इतिहास किसे कहते हैं | itihaas kise kahate hain

इतिहास किसे कहते हैं | ITIHAAS KISE KAHATE HAIN

इतिहास किसे कहते हैं | itihaas kise kahate hain

Facebook
WhatsApp
Telegram

इतिहास किसे कहते है – itihaas kise kahate hain

इतिहास किसे कहते हैं(itihas kise kahate hain )अक्सर इस सवाल का उत्तर जानने की जिज्ञासा लाखों लोगों में होती है। तभी तो हजारों लोग इस प्रश्न का जवाव गूगल पर जानना चाहते हैं। इतिहास से अभिप्राय उने विगत घटनाओं से है।

जिसमें देश समाज, ब्रह्मांड से जुड़ी हुई समस्त पिछली घटनाओ और उन घटनाओं के विषय में अवधारणाओं का उल्लेख किया जाता है।

इतिहास किसे कहते हैं | ITIHAAS KISE KAHATE HAIN
इतिहास किसे कहते हैं – ITIHAAS KISE KAHATE HAIN

इतिहास का अर्थ – itihaas ka arth kya hai

इतिहास का शाब्दिक अर्थ की बाद की जाय तो यह हिन्दी के दो शब्दों के मेल से बना है। इति और हास, इति का मतलब होता है बीती हुई और हास का मतलब कहानी से है।

इस प्रकार इतिहास का अर्थ (itihas ka arth) होता है बीती हुई कहानी। इस प्रकार इसे इस रूप में समझा जा सकता है, की इतिहास वह शास्त्र है जिसमें विगत घटित घटनाओं के बारें में हमें जानकारी मिलती है।    

इतिहास के प्रकार

ऊपर आपने इतिहास के अर्थ के बारें में जाना की इतिहास से क्या अभिप्राय है। अब हम इतिहास की उपयोगिता और इतिहास के प्रकार के बारें में जानते हैं। इतिहास को वर्गीकृत करना कठिन है। लेकिन सुविधा की दृष्टि से इतिहास को मुख्य रूप से भागों में बांटा जा सकता है।

  • प्राचीन इतिहास
  • मध्यकालीन इतिहास
  • आधुनिक इतिहास

इस वर्गीकरण के अलावा भी इतिहास के और भी प्रकार हो सकते हैं। सामाजिक इतिहास, साँस्कृतिक इतिहास, राजनीतिक इतिहास, धार्मिक इतिहास, आर्थिक इतिहास इत्यादि।

इतिहास क्या है परिभाषा – itihas ki paribhasha kya hai

अक्सर लोग इतिहास की परिभाषा जानना चाहते हैं की इतिहास क्या है। इतिहास की परिभाषा इन शब्दों में दी जा सकती है।

जिससे किसी समाज, व्यक्ति, राष्ट्र से संबंधित महत्त्वपूर्ण घटनाओं का कालक्रम से लिखा हुआ विवरण प्राप्त होता होता हो वहीं इतिहास है। इतिहास शब्द की बात करें तो इतिहास (इति+ह+आस) जिसका मतलब होता है निश्चित रूप से ऐसा हुआ।

उपरोक्त बातों से पता चल गया होगा की हिस्ट्री क्या है (history kya hai )और उसकी परिभाषा क्या हो सकती है।

इतिहास का महत्व

हमारे जीवन में इतिहास का बहुत महत्व है। थोड़ा देर के लिए सोचा जाय तो अगर इतिहास नहीं होता तो क्या हमें आज से हजारों वर्ष पहले घटित घटनाओं के पता चलता, नहीं चलता।

इतिहास ही हमे बताता है की विगत वर्षों में लोग कैसे जीवन यापन करते थे। लोगों का रहन सहन कैसा था। इतिहास के अध्ययन से ही हमें मानव जीवन की कार्मिक विकास का पता चलता है।

इतिहास सिर्फ व्यक्ति ही नहीं बल्कि देश के लिए भी पाठ प्रदर्शक का काम कर सकता है। इतिहास के द्वारा पिछली भूलों को सुधार कर आगे की रणनीति बनायी जा सकती है।

इतिहास से हमें सबक सीखने को मिलता है, साथ ही नये सिरे से आगे बढ़ने की प्रेरणा भी मिलती है। इस प्रकार मानव जीवन में इतिहास का विशेष महत्व है।

इतिहास की खोज – itihaas kya hai

इतिहास की खोज की बात की जाय तो यह किसी ने नहीं किया। लोग आने वाली पीठी के लिए जब जानकारी सुरक्षित रखने के आवश्यकता महसूस किया।

तब उन्होंने इसे जुवानी अथवा तारीख व समय के अनुसार लिपिबद्ध कर सुरक्षित रखना शुरू कर दिया। यहीं भूतकाल की घटनाएं इतिहास कहलायी।

इतिहास की अवधारणा – what is history in hindi

इतिहास की अवधारणा की बात की जाय तो इसका भूतकाल में घटित घटनाओं या उससे संबंध रखनेवाली घटनाओं का तिथीवार वर्णन होता है।

मानव में इतिहास की अवधारणा तब महसूस की गई होगी जब उन्हें इन घटनाओं को आने वाले कल के लिए सुरक्षित रखना सोचा।

इतिहास कितने प्रकार के होते है?

समानतः इतिहास को तीन भागों में बांटा जा सकता है। प्राचीन इतिहास, मध्य कालीन इतिहास और आधुनिक इतिहास।

इतिहास का क्या महत्व है?

इतिहास से विगत घटनाओं से सबक लेते हुए व्यक्ति व राष्ट्र को आगे की रणनीति बनाने में मदद मिलती है। इतिहास के द्वारा किसी व्यक्ति अथवा वस्तु के कर्मिक विकास का पता चलता है।

हिस्ट्री किसे कहते हैं?

जिस विषय के अध्ययन से मानव व समाज के क्रमबद्ध विकास का पता चलता है। उसे ही हिस्ट्री कहा जा सकता है।

इन्हें भी पढ़ें

आपको इतिहास किसे कहते हैं (ITIHAAS KISE KAHATE HAIN ) से संबंधित जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी, अपने कमेंट्स से जरूर अवगत कराएं।

Leave a Comment

Trending Posts