मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार 2024 सम्पूर्ण जानकारी

By Amit
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award)
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award)

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान है, जो भारत सरकार के युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार में प्राप्तकर्ता को पदक, एक प्रमाण पत्र और ₹25 लाख का नकद प्रदान किये जाते हैं।

यह पुरस्कार किसी खिलाड़ी द्वारा चार वर्षों की अवधि में खेल के क्षेत्र में शानदार और उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रदान किया जाता है। भारत में दिया जाने वाला सर्वोच्च खेल पुरस्कार मेजर ध्यानचंद खेल रत्न, 2021 के पहले राजीव गांधी खेल रत्न के नाम से जाना जाता था।

युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा पिछले चार वर्षों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट और असाधारण प्रदर्शन को सम्मानित करने के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। विजेता का चयन के एक समिति के माध्यम से किया जाता है।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award in Hindi)

मेजर ध्यानचंद कौन थे?

मेजर ध्यानचंद भारत के महान हॉकी खिलाडी थे, उनकी गिनती विश्व के महानतम खिलाडियों में की जाती है। वे तीन बार ओलम्पिक के स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के हिस्सा रहे। मेजर ध्यान चन्द को हॉकी का जादूगर कहा जाता था।

- Advertisement -

उन्होंने अपने खेल जीवन में 1000 से अधिक गोल दागे। मेजर ध्यानचंद ने हॉकी खेल के क्षेत्र में जो लोकप्रियता और कीर्तिमान स्थापित किया है। उसकी बरावरी करना बहुत ही मुश्किल है। उनकी जन्मतिथि को भारत में ‘राष्ट्रीय खेल दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

मिलने वाली सुविधाएं –

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सर्वोच्च खेल पुरस्कार है। इस पुरस्कार के अंतर्गत विजेता को एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और नकद राशि दी जाती है।

2018 तक यह पुरस्कार राशि 7.5 लाख थी, जिसे अब बढ़ाकर 25 लाख रुपए कर दी गई है। इसके अलावा इस सम्मान के प्राप्तकर्ता मुफ्त रेलवे पास का लाभ उठता है।

जिसके तहत ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार विजेता को राजधानी या शताब्दी ट्रेनों में प्रथम और द्वितीय श्रेणी के वातानुकूलित कोचों में मुफ्त यात्रा का लाभ ले सकते हैं।

इतिहास

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान है, जिसे पहले राजीव गांधी खेल रत्न के नाम से जाना जाता था। हॉकी के जादूगर के नाम से प्रसिद्ध महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद को सम्मानित करने के लिए इस पुरस्कार का नाम राजीव गांधी खेल रत्न से बदलकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न कर दिया गया।

1991-1992 में खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वाले खिलाड़ी को सम्मान देने के लिए इसकी स्थापना पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर की गई थी। प्रारंभ में यह पुरस्कार किसी खिलाड़ी को उनके द्वारा किसी खास एक वर्ष उनके द्वारा असाधारण प्रदर्शन के लिए प्रदान किया जाता था।

लेकिन 2014 में इसके नियम में बदलाव किए गया और खेल मंत्रालय ने पुरस्कार चयन समिति की सिफारिशों के आधार पर इसे किसी खिलाड़ी के चार साल की अवधि में उनके खेल प्रदर्शन के आधार पर निर्णय किया जाता है।

1991 में इसकी स्थापना के बाद से लेकर अबतक करीब 38 खिलाड़ियों को इस प्रतिष्ठित सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। इस सम्मान के पहले प्राप्तकर्ता शतरंज के ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद हैं।

इसके अलावा 2001 में अभिनव बिंद्रा को यह सम्मान प्रदान किया गया था। अभिनव बिंद्रा मात्र 18 साल की उम्र में इस सम्मान से सम्मानित होने वाले सबसे कम उम्र के विजेता हैं।

क्रिकेट के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को वर्ष 1997 में, महेंद्र सिंह धोनी को 2007 में इस सम्मान से सम्मानित किया गया था। और 2001 में अभिनव बिंद्रा को यह सम्मान प्रदान किया गया।

सिर्फ 18 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के प्राप्तकर्ता बने। 2021 में, महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद को सम्मानित करने के लिए इस पुरस्कार का नाम बदलकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न कर दिया गया।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award)
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award)

पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों की सूची 2024

2023 में बैडमिंटन जोड़ी सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को खेल का प्रसिद्ध पुरस्कार मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

क्रमांकवर्षनामखेल
11991-92विश्वनाथन आनंदशतरंज
21992-93गीत सेठीबिलियर्ड्स
31993-94होमी मोतीवाला (यूनाइटेड)
41993-94पुष्पेंद्र कुमार गर्ग (कम्बाइंड)रोइंग
51994-95कर्णम मल्लेश्वरीवेटलिफ्टिंग
61995-96कुंजरानी देवी (कम्बाइंड)वेटलिफ्टिंग
61996–97लींडर पेस (यूनाइटेड)टेनिस
71997-98सचिन तेंदुलकरक्रिकेट
81998–99ज्योतिर्मयी सिकदारएथलेटिक्स (ट्रैक एंड फील्ड)
91999-2000धनराज पिल्लैहॉकी
102000-01पुलेला गोपीचंदबैडमिंटन
112001अभिनव बिंद्राशूटिंग
122002के.एम. बीनामोल (कम्बाइंड)एथलेटिक्स (ट्रैक एंड फील्ड)
122002अंजलि भगवत (जॉइंट)शूटिंग
132003अंजू बॉबी जॉर्जएथलेटिक्स (ट्रैक एंड फील्ड)
142004राज्यवर्धन सिंह राठौड़शूटिंग
152005पंकज आडवानीबिलियर्ड्स और स्नूकर
162006मानवजीत सिंह संधूशूटिंग
172007महेंद्र सिंह धोनीक्रिकेट
2008
182009मैरी कॉम (जेटी)बॉक्सिंग
182009विजेंद्र कुमार सिंह (जॉइंट)बॉक्सिंग
182009सुशील कुमार (यूनाइटेड)कुश्ती
192010साइना नेहवालबैडमिंटन
202011गगन नारंगशूटिंग
212012विजय कुमारशूटिंग
222012योगेश्वर दत्तकुश्ती
232013रोंजन सोधीशूटिंग
2014
242015सानिया मिर्ज़ाटेनिस
252016पी.वी. सिंधुबैडमिंटन
262016दीपा कर्माकरजिम्नास्टिक्स
272016जीतू रायशूटिंग
282016साक्षी मलिककुश्ती
292017देवेंद्र झाझरियापैरालंपिक खेल
302017सरदार सिंहहॉकी
312018मीराबाई चानूभारोत्तोलन
322018विराट कोहलीक्रिकेट
332019दीपा मलिकपैरालंपिक खेल
Major Dhyan Chand Khel Ratna Award in Hindi

इन्हें भी पढ़ें: भारत के परमवीर पुरस्कार विजेता की सूची 2024

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार से जुड़ी कुछ खास बातें-

  • खेल रत्न पुरस्कार को आधिकारिक तौर पर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार के नाम से जाना जाता है।
  • भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान है। इस पुरस्कार को पहले राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार कहा जाता था।
  • खेल रत्न पुरस्कार की शुरुआत 1991-92 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर की गई थी।
  • लेकिन साल 2021 में इसका नाम बदलकर हाकी के जादूगर “मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार” कर दिया गया।
  • मेजर ध्यानचंद हॉकी के सबसे बड़े खिलाड़ी थे। जिनके बदोलत भारत में हॉकी में तीनबार स्वर्ण पदक जीता।
  • खेल रत्न पुरस्कार को किसी भी खिलाड़ी के द्वारा पिछले चार साल के प्रदर्शन के आधार पर प्रदान किया जाता है।
  • मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार के विजेताओं को एक पदक, प्रमाण पत्र और 25 लाख नकद दिए जाते हैं।
  • भारत के शतरंज खिलाड़ी ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद खेल रत्न पुरस्कार पाने वाले पहले विजेता थे।
  • इसके अलावा सचिन तेंदुलर, महेंद्र सिंह धोनी, मैरी कॉम, पीवी सिंधु, साइना नेहवाल, विजेंदर सिंह, विराट कोहली को भी यह सम्मान प्राप्त हो चुका है।
  • इस पुरस्कार को जीतने शूटर अभिनव बिंद्रा सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2008 में बीजिंग 2008 में ओलंपिक में भारत के लिए पहला व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीता था।
  • भारोत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी 1994-95 में खेल रत्न पुरस्कार जीतने वाली पहली भारतीय महिला है। उन्होंने ओलंपिक में भारत के लिए कांस्य पदक जीती थीं।
  • भारत के सबसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खेल पुरस्कार को भारत के युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा नामों का चयन किया जाता है।
  • खेल रत्न पुरस्कार को हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद्र के जन्म (राष्ट्रीय खेल दिवस) के अवसर पर प्रदान किया जाता है।
Share This Article