Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date: अयोध्या राम मंदिर उद्घाटन तिथि, आखिर 22 जनवरी ही क्यों चुना गया, जानें खास बातें

Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date
Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date

Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date: अयोध्या में भव्य राममंदिर बनकर पूरी तरह बनकर तैयार है। इस मंदिर में भगवार राम की प्राण प्रतिष्ठा के लिए सारी तैयारी जोरों से चल रही है। अयोध्या के नवनिर्मित राम मंदिर में भगवार राम की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 22 जनवरी 24 का तिथि तय किया गया है।

भगवान राम की नगरी अयोध्या पूरी तरह सज धज कर तैयार है। बस मंदिर में राम लला के विराजमान हेतु तय तिथि 22 जनवरी का इंतजार किया जा रहा है। कहा जाता है इस तारीख को विद्वान और संतों ने मिलकर तय किया है।

लेकिन हर किसी के मन में यह सवाल उठ रहा है की आखिर भगवान राम के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के लिए 22 तारीख 2024 को ही क्यों चुना गया। क्या है इसके पीछे का राज। लेकिन राम लला के विराजमान के लिए इस दिन को क्यों चुना गया। आइए इसके बारें में जानते हैं :-

Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date 22 जनवरी ही क्यों –

राम मंदिर के लिए विद्वानों और संतों ने 22 जनवरी 24 के 12 बजे दिन का समय निर्धारित किया है। इस तारीख पर क्या खास योग बन रहा है, जिस कारण से विद्वानों ने इसे चुना अथवा कुछ और कारण हैं। भगवान राम के प्राण प्रतिष्ठा के 22 जनवरी को चुनने के पीछे विद्वानों के क्या मत है।

- Advertisement -
Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date
Ram mandir Ayodhya Pran Pratistha date

22 जनवरी चुने जाने का महत्व

अयोध्या में भगवार राम की प्राण प्रतिष्ठा (Ram Temple Inauguration) को लेकर तैयारी जोरों पर है। प्राण प्रतिष्ठा की तारीख को वाराणसी के विद्वान संतों ने निर्धारित किया है। वे चाहते तो राम नवमी के दिन का भी चुनाव कर सकते थे।

लेकिन उन्होंने इसके लिए 22 जनवरी 24 की तारीख को ही बहुत गणना के बाद निर्धारित किया। अयोध्या के राममंदिर के उद्घाटन की तिथि तय होने के पीछे की कहानी पर विद्वानों का मानना है की इस दिन एक खास योग बन रहा।

ऐसे योग हजारों साल के बाद आता है। इस अति दुर्लभ संयोग पर भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा बहुत ही शुभ होगा। अयोध्या के प्रसिद्ध पीठ प्रमुख महंत जगत गुरु परमहंस आचार्य के अनुसार 22 जनवरी 24 के दिन दोपहर 12 बजे से अविजित मुहूर्त सर्वार्थ सिद्धि योग मृगशीरा नक्षत्र है, कहा जाता है की ऐसा दुर्लभ संयोग वाला हजारों-हजारों साल के बाद आता है।

तारीख के पीछे बहुत हुआ मंथन

भगवान राम की नगरी अयोध्या में 22 जनवरी 2024 को एक भव्य समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस दिन भगवान राम अपने नवनिर्मित मंदिर में विराजमान होंगे।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने प्राण प्रतिष्ठा के दिन की तारीख और समय और शुभ समय के बारे में गहराई से विचार-विमर्श किया है। श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के विद्वानों के गहन मंथन करने के बाद यह फैसला लिया है।

मंदिर निर्माण का अद्भुत वीडियो

वीडियो क्रेडिट – Shri Ram Janmbhoomi Teerth Kshetra

पीएम मोदी करेंगे राम मंदिर का उद्घाटन

अयोध्या का भव्य राम मंदिर बनकर उद्घाटन के लिए तैयार है। राम मंदिर के उद्घाटन पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि होंगे।

खवर के अनुसार 22 जनवरी को भगवान राम के नवनिर्मित मंदिर के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी यजमान के रूप में प्राण प्रतिष्ठा में भाग लेंगे।

इस दिन अपने घरों में एक दीपक जरूर जलायें

राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि 22 जनवरी की शाम एक ऐतिहासिक क्षण है। इसके लिए पीएम मोदी ने भी देशवासियों से 22 जनवरी को भगवान श्री राम को समर्पित एक दीप जलाने का आह्वान किया।

इन्हें भी पढ़ें : लिंगराज मंदिर का इतिहास और जानकारी

Share This Article
Leave a comment