मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी का इतिहास और जानकारी (Maulana Abul Kalam Azad Trophy in Hindi)

By Amit
मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी का इतिहास
मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी का इतिहास

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी हमारे देश भारत में खेल के क्षेत्र में प्रदान किया जाने वाला सबसे पुराना ट्रॉफी माना जाता है। इसे संक्षेप में MAKA ट्रॉफी के नाम से भी जाना जाता है।

इस ट्रॉफी के करीब 70 साल के इतिहास में अमृतसर, पंजाब के गुरु नानक देव विश्वविद्यालय ने सबसे अधिक 25 बार, दिल्ली यूनिवर्सिटी ने 14 बार, पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ ने 13 बार तथा पंजाब यूनिवर्सिटी, पटियाला ने 9 बार इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया।

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी से जुड़ी खास बातें (Maulana Abul Kalam Azad Trophy in Hindi)

  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी का इतिहास करीब 70 साल से भी अधिक पुराना है।
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी की स्थापना 1956-1957 में की गई थी।
  • इसका नाम स्वतंत्रता सेनानी और भारत के पहले शिक्षा मंत्री अबुल कलाम आजाद के नाम पर रखा गया था।
  • इसे प्रतिवर्ष अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंट्स में शीर्ष स्थान पाने वाले विश्वविद्यालय को प्रदान किया जाता है।
  • इस सम्मान को सबसे पहले बॉम्बे यूनिवर्सिटी ने अपने नाम किया था।
  • अमृतसर, पंजाब के गुरु नानक देव विश्वविद्यालय ने अबतक सबसे अधिक बार इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया है।
  • पंजाब के गुरु नानक देव विश्वविद्यालय ने 1979 से 1987 तक लगातार इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया।
  • गुरु नानक देव विश्वविद्यालय ने विजेताओं की सूची में पहला स्थान रखते हुए 25 बार इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया।
  • इस पुरस्कार के तहद यूनिवर्सिटी को ट्रॉफी के साथ नकद पुरस्कार भी प्रदान किया जाता है।
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी को जीतने वाले विश्व-विद्यालय को 15 लाख रुपये प्रदान किए जाते हैं।
  • विजेताओं के सूची में दूसरा स्थान पाने वाले को 5 लाख तथा तीसरा सतह पाने वाले को 3 लाख रुपया दिया जाता है।
  • यह ट्रॉफी हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर प्रदान किया जाता है।
  • नेशनल स्पोर्ट्स डे हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • इस अवसर पर भारत के राष्ट्रपति के हाथों से इस ट्रॉफी को विजेता यूनिवर्सिटी को प्रदान किया जाता है।

अक्सर सर्च होने वाले सवाल:

मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी की शुरुआत कब हुई

प्रसिद्ध मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी की शुरुआत 1956-57 में हुई थी। सबसे पहले इस ट्रॉफी को जीतने वाले बाम्बे यूनिवर्सिटी था।

मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी किस खेल से संबंधित है

मौलाना अब्दुल कलाम आजाद (माका) ट्राफी को खेलों में बेहतर प्रदर्शन करने वाली विश्वविध्याल को प्रदान किया जाता है।


मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी क्यों दी जाती है?

खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए यह सम्मान अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंट्स के दौरान सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को दिया जाता है।

इन्हें भी पढे: राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नया नाम

Share This Article