Kamala Nehru Famous Freedom fighter – कमला नेहरू जीवन परिचय

Kamala Nehru in Hindi – कमला नेहरू जीवन परिचय

कमला नेहरू (kamala Nehru )प्रथम महिला प्रधान मंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी की माँ थी। वे स्वभाव से अत्यंत ही बिनम्र थी। उन्होंने एक माँ और पत्नी का कर्तव्य का निर्वहन के साथ साथ आजादी की लड़ाई में सक्रिय रूप से हिस्सेदारी ली।

यद्यपि उन्हें मुख्य रूप से भारत के प्रथम प्रधानमंत्री नेहरू जी के पत्नी के रूप में याद किया जाता है। लेकिन आजादी के लड़ाई में (kamla Nehru ) ने जिस तरह बढ़-चढ़कर भाग लिया। जिस कारण उनके योगदान को भुला कर, नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है।

Women freedom fighter of India कमला नेहरू एक महान देशभक्त थी।  गांधी जी से वे बहुत प्रभावित थी और आजादी की लड़ाई में उन्होंने कंधे से कंधे मिलाकर अपने पति पंडित जवाहर लाल के साथ खड़ी रही।

कमला नेहरू जीवन परिचय – brief about kamala Nehru in hindi

  • जन्म वर्ष : 1 अगस्त, 1899, दिल्ली
  • विवाह वर्ष – सन 1916 ईस्वी
  • पति का नाम – जबाहरलाल नेहरू
  • मृत्यु वर्ष : 28 फरवरी, 1936, स्विट्ज़रलैण्ड
  • माता पिता का नाम – माता राजपति कौल
  • पिता का नाम – जवाहरलालमल

कमला नेहरू का जन्म – BIOGRAPHY OF KAMLA NEHRU IN HINDI

कमला नेहरू का जन्म 1 अगस्त 1899 ईस्वी को दिल्ली में हुआ था। उनके परिवार माता-पिता एक कश्मीरी ब्राह्मण थे। उनके पिता का नाम जवाहरलालमल और माता राजपति कौल थी। उनके पिता जवाहरलालमल एक व्यापारी थे। उनका दिल्ली में अपना अच्छा खासा कारोबार था।

अपने चार भाई-बहनों में कमला नेहरू सबसे बड़ी थी। उनके दोनो छोटे भाई का नाम चंदबहादुर कौल और कैलाशनाथ कौल था। उनकी एक छोटी बहन थी जिसका नाम स्वरूप काट्जू थी।

उस बक्त लड़कियों का घर से निकलना मुश्किल था इस कारण उनकी शिक्षा-दीक्षा घर पर ही हुई थी। उन्हें हिन्दी का ज्ञान था लेकिन अंग्रेजी का एकदम ज्ञान नहीं था।

पंडित जवाहर लाल नेहरू से विवाह – marriage of Kamala Nehru

वे बचपन से ही सुंदर, सुशील और विनम्र स्वभाव की थी। यही कारण था की मोतीलाल नेहरू ने अपने पुत्र जबहरलाल नेहरू के लिए उन्हें अपने पुत्र बधू के रूप में चुना।  कमला नेहरू की शादी पंडित जबाहर नेहरू के साथ सम्पन हुई।

जब उन दोनो की शादी हुई थी तब पंडित जवाहर लाल की उम्र 26 वर्ष और कमला नेहरू की उम्र महज 17 साल थी। जैसा का हम जानते हैं की उनकी शिक्षा -दीक्षा घर पर ही हुई थी। इसीलिए उन्हें विलकुल भी अंग्रेजी का ज्ञान नहीं था।

दूसरी तरफ मोतीलाल नेहरू का परिवार पश्चिमी परिवेश से प्रभावित था। पंडित जबाहरलाल खुद विदेशों में पढे थे। कहते हैं की शुरुआत के दिनों में कमला नेहरू को अपने परिवार में समांजस बैठाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

उन्होंने 1917 ईस्वी में एक लड़की का जन्म दिया जिसका नाम इंदु रखा गया। जो बाद में चलकर इंदिरा गाँधी के नाम से मशहूर हुई और भारत की प्रथम महिला प्रधान मंत्री बनी। उन्होंने 1924 ईस्वी में एक पुत्र को भी जन्म दिया लेकिन दुर्भाग्य से वो जायदा दिनों तक जीवित नहीं रहे।

Kamala Nehru - कमला नेहरू जीवन परिचय
Kamala Nehru Kamala Nehru – कमला नेहरू जीवन परिचय

आजादी के लड़ाई में योगदान – Kamala Nehru biography in Hindi

कमला नेहरू महात्मा गाँधी से अत्यंत ही प्रभावित थी। उन्होंने आजादी के लड़ाई में अपने पति के साथ हमेशा सक्रिय रही। सन 1921 में उन्होंने महिलाओं के समूह को इकट्ठा कर असहयोग आंदोलन में सक्रिय रूप से सम्मिलित हो गयी।

सन 1930 में गांधी जी द्वारा नमक कानून के बिरोध के दौरान गांधी जी के साथ वे दांडी मार्च में भाग लिया। कहते हैं की इलाहाबाद में जब चंद्रशेखर आजाद ने अंग्रेजों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गये। तब उन्होंने आजाद की मृत्यु के बाद, इलाहाबाद में लोगों को इकट्ठा कर अंग्रेजों के खिलाफ विरोध मार्च निकाला।

सवधीनता संग्राम के समय वे कई बार गिरफ्तार हुई और जेल गयी। कमला नेहरू के अंदर अदम्य साहस और नेतृत्व कुशलता कूट-कूट भरी हुई थी। जिसका परिचय उन्होंने कई बार दिया।

कहते हैं की एक बार जब पंडित जवाहरलाल नेहरु को अंग्रेजों के खिलाफ भाषण देने के जुर्म भाषण के बीच में ही गिरफ़्तार किया गया। तब कमला नेहरु ने आगे आकर उस भाषण को पूरा किया था।

कमला नेहरू भले ही दिखने में समान्य लगती थी। लेकिन आजादी की लड़ाई में उनका अहम योगदान है। आजादी की लड़ाई के समय कमला नेहरु ने कुछ समय महात्मा गाँधी के आश्रम में भी बिताई।

इसी दौरान उनकी मुलाकात महात्मा गाँधी जी की पत्नी कस्तूरबा गाँधी और महान स्वतंत्रा सेनानी जय प्रकाश नारायण की पत्नी प्रभावती देवी से हुआ। सवधीनता संग्राम से दौरान वे दो बार जेल भी गयी।

कमला नेहरू की मृत्यु – death of kamla nehru

कहते हैं की कमला नेहरू उस समय के लाइलाज बीमारी टी. बी. से पीड़ित थी। उन्हें बेहतर इलाज के लिए स्विट्ज़रलैंड ले जाया गया गया।

लेकिन वहाँ भी उनके स्वास्थ में कोई सुधार नहीं आया। दिन-प्रतिदिन उनका स्वास्थ गिरता गया। अंततः 28 फ़रवरी 1936 को स्विटज़रलैंड में ही इलाज के दौरन ही उनकी मृत्यु हो गयी।

कमला नेहरू अस्पताल एवं पार्क – kamala nehru college and park

कमला नेहरू – kamla nehru in Hindi

वर्तमान में उनके यादगार में कई शिक्षण संस्थानों का नाम उनके नाम पर रखा गया है। दोस्तों यह लेख आपको कैसा लगा अपने सुझाव से अवगत जरूर करें।

इन्हें भी पढ़ें – झांसी की रानी लक्ष्मी बाई का जीवन परिचय

दोस्तों कमला नेहरू जीवन परिचय (kamala Nehru in Hindi ) शीर्षक वाला यह लेख आपको कैसा लगा अपने सुझाव से जरूर अवगत करायें।

Leave a Comment