SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा

शिव की आरती के विना भगवान शिव की पूजा पूर्ण नहीं होती है। हिन्दू धर्म में हर पूजा के बाद आरती करने का विधान है। हिन्दू समुदाय के त्रिदेव में भगवान शिव को संहारकर्ता के रूप में जाना जाता है। शिव की आरती से घर में सुख शांति की प्राप्ति होती है।

पुराणों में वर्णित भगवान शिव के कई नाम हैं। महादेव, पशुपति, भोलेनाथ, कैलाशपति आदि। महाशिवरात्रि जैसे कुछ खास अवसर पर अथवा नित्य पूजन के बाद शिव भक्त शिव की आरती की जाती हैं।  ओम जय शिव ओमकारा को शिव की आरती के  रूप में गाया जाता है।

शिवजी की आरती – SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा

SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा
SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा

ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव,  ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा । ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे, स्वामी पञ्चानन राजे, हंसासन गरूड़ासन, हंसासन गरूड़ासन, वृषवाहन साजे, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

दो भुज चार चतुर्भुज, दसभुज ते सोहे, स्वामी दसभुज ते सोहे, तीनों रूप निरखता, तीनों रूप निरखता, त्रिभुवन मन मोहे, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी, स्वामी मुण्डमाला धारी, चन्दन मृगमद चंदा, चन्दन मृगमद चंदा, भोले शुभ कारी, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

श्वेताम्बर, पीताम्बर, बाघाम्बर अंगे, स्वामी बाघाम्बर अंगे, संतादिक, ब्रह्मादिक संतादिक, भूतादिक संगे, ॐ जय शिव ओंकारा । ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

कर मध्ये च’कमण्ड चक्र त्रिशूलधरता, स्वामी चक्र त्रिशूलधरता, जग कर्ता जग हरता, जग कर्ता जग हरता, जगपालन करता, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव जानत अविवेका, स्वामी जानत अविवेका, प्रनाबाच्क्षर के मध्ये, प्रनाबाच्क्षर के मध्ये, ये तीनों एका, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।।

त्रिगुणस्वामी जी की आरति जो कोइ जन गावे, स्वामी जो कोइ जन गावे, कहत शिवानन्द स्वामी, कहत शिवानन्द स्वामी, मनवान्छित फल पावे, ॐ जय शिव ओंकारा। ॐ जय शिव ओंकारा, प्रभु हर शिव ओंकारा, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, ब्रह्मा  विष्णु  सदाशिव, अर्द्धांगी धारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।

Shiv ji ki aarti in hindi – शिव जी की आरती के बाद निम्नलिखित मंत्र दोहराना चाहिए।

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसार सारं भुजगेन्द्र हारं ।
सदा वसन्तं ह्रदयाविन्दे भंव भवानी सहितं नमामि ।।

Shiv ji ki Aarti in English (शिव जी की आरती)

Om jai shiva onkara, swami har shiva onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiva Onkara. Om Jai Shiva Onkara, swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadasiva, Brahma Vishnu Sadasiva, Ardhangi Dhara,Om Jai Shiv Onkara.

SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा
SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा

Ekanan Chaturanan Panchanan Raje, Swami Panchanan Raje, Hansasan Garudasan, Hansasan Garudasan Vrishvahan Saje, Om Jai Shiva Onkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara,Om Jai Shiv Onkara.

Do bhuj char Chaturbhuj, dasbhuj te sohe, swami dasbhuj te sohe, Tino rup nikharta, tino rup nikharta, Tribhuvan man mohe Om Jai Shiva Onkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

Akshamala Vanmala Mundmala dhari, Swami Mundmala dhari, Chandan Mrigamad Chanda, Bhole Shubh Kari, Om Jai Shiva Onkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

Swetambar, Pitamber, Bagambar Ange, Swami Bagambar Ange, Brahmadik Santadik, Brahmadik Santadik, Bhutadik Sange, Om Jai Shiva Onkara। Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

Kar madhye chakrmand chakr trishuldharta, Swami chakr trishuldharta, Jag Karta Jag Harata, Jag Karta Jag Harata, Jagapalan Karta, Om Jai Shiva Onkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

Brahma, Vishnu, Sadasiva Janat Aviveka, Swami Janat Aviveka, Pranabakshar ke madhye, Pranabakshar ke madhye, ye tino eka, Om Jai Shiva Omkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

Trigunaswami ji ki aarti jo koi jan gave, swami jo koi jan gave, Kahat Shivanand Swami, manvanchhit fal Pave, Om Jai Shiva Omkara. Om Jai Shiva Onkara, Swami Har Shiva Onkara, Brahma Vishnu Sadashiva, Brahma Vishnu Sadashiva, Ardhangi Dhara, Om Jai Shiv Onkara.

उपसंहार(Conclusion) – SHIV JI KI AARTI LYRICS IN HINDI : जय शिव ओंकारा

भगवान शंकर देवों के देव महादेव हैं। ये शीघ्र फलदायक देव माने जाते हैं। पुराणों में इनकी महिमा का विस्तृत रूप से विवेचन किया गया है। कहते हैं की जो पूर्ण श्रद्धा और भक्ति से शिवपूजन के उपरांत शिव की आरती करता है। उनकी सभी मनोकामना पूर्ण होती है।

इन्हें भी पढ़ें – भगवान शिव देवों के देव महादेव क्यों कहे जाते हैं।

Leave a Comment