टॉप 14 गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान

गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान

गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान – इस लेख में विश्व के 20 गणितीय के बारें मे संक्षिप्त जानकारी प्रदान की गई है। हमें आशा है की यह संकलित जानकारी आपको पसंद आएगी।

गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान

गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान

1. गणितज्ञ का नाम -आर्यभट्ट

आर्यभट्ट एक खगोलशास्त्री के साथ-साथ महान गणितज्ञ भी थे। उन्होंने विश्व को शून्य के ज्ञान से अवगत कराया था। भारत सरकार ने इस महान गणितज्ञ के सम्मान में अपना पहला उपग्रह का नाम आर्यभट्ट रखा था, जिसे 1975 में छोड़ा गया।

पूरा नाम आर्यभट्ट
जन्म तिथि – 476 ईस्वी
जन्म स्थान – कुसुमपुर (पटना)
शिक्षा – नालंदा विश्वविध्यालय, बिहार
खोज – शून्य की खोज

गणित में योगदान – उनका गणित के क्षेत्र खासकर बीजगणित, त्रिकोणमिति, भिन्न, द्विघात समीकरण और अंकगणित में महत्वपूर्ण योगदान रहा।

2. गणितज्ञ का नाम – डी आर. कापरेकर’

दत्तात्रेय रामचन्द्र कापरेकर भारत के एक जाने माने गणितज्ञ थे। संख्या सिद्धांत और मनोरंजात्मक गणित के क्षेत्र में डी.आर. कापरेकर का योगदान सराहनीय माना जाता है।

- Advertisement -
पूरा नाम – दत्तात्रेय रामचन्द्र कापरेकर
जन्म तिथि – 17 जनवरी 1905
जन्म स्थान – दाहनु, मुंबई के पास(महाराष्ट्र)
शिक्षा – स्नातक
खोज – कापरेकर स्थिरांक

गणित में योगदान – गणितज्ञ दत्तात्रेय रामचंद्र कापरेकर मनोरंजात्मक गणित के क्षेत्र में अहम योगदान के लिए जाने जाते हैं। इन्होंने प्राकृतिक संख्याओं के विभिन्न वर्गों के ऊपर विशेष रूप से शोध किया।

3. गणितज्ञ का नाम – श्रीनिवास रामानुजन

गणित के जादूगर के नाम से प्रसिद्ध श्रीनिवास रामानुजन को भला कौन नहीं जानता। भारतीय गणितज्ञ रामानुजन का व्यक्तित्व एवं गणित में योगदान जगजाहिर है। इनकी गिनती भारत ही नहीं बल्कि विश्व के महान गणितज्ञ के रूप में होती है। गणित के क्षेत्र में इस भारतीय गणितज्ञ का योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

पूरा नाम – श्रीनिवास रामानुजन
जन्म तिथि – 22 दिसंबर 1887
श्रीनिवास रामानुजन का जन्म स्थान – इरोड गांव, कोयंबतूर
शिक्षा– इंटर
खोज – 1729 (रामानुजन नंबर)

गणित में योगदान – गणित के विश्लेषण तथा संख्या-सिद्धांत के क्षेत्र में उनका योगदान कभी भूलने योग्य नहीं है। उन्हें ने गणित के करीब 3,884 प्रमेयों का संकलन के लिए भी जाना जाता है। गणित की दुनियाँ में उन्हें “MAN WHO KNEW INFINITY” के नाम से जाना जाता है।

विस्तार से पढ़ेंमहान गणितज्ञ रामानुजन का जीवन परिचय

4. गणितज्ञ का नाम – भास्कराचार्य (Bhaskaracharya)

भारत के प्राचीन गणितज्ञ भास्कराचार्य को भास्कर II के नाम से भी जाना जाता है। ए 12 वीं शताब्दी के सबसे प्रसिद्ध गणितज्ञ थे।

पूरा नाम भास्कराचार्य (Bhaskaracharya)
जन्म तिथि – 1114 ईस्वी में
जन्म स्थान – बिज्जरगी नामक स्थान (कर्नाटक )
शिक्षा – ज्ञात नहीं
खोज – अंकगणित, बीजगणित, ग्रहगणित, खगोल विज्ञान, ज्यामिति, संख्यिकी और त्रिकोणमिति

गणित में योगदान – इन्होंने गणित की विविध शाखाओं जैसे त्रिकोणमिति, बीजगणित, अंकगणित, ज्यामिति, सांख्यिकी आदि में बहुमूल्य योगदान दिया। इन्होंने अपने ज्ञान का निचोर अपने प्रसिद्ध ग्रंथ सिद्धांत शिरोमणि में विस्तार से की। उनका यह प्रसिद्ध ग्रंथ चार भागों जैसे लीलावती, ग्रहगणित, बीजगणित और गोलाध्याय में विभक्त है।

5. गणितज्ञ का नाम – ब्रह्मगुप्त (Brahmagupta)

ब्रह्मगुप्त (Brahmagupta) प्राचीन भारत के महान गणितज्ञ थे। गणितज्ञ के अलावा वे प्रसिद्ध ज्योतिशचार्य और खगोलशास्त्री भी थे।
जन्म तिथि – ईस्वी सन् 598
जन्म स्थान – भीनमाल
शिक्षा – ज्ञात नहीं
खोज – शून्य के नियम और उनके गुणों से अवगत कराया

गणित में योगदान – संख्या प्रणाली और रैखिक समीकरण पर गहन शोध किया। इन्होंने खण्ड-खाद्यक और ब्रह्मस्फुट सिद्धान्त नामक ग्रंथ की रचना की।

6. गणितज्ञ का नाम – नरेन्द्र कृष्ण करमाकर’

भारत के महान गणितज्ञ नरेन्द्र कृष्ण करमाकर को उनके अमूल्य योगदान गणित के जटिल एलगोरिथम ‘कर्मकार एलगोरिथम‘ की खोज के लिए जाना जाता है।
जन्म तिथि – 15 नवंबर 1957
जन्म स्थान – ग्वालियर, मध्यप्रदेश, भारत
शिक्षा – B.Tech
खोज – कर्मकार एलगोरिथम’

गणित में योगदान – नरेंद्र कृष्ण कर्मकार सदैव गणित की जटिल समस्याओं को सुलझाने हेतु गहन शोध करते रहते थे। गणित के क्षेत्र में करमाकर’ जी का उल्लेखनीय योगदान माना जाता है। उन्होंने महज 28 वर्ष की उम्र में ही कर्मकार एलगोरिथम’ की खोज कर सबको आश्चर्य चकित कर दिया।

7. गणितज्ञ का नाम – ‘नीना गुप्ता’

भारत के महान गणितज्ञ के नाम की सूची में नीना गुप्ता का नाम शामिल हो चुका है। भारत की प्रसिद्ध गणितज्ञ नीना गुप्ता रामानुजन अवॉर्ड जीतने वाली भारत की तीसरी महिला हैं। उन्होंने उस बक्त पूरे विश्व को चौंका दिया जब 62 साल पुरानी गणित की जटिल पहेली का उन्होंने हल निकाल लिया।

जन्म तिथि – 24 नवंबर 1984
जन्म स्थान – कोलकता, पश्चिम बंगाल
शिक्षा – गणित में पीएचडी
खोज – दशक पुरानी गणित की जटिल समस्या का हल

गणित में योगदान – नीना गुप्ता कम्यूटेटिव बीजगणित और बीजगणितीय ज्यामिति में उल्लेखनीय कार्य के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने गणित के उस समस्या का हल निकाल दिया जिसे सुलझाने के लिए पिछले 70 साल से विश्व के गणितज्ञ लगे हुए थे।

इन्हें भी पढ़ें – भारत के 20 प्रसिद्ध गणितज्ञ का परिचय और योगदान

8. गणितज्ञ का नाम – डॉ हरीश चंद्र

डॉ हरीश चंद्र भारत के महान गणितज्ञ थे। उनकी गिनती 19 वीं शदी के महान गणितज्ञ में की होती है।

जन्म तिथि – 11 अक्तूबर 1923
जन्म स्थान – कानपुर, उत्तर प्रदेश, भारत
शिक्षा – पीएचडी तक की पढ़ाई
खोज – महान वैज्ञानिक पाउली के कार्य में गलती को ढूंढ निकालना

गणित में योगदान – भारत के प्रसिद्ध गणितज्ञ डॉ हरीश चंद्र को मॉडर्न मेथमेटिक्स में उल्लेखनीय कार्य के लिए जाना जाता है। उन्होंने अपने कार्य से दुनियाँ का ध्यान अपनी तरफ आकृष्ट किया।

9. गणितज्ञ का नाम – ‘वाराहमिहिर’

‘वाराहमिहिर प्राचीन भारत के एक महान गणितज्ञ, ज्योतिष और खगोलशास्त्री थे। वे अपने समय में सटीक भविष्यवाणी के लिए भी जाने जाते हैं। वाराहमिहिर’ को आर्यभट्ट का शिष्य माना जाता है।

जन्म तिथि – 5वीं-6ठी शताब्दी के आसपास
जन्म स्थान – – उज्जैन, मध्यप्रदेश
शिक्षा – ज्ञात नहीं
खोज/देन – संख्या-सिद्धान्त’ की रचना

गणित में योगदान – उन्होंने गणित व ज्योतिष शास्त्र से संबंधित एक वृहद ग्रंथ की रचना की। उनका ग्रंथ पंचसिद्धांतिका के नाम से आज भी एक मानक ग्रंथ के रूप में प्रसिद्ध है।

10. गणितज्ञ का नाम – सी आर राव

भारत के प्रसिद्ध गणितज्ञ सी आर राव की गिनती महान सांख्यिकी (Statistics) वैज्ञानिक के रूप में होती है। उन्होंने ‘क्रेमर-राव फार्मूला’ और ‘थ्योरी राव-ब्लैकवेल सिद्धान्त’ की खोज की थी।

जन्म तिथि – 10 सितम्बर 1920
जन्म स्थान – हाडागली, कर्नाटक
शिक्षा – पी एच डी
खोज – ‘थ्योरी ऑफ़ इस्टीमेशन, क्रेमर-राव फार्मूला’

गणित में योगदान – गणितज्ञ सी आर राव का सांख्यिकी (Statistics) के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान माना जाता है। उनके द्वारा प्रतिपादित थ्योरी से किसी काम को योजनाबद्ध तरीके से पूरा करने तथा किसी चीज का सटीक अनुमान लगाने में मददगार साबित हुई।

11. गणितज्ञ का नाम – सी एस शेषाद्री

भारत के प्रसिद्ध गणितज्ञ सी एस शेषाद्री जी को एलजेबरिक जओमिट्री में अहम कार्य के लिए जाना जाता है।

जन्म तिथि – 29 फ़रवरी, 1932
जन्म स्थान – चेन्नई, तमिलनाडु
शिक्षा – बॉम्बे विश्वविद्यालय से पीएचडी
खोज – शेषाद्री कॉन्सटेंट और नराईशम-शेषाद्री कॉन्सटेंट की खोज

गणित में योगदान – एलजेब्रा ज्यामिति में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जायेगा।

12. यूक्लिड

यूक्लिड विश्व के प्रसिद्ध गणितज्ञों में से एक थे। उन्होंने अपना सारा जीवन गणित के ज्यामिति के लिए समर्पित कर दिया। ज्यामिति में उनके उल्लेखनीय योगदान के कारण ही उन्हें ‘ज्यामिति का जनक’ कहा जाता है।

13. गणितज्ञ पाइथागोरस

महान गणितज्ञ ग्रीस के रहने वाले थे लेकिन कहा जाता है की जीवन के अंतिम काल में वे भारत आ गया। गणित में ‘पाइथागोरस प्रमेय’ बहुत ही लोकप्रिय है। गणितीय समस्याओं को हल करने के लिए यह के महत्वपूर्ण गणितीय सूत्र है।

पाइथागोरस ने गणित के कठिन समस्याओं को हल करने के लिए जिस प्रेमय की खोज की वह पाइथागोरस प्रमेय के नाम से जाना जाता है। गणित में पाइथागोरस के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता।

14. आर्किमिडीज

आर्किमिडीज एक प्रसिद्ध यूनानी गणितज्ञ और महान वैज्ञानिक थे। उनका सम्पूर्ण जीवन भौतिकी से संबंधित गणितीय सूत्रों की खोज में समर्पित रहा। उन्होंने गणित के क्षेत्र में कई योगदान दिए।

इन्हें भी पढ़ें – Famous Mathematicians and Their Contributions

निष्कर्ष

इस लेख में विश्व के कई प्रसिद्ध गणितज्ञ का नाम जन्म तिथि जन्म स्थान शिक्षा खोज गणित में योगदान के बारें में चर्चा की गई। हमें आशा है की यह जानकारी आपको रोचकपूर्ण लगी होगी।

F.A.Q

  1. Q.भारतीय गणितज्ञों का गणित में क्या योगदान है?

    Ans. वर्ग और घनमूलों को हल करने के लिए दशमलव संख्या प्रणाली, शून्य की खोज, पाई के मान,
    भारत के महान गणितज्ञ कौन कौन से हैं?

  2. Q.दुनिया में सबसे महान गणितज्ञ कौन है?

    Ans. दुनिया में सबसे महान गणितज्ञ में आर्यभट्ट, श्रीनिवास रामानुजन, भास्कराचार्य, ब्रह्मगुप्त, पाइथागोरस, यूक्लिड, आर्किमिडीज का नाम लिया जाता है।

Share This Article
Leave a comment