सुलतानपुर का इतिहास – Information about Sultanpur in Hindi,

सुलतानपुर का इतिहास (Information about Sultanpur in Hindi) – उत्तर प्रदेश राज्य का प्रसिद्ध जिला सुलतानपुर का इतिहास काफी पुराना है। प्राचीन काल में सुल्तानपुर नगर का नाम कुशभवनपुर था।

हिन्दू धर्म के मान्यता के अनुसार कुशभवनपुर को भगवान राम के पुत्र कुश ने स्थापित कर अपना राजधानी बनाया। यह महान ऋषि वाल्मीकि, दुर्वासा और वशिष्ठ की तपोस्थली भी मानी जाती है।

सुलतानपुर का इतिहास - Information about Sultanpur in Hindi
सुलतानपुर का इतिहास – INFORMATION ABOUT SULTANPUR IN HINDI

भगवान गौतम बुद्ध के समय यह अनुपम स्थल कौशल नरेश प्रेसनजित के आधिपत्य में था। वर्तमान में उत्तर प्रदेश का सुल्तानपुर जिला गोमती नदी के किनारे स्थित बड़ा ही अनुपम शहर है।

सुल्तानपुर मलिक मोहम्मद जायसी और गुरुदत्त सिंह जैसे कवियों का कर्मस्थली मानी जाती है। सुलतानपुर का इतिहास से पता चलता है की यहाँ पर कई राजपूत राजाओं और मुगलों ने राज किया है। बाद में यह स्थल अंग्रेजों के अधीन हुआ।

सुल्तानपुर की जानकारी संक्षेप में

सुल्तानपुर का प्राचीन नाम कुशभवनपुर
प्राचीन सुल्तानपुर को किसने बसाया कुश द्वारा
सुल्तानपुर जिले में विधान सभा की संख्या 08
जिला मुख्यालय सुल्तानपुर
जिले में कुल गाँव की संख्या 1765 के लगभग

सुलतानपुर का प्राचीन इतिहास इतिहास

सुलतानपुर का इतिहास बड़ा ही रोचक है। भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का जिला सुल्तानपुर एक खास स्थान रखता है। सुल्तान का इतिहास से यहाँ की रोचक बातों का पता चलता है। पौराणिक कथाओ के अनुसार यहाँ कभी भगवान राम के पुत्र कुश का शासन था।

बुद्ध के समय प्रेसेनजित के आधिपत्य में आया। सम्राट अशोक ने भी यहाँ स्तूप का निर्माण कराया था। प्रसिद्ध चीनी यात्री हवेनसांग के यात्रा वृतांत में भी इस स्थल का जिक्र मिलता है। कहते हैं की वे इसी रास्ते साकेत गये थे।

सुल्तानपुर का पुराना नाम

कहा जाता है की सुल्तानपुर का पुराना नाम कुशभवनपुर था जो कालांतर में बदलते हुए सुलतानपुर कहलाने लगा। कहते हैं की कभी सुल्तानपुर में महान राजा नंदकुवर का शासन था।

सुल्तानपुर और भाले सुल्तान का इतिहास

इनको खिलजी वंश के शासकों ने वैश्यराजपूतों के सहयोग से कपटपूर्वक युद्ध में हरा दिया। फलस्वरूप वैश्य राजपूतों को सुल्तान ने भाले सुल्तान की उपाधि से नवाजा।

कलांतर में यह स्थल सुल्तानपुर के नाम से प्रसिद्ध हो गया। सदियों से यहाँ के लोग अवधी और खड़ी बोली का इस्तेमाल करते हैं।

सुल्तानपुर का मध्यकालीन इतिहास

भारत में अंग्रेजों के आगमन से पूर्व सुल्तानपुर में राजाओं तथा नवाबों का शासन रहा। सुल्तानपुर के इतिहास बताता है की यह कई देशी रियासतों का गढ़ रहा है। सुल्तान कभी मेहंदी हसन, नानेमऊ कोट, राजा दियरा एवं कुड़वार जैसी रियासतों का अंग रहा है।

हर्षवर्धन के बाद यह स्थान पूरी तरह मुस्लिम शासकों के अधीन हो गया। सुल्तानपुर पर राज्य करनेवाला हिसामुद्दीन पहला मुस्लिम शासक था। इस स्थल की भौगोलिक सुंदरता को देखकर अवध के नवाब सफदरजंग ने इसे अवध की राजधानी बनाना चाहा था।

कलांतर में यह हुमायूँ, शेरशाह और अकबर के साम्राज्य का हिस्सा रह। इतिहासकारों के अनुसार अकबर के समय में सुल्तानपुर छोटे-छोटे टुकड़ों में बंटा हुआ था। बाद में यह अंग्रेजों के अधिकार में आ गया।

भारत के स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास भी सुल्तानपुर के बारे में कई कहानी अपने में समेटे हुए है। सन 1857 का विद्रोह जिसे आजादी की पहली लड़ाई के नाम से भी जाना जाता है। सुल्तानपुर के लोगों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

यहाँ के लोगों ने अंग्रेज सेना से जमकर लड़ाई लड़ी। भारत के राष्ट्रीय आंदोलन के समय के प्रसिद्ध कवि पंडित रामनरेश त्रिपाठी का यह गृह जिला है।

सुल्तानपुर जिले का इतिहास

जैसा की ऊपर पढ़ चुके हैं की भारत के उत्तरप्रदेश राज्य का सुलतानपुर भूभाग कभी नवाबों और बाद में अंग्रेजों के अधीन रहा। गोमती नदी के तट पर वसा उत्तर प्रदेश का यह भूभाग त्रेता युग में कुशभवनपुर नाम से जाना जाता था।।

जिसके बारें में मान्यता है की इस “भगवान श्री राम” के पुत्र ‘कुश’ द्वारा बसाया गया। सुल्तानपुर ज़िला भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का एक 69 वां ज़िला है। उत्तरप्रदेश का यह जिला फैजाबाद संभाग में आता है।

इस जिले का मुख्यालय सुल्तानपुर में ही स्थित है। इस जिले का क्षेत्रफल 2672.89 वर्ग किलोमीटर है। एक आँकड़े के अनुसार सुल्तानपुर जिले में  ग्राम की संख्या 1765 है। इस जिले में 17 थाने हैं।

वर्तमान में यह जिला अपने पुराने नाम कुशभवनपुर को बहाल किए जाने को लेकर भी चर्चा में रहा। यहाँ की विधान सभा सीट की बात की जाय तो यह उत्तर प्रदेश राज्य की सबसे महत्वपूर्ण विधानसभा सीट में से एक मानी जाती है। पिछले चुनाव में सुल्तानपुर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल की थी।

सुल्तानपुर का ऐतिहासिक दुर्गापूजा

वैसे तो ‘दुर्गापूजा’ पश्चिम बंगाल का सबसे प्रसिद्ध माना जाता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में होने वाले दुर्गापूजा आयोजन कलकत्ता के दुर्गा पूजा के आयोजन से कम नहीं है।

नवरात्र के अवसर पर सुलतानपुर में मनाये जाने वाला दुर्गापूजा, उत्तर प्रदेश में अपना खास पहचान रखता है। इस अवसर पर बड़े बड़े पंडाल बनाये जाते हैं। इन विशालकाय और मंदिरनुमा पंडाल को देखने से लगता है की यह असली है।

शहर के कई जगहों पर माँ दुर्गा की भव्य प्रतिमा स्थापित कर उनकी पूजा की जाती है। हिन्दू धर्म के इस उत्सव में अन्य धर्म के लोग भी बढ़-चढ़ कर साथ देते हैं।

सुल्तानपुर का इतिहास और प्रमुख व्यक्ति

सुल्तानपुर के प्रमुख व्यक्ति के बात करें तो यहाँ के प्रमुख लोग में सुल्तानपुर के अभिनेता प्रेम अदीब, उर्दू कवि अजमल सुल्तानपुरी, उर्दू कवि और भारत के हिंदी भाषा के प्रसिद्ध गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी के नाम शामिल हैं।

सुल्तानपुर जिले के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी – Some intresting fact about Sultanpur in hindi

  • सुल्तानपुर गोमती नदी के तट पर स्थित उत्तर प्रदेश का प्रसिद्ध जिला है।
  • सुल्तानपुर जिले के मुख्यालय सुल्तानपुर शहर में ही स्थित है।
  • सुल्तानपुर जिले में विधान सभा की कुल संख्या 8 है।
  • सुल्तानपुर जिले का कुल क्षेत्रफल करीव 4435 वर्ग किलो मीटर है।
  • इस स्थल को भगवान राम और उनके पुत्र कुश से भी जोड़कर देखा जाता है।
  • यहाँ पर सिताकुंड एक प्रसिद्ध स्थल है।
  • वनगमन के समय भगवान राम मैया सीता के साथ यहाँ से गुजरे थे।
  • सुल्तानपुर का प्राचीननाम कुशभवनगर था।
  • जिसे भगवान राम के पुत्र कुश द्वारा बसाया हुआ माना जाता है।
  • सुल्तानपुर के पडोसी जिले में फ़ैजाबाद, अमेठी, आजमगढ़, अम्बेडकरनगर, प्रतापगढ़ और जौनपुर का नाम आता है।

सुल्तानपुर में कितने विधानसभा है?

सुल्तानपुर जिले में कुल 6 विधानसभा हैं।

सुल्तानपुर लेखपाल कांटेक्ट नंबर क्या है?

इसे सुल्तानपुर जिले के आधिकारिक वेबसाईट से प्राप्त किया जा सकता है।

सुल्तानपुर में कितने गांव हैं?

एक आकडे के अनुसार सुल्तानपुर जिला में कुल 1765 गाँव हैं।

Q 1. सुल्तानपुर भारत के किस राज्य का एक जिला है? Ans – सुल्तानपुर उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रसिद्ध जिला है।

Q 2. सुल्तानपुर जिले का मुख्यालय कहाँ स्थित है? Ans – सुल्तानपुर जिले का मुख्यालय सुल्तानपुर शहर में स्थित है।

Q 3. सुलतानपुर जिले में कितने ब्लॉक हैं?
Ans –सुलतानपुर जिले में कुल 14 ब्लॉक हैं।

इन्हें भी पढ़ें –

आपको सुलतानपुर का इतिहास (Information about Sultanpur in Hindi) संबंधित जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी। अपने कमेंट्स से जरूर अवगत कराएं।

बाहरी कड़ियाँ (External links)

सुल्तानपुर जिला official वेबसाईट

Leave a Comment