस क्षेत्र को मुसलमानों से मुक्त कराया।

हरियाणा की धरती पर पानीपथ की तीन लड़ाई लड़ी गयी जो भारत की दिशा और दशा को बदल कर रख दी।

हरियाणा का मध्यकालीन इतिहास

कहते हैं की सन 1857 में  प्रथम स्‍वतंत्रता महासंग्राम तक यह गुमनाम बना रहा। सन् 1857 के विद्रोह को दबाने के बाद जब ब्रिटिश सरकार फिर से हरकत में आई। तब उन्होंने झज्‍झर और बहादुरगढ़ के नवाबों, बल्‍लभगढ़ के राजा तथा रिवाड़ी के राव तुलाराम से सत्‍ता की बागडोर छीन ली।

उनके क्षेत्र को  ब्रिटिश क्षेत्रों में मिला लिए गए और कुछ भाग पटियाला, नाभा और जींद के शासकों के हाथों दे दिया। इस तरह हरियाणा पंजाब प्रांत का हिस्‍सा बन गया।

हरियाणा का आधुनिक इतिहास

15 अगस्त 1947 को जब हमारा देश आजाद हुआ तब यह पंजाव प्रांत का ही हिस्सा था। साठ के दशक में भाषा के आधार पर राज्य के गठन की मांग उठने लगी। साल 1966 में पंजाब पुनर्गठन अधिनियम पारित हुआ।

अंततः पंजाबी भाषी क्षेत्र को मिलाकर पंजाब राज्य की स्थापना हुई और हरियाणा भाषी क्षेत्र हरियाणा राज्य का हिस्सा बना। इस प्रकार 01 नवंबर 1966 ईस्वी में हरियाणा स्वयंत्र राज्य बन गया।

राज्य के गठन के बाद से ही हरियाणा लगातार प्रगति कर रहा है। आज इस राज्य की गिनती भारत के सम्पन्न राज्यों में की जाती है।

हरियाणा की राजधानी what is the capital of Haryana

हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ है। गुलावों की नगरी चंडीगढ़ एक केंद्र शासित प्रदेश हैं। सेक्टरों में बसा यह शहर बहुत ही मनोहारी लगता है। यह पंजाब राज्य की भी राजधानी है।

हरियाणा की चौहद्दी

हरियाणा के उत्तर में पंजाब और हिमाचल प्रदेश तथा दक्षिण-पश्चिम में राजस्थान है। इसके पुरव में उत्तराखंड तथा उत्तर प्रदेश स्थित है।हरियाणा की सीमा का अधिकांश भाग दिल्ली से लगी हुई हैं।

हरियाणा का भूगोल geography of haryana in hindi

भारत का राज्य हरियाणा इसके उत्तरी भाग में स्थित है और इस राज्य की भौगोलिक स्थिति 30.73 डिग्री उत्तर और 76.78 डिग्री पुरव में है। हरियाणा का दक्षिण-पश्चिम  भाग राजस्थान से सटा है। यह क्षेत्र शुष्क, रेतीला और बंजर है।

हरियाणा को दो प्राकृतिक भु-भागों में बांट कर देखा जा सकता है। पहला उपहिमालयी तराई वाला क्षेत्र और दूसरा गंगा का मैदान। हरियाणा का मैदानी इलाका बहुत ही उपजाउ है। यहाँ की करीब 60% भूमि पर खेती की जाती है।

यहां की अधिकांश आबादी के आजीविका का मुख्य साधन कृषि है। यहाँ की मुख्य फ़सलें तिलहन, कपास, गन्ना, आलू, दालें, जौ, ज्वार और बाजरा, धान और गेहूं है।

हरियाणा के मुख्य त्यौहार (Haryana Famous Festivals)

भारत के हरियाणा राज्य में सभी धर्मों के लोग बहुत ही सोहार्द ढंग से रहते हैं। सभी समुदाय के लोग अपने त्योहार को बहुत ही उत्साह और उमंग के साथ मनाते हैं। हरियाणा के मुख्य त्योहार में लोहड़ी, मकर संक्रान्ति, होली, गणेश चतुर्थी, दशहरा, दीपावली, रमजान, ईद, शिवरात्रि  का नाम आता है।

हरियाणा के जिले के बारे में how many district in Haryana

भारत के राज्य हरियाणा में कुल जिलों की संख्या 22 हैं. जनसँख्या के दृष्टिकोण से फरीदाबाद हरियाणा राज्य का सबसे बड़ा और  सबसे छोटा जिला चरखी दादरी है. क्षेत्रफल दृष्टिकोण से सबसे बड़ा जिला सिरसा है।

INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI - हरियाणा की समस्त जानकारी
गुड़गांव हरियाणा -Image by commons.wikimedia.org

हरियाणा के सभी जिले (districts in Haryana )का नाम इस प्रकार है – अम्बाला, करनाल, महेंद्रगढ़, कुरुक्षेत्र, गुड़गांव, चरखी दादरी, जींद, झज्जर, पंचकूला, पलवल, पानीपत, फतेहाबाद, फरीदाबाद, भिवानी, मेवात, यमुनानगर, रेवाड़ी, रोहतक, हिसार, सोनीपत, सिरसा और  कैथल हैं।

हरियाणा दर्शनीय स्थल की समस्त जानकारी

पर्यटन स्‍थल हरियाणा में कुल 44 पर्यटक परिसर माने जाते हैं। उनमें में से कुछ प्रमुख स्थलों का वर्णन इस प्रकार है।

कुरुक्षेत्र – हरियाणा राज्य में स्थित कुरुक्षेत्र एक धार्मिक स्थल है। यहीं पर महाभारत की लड़ाई हुई थी। कुरुक्षेत्र पिंड दान के लिए भी प्रसिद्ध है। भारत में गया, हरिद्वार, गंगासागर और कुरुक्षेत्र में हिन्दू समुदाय के लोग अपने पूर्वजों का तर्पण करते हैं।

कहते हैं की यह स्थल हिन्दू-देवी देवताओं का निवास स्थल था। पौराणिक कल में इसी स्थल पर पावन सरस्वती नदी बहती थी।

पानीपत – पानीपत भी तीन प्रसिद्ध लड़ाई के रन क्षेत्र के रूप पहचान है। इस स्थल पर सन 1526 ईस्वी में पानीपत की पहली लड़ाई, 1556 ईस्वी में पानीपत की दूसरी लड़ाई और सन 1761 ईस्वी में पानीपत की तीसरी लड़ाई हुई थी।

करनाल झील – पौराणिक कथाओं के आधार पर इस स्थल की स्थापना महान योद्धा दानवीर कर्ण ने की थी। शांत और मनोरम वातावरण के कारण पर्यटक का आकर्षण का केंद्र है।

सुलतान पुर – पक्षी संग्रहालय के रूप में मशहूर सुलतानपुर हरियाणा का प्रसिद्ध स्थल है। यहाँ पर हर प्रकार के पक्षी को संरक्षित कर रखा गया है।

सुरज कुंड – सूरजकुंड प्रतिवर्ष विश्व विख्यात हस्तशिल्प मेले के लिए प्रसिद्ध

बड़खला झील – इसके सुंदर लॉन में बच्चों और फॅमिली के साथ गुजारा जा सकता है। इस स्थल की प्राकृतिक सौन्दर्य निराली और अद्भुत है। इस झील में बोटिंग का मजा लिया जा सकता है।

सोहना – यह स्थल गर्म जल कुंड और पिकनिक स्थल के लिए प्रसिद्ध है। कहते हैं की यहाँ के गर्म जल-कुंड के जल के प्रयोग से चर्म रोग से निजात पाने की क्षमता है।

अगर आप Haryana mein kitne jile hain, Haryana language, Haryana gk in Hindi या हरियाणा की समस्त जानकारी 5 मिनट में पाना चाहते हैं तो यह ब्लॉग आपकी मदद कर सकता है।

आपको INFORMATION ABOUT HARYANA IN HINDI शीर्षक वाला यह लेख कैसा लगा अपने सुझाव से जरूर अवगत करायें।

इन्हें भी पढ़ें :-

Leave a Comment