भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार 2024 पूरी जानकारी

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार (National Sports Awards of India in Hindi)
भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार (National Sports Awards of India in Hindi)

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार में कई सम्मान शामिल हैं। हमारे देश भारत में खेल को लेकर लोगों में एक अलग ही क्रेज है। यहाँ खेल के साथ खिलाड़ियों को भी उतना ही महत्व दिया जाता है। खेल पुरस्कार के द्वारा खिलाड़ियों और कोचों की कड़ी मेहनत और उनके द्वारा प्रदर्शित उत्कृष्टता को सम्मानित करने का माध्यम हैं।

भारत में खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा कई खेल पुरस्कार की स्थापना की गई है जिसे भारत सरकार के खेल मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है। आइए इस लेख में भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार के बारें में जानते हैं।

खेल पुरस्कार के नाम स्थापना वर्षनकद राशि, मेडल व पत्र
मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार1991-9225 लाख रुपये
अर्जुन पुरस्कार196115 लाख रुपये
द्रोणाचार्य पुरस्कार198515 लाख रुपये
मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी1956-5715 लाख रुपये
ध्यानचंद पुरस्कार200210 लाख रुपये
तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार19945 लाख रुपये
राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार2009एक प्रशस्ति पत्र और एक ट्रॉफी
भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार के बारें में

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कारों की सूची– National Sports Awards of India in Hindi

भारत के 7 प्रमुख राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के नाम इस प्रकार है।

  • मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार
  • अर्जुन पुरस्कार
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार
  • मेजर ध्यानचंद पुरस्कार
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफ़ी
  • राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार
  • तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड
भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार (National Sports Awards of India in Hindi)
भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार (National Sports Awards of India in Hindi)

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न:

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार में मेजर ध्यानचंद खेल रत्न का नाम आता है। मेजर ध्यानचंद खेल रत्न को भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार माना जाता है। खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ठ योगदान के लिए प्रदान किए जाने वाले इस पुरस्कार की शुरुआत 1991 में हुई थी।

- Advertisement -

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न को 2021 से पहले राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के नाम से जाना जाता था। बाद में इस पुरस्कार का नाम महान भारतीय हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने देश के तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते थे।

इस पुरस्कार को पाने वाला सबसे पहला खिलाड़ी विश्वनाथ आनंद थे जिन्होंने शतरंज के क्षेत्र में भारत का नाम ऊंचा किया। खेल में उत्कृष्ट उपलब्धियों को मान्यता देने के लिए भारत सरकार के युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है।

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार मेजर ध्यानचंद खेल रत्न के तहद पुरस्कार विजेताओं को पदक के साथ एक प्रमाण पत्र तथा 25 लाख की राशि प्रदान की जाती है।

अर्जुन पुरस्कार:

अर्जुन पुरस्कार भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार में दूसरा स्थान रखता है। भारत का इस प्रतिष्ठित खेल का दूसरा सबसे बड़ा पुरस्कार की स्थापना भारत सरकार द्वारा 1961 में की गई थी। यह पुरस्कार भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को दिया जाने वाला सम्मान है।

इस पुरस्कार को भी भारत सरकार के युवा और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार का नाम हिंदू महाकाव्य महाभारत में वर्णित महान धनुधर योद्धा अर्जुन के नाम पर रखा गया है।

इस पुरस्कार पाने वाले विजेताओं को कांस्य की एक प्रतिमा, प्रमाण पत्र तथा 15 लाख रुपये की नकद राशि प्रदान की जाती है।

द्रोणाचार्य पुरस्कार:

द्रोणाचार्य पुरस्कार भारत में खेल प्रशिक्षकों के लिए दिया जाने वाला सबसे बड़ा एक पुरस्कार है। यह पुरस्कार खेल प्रशिक्षण में उत्कृष्ट उपलब्धियों को मान्यता देने के लिए कोचों को प्रदान किया जाता है।

इस पुरस्कार का नाम महाभारत में महान योद्धा अर्जुन के गुरु द्रोणाचार्य के नाम पर रखा गया है। इस पुरस्कार की स्थापना 1985 में हुई थी और एक वर्ष में 5 कोच को इस सम्मान से सम्मानित किया जाता है।

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार में से एक इस पुरस्कार विजेताओं को द्रोणाचार्य की एक कांस्य प्रतिमा, एक प्रमाण पत्र तथा 15 लाख का नकद पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं। भारत सरकार के युवा मामले व खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर प्रदान किया जाता है।

मेजर ध्यानचंद पुरस्कार:

मेजर ध्यानचंद पुरस्कार भारत में खेलों में आजीवन उपलब्धि के लिए दिया जाने वाला एक पुरस्कार है। यह खेल में उत्कृष्ट उपलब्धियों को मान्यता देने के लिए युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है।

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार की सूची में शामिल इस पुरस्कार का नाम महान भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखा गया है। इसमें पुरस्कार विजेताओं को एक प्रतिमा, प्रमाण पत्र तथा 10 लाख का नकद पुरस्कार प्राप्त होता है।

यहाँ एक चीज बताना जरूरी है की मेजर ध्यानचंद खेल रत्न और मेजर ध्यानचंद पुरस्कार दोनों अलग-अलग पुरस्कार हैं।

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी:

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी भारत में खेल से जुड़ी ट्रॉफी है। यह ट्रॉफी अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंटों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए किसी विश्वविद्यालय को प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है।

इस ट्रॉफी का नाम भारत के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी तथा देश के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद के नाम पर रखा गया है। भारत के इस प्रमुख खेल पुरस्कार के विजेता को 10 लाख का नकद पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं।

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार:

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार भारत में खेल को बढ़ावा देने और उसके उत्कृष्ट योगदान को मान्यता देने के लिए प्रदान किया जाता है। वर्ष 2009 से शुरू की गई इस पुरस्कार को भारत सरकार के युवा मामले व खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है।

इस पुरस्कार को किसी भी व्यक्तियों, संगठनों और संस्थानों को भारत में खेल को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान के लिए प्रदान किया जा सकता है। इस पुरस्कार विजेताओं को एक ट्रॉफी, प्रमाण पत्र तथा 5 लाख की राशि नकद प्रदान की जाती है।

तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड-

तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड(TNNAA) बहादुर पर्वतारोही, स्काइडाइविंग, खुले पानी में तैराकी व अन्य साहसिक खेल के क्षेत्र में प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार महान पर्वतारोही तेनजिंग नोर्गे के नाम पर रखा गया है।

जिन्होंने 1953 में माउंट एवरेस्ट की छोटी पर पहली बार पहुचने में कामयाब रहे थे। यह सम्मान युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष तय और राष्ट्रपति के हाथों प्रदान किया जाता है।

भारत के प्रमुख खेल पुरस्कार तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड के अंतर्गत तेनजिंग नोर्गे की एक कांस्य प्रतिमा, एक पत्र और 5 लाख रुपया नकद दिया जाता है।

अधिक जानकारी के लिए : तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड

F.A.Qs

भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार कौन सा है?

भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार मेजर ध्यानचंद खेल रत्न सम्मान है।

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार किसके द्वारा प्रदान किया जाता है?

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार भारत के युवा मामले और खेल मंत्रालय की तरफ से भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया किया जाता है।

मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार कौन सा है?

मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार विक्रम पुरस्कार को माना जाता है। जिसकी स्थापना 1990 में हुई थी।

राजस्थान का सर्वोच्च खेल पुरस्कार कौन सा है?

राजस्थान में दिया जाने वाला सर्वोच्च खेल पुरस्कार गुरु वशिष्ठ पुरस्कार है। जिसकी स्थापना 1985-86 के दौरान हुई।

इन्हें भी पढ़ें : भारत के वीरता पुरस्कार की सूची

Share This Article
Leave a comment