भानगढ़ का किला का रहस्य | Bhangarh fort history in Hindi

भानगढ़ का किला का रहस्य | Bhangarh fort history in Hindi

Facebook
WhatsApp
Telegram

भारत का सबसे डरावनी एवं भुतहा जगह भानगढ़ का किला का रहस्य – Bhangarh fort history and mystery Hindi

भानगढ़ का किला का रहस्य, भानगढ़ का किला, भानगढ़ का किला कहां स्थित है, भानगढ़ का किला कहां पर है, भानगढ़ का किला राजस्थान, भानगढ़ का किला कहां है, भानगढ़ का किला किसने बनवाया, भानगढ़ का किला राजस्थान भारत, Bhangarh fort history in Hindi,

भानगढ़ फोर्ट भारत के राजस्थान राज्य में अलवर शहर से कुछ दूरी पर सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान के पास स्थित है। इस किले को प्राचीन किलों में गिना जाता है। जिसका केवल अव डरावनी अवशेष बचे हैं।

इस लेख में हम भानगढ़ के बारे में जानकारी पूरी प्राप्त करेंगे। अगर आप भानगढ़ का किला का रहस्य और सच जानने के इच्छुक हैं अथवा जानना चाहते हैं की क्या सचमुच में भानगढ़ में भूत रहते हैं। तो इस लेख को एक बार जरूर पढ़ना चाहिए।

Table of Contents

भानगढ़ का किला राजस्थान भारत – Bhangarh ke bare me

भानगढ़ का किला अलवर राजस्थान में स्थित भारत की सबसे डरावनी जगह है। इस लेख में भारत के इसी सबसे डरावनी और रहस्यमयी जगहों के बारें में जानेंगे।

आपने किस्से और कहानी में भुतहा महल और खंडहर और स्थलों के बारें में जरूर सुना होगा। वैसे तो भारत में कई स्थान हैं जिसकी गिनती सबसे भुतहा जगहों में होती है। उनसे जुड़ी कई डरावनी और अविश्वशनीय बातें सुनने को मिलती है।

जो आज के वैज्ञानिक युग में थोड़ा अचंभित करता है तथा इस पर साहसा विश्वास नहीं होता। लेकिन उन स्थानों पर कुछ ऐसी घटनाओं के बारें में सुनने को मिलता है जिसका तत्क्षण सटीक उत्तर विज्ञान भी देने में असमर्थ जान पड़ता है।

ऐसे ही स्थल में राजस्थान के भानगढ़ किला का नाम आता है। भानगढ़ का किला दुनिया के डरावनी जगहों में से एक है। कहा जाता है की भानगढ़ के किले में भूत का वास है।

यहाँ शाम होने के बाद आत्माएं भटकती हैं। कई बार यहाँ अप्रिय घटनाएं भी घटित हुई हैं। इस कारण से शाम होने के बाद इस किले में जाना और रुकना शक्त मना है।

कहते हैं की जो कोई भी किले के अंदर रात में रहने में कामयाब रहा। वह सुबह तक जिन्दा नहीं बचा अथवा किले की कहानी बताने लायक नहीं रहा।

बता दें कि भानगढ़ किले को इन्ही भूतिया किस्सों और कहानी की वजह से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (ASI) ने पर्यटकों को शाम के बाद किले में प्रवेश नहीं करने की चेतावनी जारी की है। 

भानगढ़ का इतिहास – Bhangarh fort history in Hindi

इस किले का इतिहास सदियों पुराना माना जाता है। राजस्थान के अलवर जिले में स्थित भानगढ़ का किला का निर्माण 1573 में में हुआ था।

17 वीं शताब्दी में इस किले को आमेर के राजा भगवत दास ने इसे अपने पुत्र माधोसिंह प्रथम के लिए निर्माण करवाया था। वैसे तो पूरा किला खंडहर में बदल चुका है। लेकिन इस किले परिसर में बने मंदिर के अवशेष अभी भी देखने योग्य है।

मंदिरों के दीवारों और खम्भों पर की गई सुंदर नक्काशी वास्तुकला का सुंदर मिशाल पेश करती है। लेकिन वर्तमान में यह किले अपने वास्तुकला से कहीं दूर भुतहा स्थल के रूप में प्रसिद्ध है।

भानगढ़ के किले की जानकारी – Information about Bhangarh fort in Hindi.

अलवर राजस्थान में स्थित यह किला अरावली पर्वतमाला की गोद में सरिस्का अभ्यारण्य के निकट स्थित है। अरावली पहाड़ी की ढलान में अवस्थित यह किला देखने में बाद ही डरावना लगता है।

राजस्थान राज्य के अलवर जिले में स्थित यह किला विश्व के सबसे डरावने किला माना जाता है। जहाँ शाम के बाद और रात में ठहरना वर्जित है। यह इतिहासिक किला अब पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो चुका है।

भानगढ़ का किला का रहस्य – Bhangarh Fort mystery in Hindi

राजस्थान के भानगढ़ का किला को एसिया की सबसे भूतिया स्थान में गिना जाता है। कहते हैं की यहाँ होने वाली कुछ घटनाएं और डरावनी आवाजें अनसुलझा रहस्य बना हुआ है।

कहते हैं की इस किले में घटित कई असामान्य घटनाओं की बहुत से पर्यटकों ने पुष्टि भी की है। इसी रहस्यमय बातों के कारण ही यह किला दुनियाँ भर के पर्यटक का ध्यान आकर्षित करता है।

तभी तो बहुत से पर्यटक भानगढ़ के किले का सफर कर इस किले को नजदीक से देखना चाहते हैं। आइये जानते हैं Bhangarh Kile Ka Rahasya In Hindi विस्तारपूर्वक।

भानगढ़ से जुड़ी भूतिया कहानी – Bhangarh haunted story in Hindi

भानगढ़ फोर्ट के बारे में कई कहानी प्रचलित है। कहते हैं की इस किले को खंडहर में तब्दील होने और डरावने होने के पीछे एक साधु का श्राप है।

कविदंती है की जब आमेर के राजा भगवत दास ने अपने बेटे के लिए इस स्थान पर किला का निर्माण प्रारंभ किया। तब किले के निर्माण स्थल के पास एक साधु की कुटिया थी।

साधु से अनुरोध करने पर उन्होंने उस स्थल पर किला बनाने की मंजूरी दे दी। लेकिन उन्होंने एक शर्त भी रखा की अगर इस किले की छाया मेरे कुटिया पर नहीं पड़नी चाहिये।

लेकिन जब पूरा किला बनकर तैयार हुआ तो इस किले की छाया साधु के कुटिया तक पहुँच गई। फलतः साधु ने नाराज होकर श्राप दे दिया की यह किला खंडहर में तब्दील हो जाएगा।

कहते हैं की उसी साधु के श्राप के बाद यह किला खंडहर में तब्दील होकर भुतहा बन गया। भानगढ़ किले से जुड़ी एक दूसरी कहानी  भानगढ़ की राजकुमारी रत्नावती से जुड़ी है।

रानी रत्नावती की कहानी

भानगढ़ की कहानी भानगढ़ की राजकुमारी रत्नावती से भी जुड़ा माना जाता है। कहा जाता है की यहाँ की राजकुमारी रत्नावती अत्यंत ही सुंदर थी। एक दिन किसी तांत्रिक की उस पर नजर पर गई।

तांत्रिक उस रूपवती राजकुमारी पर बशिभूत हो गया। उन्होंने अपने तांत्रिक क्रिया का राजकुमारी पर प्रयोग कार अपनाना चाहा। कहा जाता है की जब इस बात का बता राजा को चला तो राजा ने उस तांत्रिक का वध करवा दिया।

लेकिन मरते मरते तांत्रिक ने कहा की यह किला एक दिन वीरान हो जायेगा। इस किले में रहने वाला कोई नहीं बचेगा और उनकी आत्मा को कभी शांति नहीं मिलेगी।

इस तांत्रिक के श्राप और मृत्यु के कुछ दिनों बाद भानगढ़ और अजबगढ़ के बीच भयंकर युद्ध हुआ। इस युद्ध का परिणाम भयंकर हुआ और युद्ध में पूरा भानगढ़ तबाह हो गया।

वहाँ के तमाम सैनिक और नगर वासी जिंदा नहीं रहे। उसके बाद यह किला कभी आबाद नहीं हो सका। तभी से भानगढ़ की उजड़ने की कहानी शुरू हुई और कभी आबाद स्थल वीरान सा हो गया।

वर्तमान में केबल खंडहर बचे हैं जिसमें मान्यता है की तांत्रिक के श्राप के कारण अकाल मृत्यु प्राप्त लोगों की आत्मायें आज भी भानगढ़ किले में भटकती हैं। इसी कारण से इस किले को सबसे भुतहा जगह माना जाता है।

भानगढ़ में भूत रहते हैं क्या – Bhangarh fort horror story in Hindi

भानगढ़ किला को को डरावना क्यों कहा जाता है। भानगढ़ का सच क्या है। क्या सच में इस किले में भूत रहते हैं। भानगढ़ घटनाओं, किले से जुड़े कई किस्से इसे भुतहा बताते हैं।

स्थानीय लोग और कुछ पर्यटक भी यहाँ शाम के बाद डरावनी आवाजों की पुष्टि करते हैं। कहा जाता है की कई बार अप्रिय घटनाएं इस किले के परिसर में घटित हो चुकी है।

इसी कारण से सूर्यास्त के बाद भानगढ़ के किले परिसर में रुकना मना है। वैसे भानगढ़ में भूत रहते हैं नहीं यह शोध का विषय हो सकता है। लेकिन आम जनमानस में भानगढ़ के किले के बारे में एक सुनसान और भुतहा किले में होती है।

यहां अक्सर पैरानॉर्मल सोसाइटी के लोग आकार रिसर्च करते हैं। कोई इस किले को भूतहा होने का दावा करते हैं तो कोई इसे महज अफवाह करार देते हैं। भानगढ़ किले को भूतिया किला बताने के पीछे कई कहानियां सुनी जाती हैं।

लेकिन आज के विज्ञान युग में वैज्ञानिकों ने इन भूतिया कहानियों को खारिज कर दिया है।  लेकिन कभी-कभार यहाँ घटित कुछ अजीब घटनाएं विज्ञान को भी सोचने पर मजबूर कर देती है।

भानगढ़ का इतिहास - Bhangarh fort history in Hindi

केवल शाम 6 बजे तक खुली रहती है ये जगह

भानगढ़ के किले में शाम के बाद रुकने पर रोक कहा जाता है की जो भी इस किले में रात में रहने की हिम्मत की उसके साथ कुछ ने कुछ अप्रिय घटना घटित हो गई। अथवा वह व्यक्ति जिन्दा वापस नहीं लौटा। है।

किसी प्रकार की अप्रिय घटनाओं के अंदेशा के मद्देनजर भानगढ़ के किले के अंदर रात में रुकना प्रतिबंधित है। इसके लिए वकायदा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने एक बोर्ड लगाकर चेतावनी जारी की है।

पुरातत्व विभाग की ओर से यहां तैनात हथियार बंद गार्ड शाम के बाद इस किले में जाने से रोकते हैं।

भानगढ़ किले के बारें मे रोचक तथ्य –

  • भानगढ़ का किला जितना अपने बनावट और इतिहास के कारण प्रसिद्ध नहीं है। उससे कहीं ज्यादा यह स्थल कई रहस्य और भूत प्रेतों के किस्सों से चर्चा में है।
  • भानगढ़ का इतिहास से पता चलता है की इस किले को आमेर के राजा भगवत दास ने 1573 ईस्वी में अपने बेटे माधोसिंह के लिए बनवाया था।
  • राजस्थान के अलवर जिले की अरावली पहाड़ी की गोद में वसा यह किला कभी आबाद क्षेत्र था। अब यह सुनसान और वीरान भुतहा जगह कहलाता है।
  • भानगढ़ किला को दुनिया के सबसे डरावनी स्थलों में गिना जाता है। स्थानीय लोगों और पर्यटक का कहना है की यहां आज भी प्रेत आत्माएं घूमती हैं।
  • कहते हैं की यहाँ जाने पर एक अलग प्रकार के डर का एहसास होता है। कहा जाता है की जो भी रात में इस किले में रुका जींदा वापस नहीं लौटा।
  • भानगढ़ किला में सूर्यअस्त होने के बाद तथा सूर्यउदय से पूर्व किसी भी व्यक्ति को वहाँ जाने और रुकने की इजाजत नहीं है।
  • डरावनी जगह और भूत की किस्सों की वजह से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने भी स्थानीय लोगों और पर्यटकों को रात में किले में जाने से मना किया है।
  • कहा जाता है की यह किला शापित है। एक ऋषि के शाप के कारण यह किला खंडहर में परिवर्तित होकर वीरान, भुतहा और डरावना बन गया।
  • इससे जुड़ी दूसरी कहानी है की एक तांत्रिक और रानी रत्नावती की है। राजा को उस तांत्रिक को मौत के घाट उतार दिया गया।
  • मरते-मरते तांत्रिक ने इस किले को वीरान होने का श्राप दे दिया। तभी से यह किला पूरी तरह बर्बाद और भूतिहा हो गया और शाम के बाद प्रेत आत्माएं भटकती हैं।
  • कहते हैं की स्थानीय लोग और पर्यटक को यहाँ कई बार रहस्यमयी और डरावनी आवाज़ का अनुभव हुआ है। अकेले जाने लगता है की जैसे कोई पीछा कर रहा हो।

भानगढ़ किले में देखने लायक स्थल

भानगढ़ घूमने की जगह कई स्थल प्रमुख हैं जिसे पर्यटक जरूर देखते हैं। इस किले के आसपास के स्थल में अजबगढ़ का किला, सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान आदि स्थल देखने योग्य है। 

साथ ही किले परिसर में हनुमान मंदिर, मोड़ो की हवेली, मुख्य बाजार, मंगला देवी मंदिर, केशव राय मंदिर, गोपीनाथ मंदिर, दीवान ए खास, दीवान-ए-आम, सोमेश्वर मंदिर, रत्नावती का मंदिर के अवशेष भी देखे जा सकते हैं।

Bhangarh fort history and mystery Hindi
भानगढ़ किले परिसर में स्थित मंदिर

भानगढ़ घूमने की जगह

इस किले के आसपास के स्थल में अजबगढ़ का किला, सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान आदि स्थल देखने योग्य है। 

भानगढ़ किले का समय

यह किला सुबह 6 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक पर्यटक के लिए खुला रहता है। शाम 6 बजे के बाद किले में जाना और रुकना सक्त मना है।

भानगढ़ जाने का सबसे अच्छा समय

राजस्थान के अलवर के पास स्थित भानगढ़ का किला को देखने कभी भी जाया जा सकता है। लेकिन अक्टूबर से जनवरी बीच यहाँ का तापमान पर्यटन के लिए ज्यादा उपयुक्त राहत है।

मई के बाद भीषण गर्मी के कारण यहाँ घूमना अनुकूल नहीं है।

भानगढ़ फोर्ट कैसे पहुंचें?

आईए जानते हैं भानगढ़ कैसे जाएं, अलवर से भानगढ़ किले की दूरी करीब 90 किलोमीटर है। ट्रेन के माध्यम से अलवर रेलवे स्टेशन उतरकर बस अथवा कार के द्वारा भानगढ़ किला पहुंचा जा सकता है।

इस किले के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन भानकारी है। यहाँ से भानगढ़ फोर्ट महज 25 किमी की दूरी पर है। यहाँ का निकटतम हवाई अड्डा जयपुर है। जयपुर से भानगढ़ किला की दूरी 90 किमी है।  

जानकारी की बातें – F.A.Q

भानगढ़ का किला किसने बनवाया?

भानगढ़ के इस किले को आमेर के राजा भगवत दास ने 1573 ईस्वी में अपने बेटे माधोसिंह के लिए बनवाया था। आज इस किले की गिनती राजस्थान के सबसे डरावनी स्थल में होती है।

भानगढ़ का किला किस जिले में स्थित है?

भानगढ़ का किला राजस्थान के अलवर जिले में है।

भानगढ़ का किला कहां स्थित है?

भानगढ़ का किला राजस्थान भारत का सबसे भुतहा जगह माना जाता है। इस किले से जुड़ी कई अप्रिय घटनाएं सुनने को मिलती है। शाम के बाद इस किले में जाना मना है।

इन्हें भी पढ़ें

जैसलमेर के प्रसिद्ध सोनार किला का इतिहास

आमरे किला जयपुर का इतिहास और जानकारी

बाहरी कड़ियाँ (External links)

भानगढ़ फोर्ट स्टोरी इन हिंदी विकिपीडिया(bhangarh fort story in hindi Wikipedia)

आपको भानगढ़ का किला का रहस्य ( Bhangarh fort history in Hindi ) से जुड़ी जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी, अपने कमेंट्स से अवगत करायें।

संशोधन की तिथि – 26 -11-22

Leave a comment

Trending Posts