सिक्किम के बारे में जानकारी | Information about Sikkim in Hindi

सिक्किम के बारे में जानकारी | Information about Sikkim in Hindi

Facebook
WhatsApp
Telegram

सिक्किम के बारे में जानकारी – Information about Sikkim in Hindi,

Information about Sikkim in Hindi – इस लेख में सिक्किम का रहन सहन, प्राकृतिक सौन्दर्य, संस्कृति, दर्शनीय स्थल, भाषा, इतिहास का विस्तृत जानकारी दी गई है।

भूमिका – Introduction of Sikkim in Hindi

सिक्किम(State of India) प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण भारत का अत्यंत ही मनोहारी राज्य है। हिमालय कि गोद में बसा प्राकृतिक सुषमा से मंडित सक्किम भारत का बाईसवां राज्य है। सिक्किम दो शब्दों के मेल से बना है जिसका अर्थ है होता है नया घर।

सिक्किम की रक्षा देवी के नाम से प्रसिद्ध दुनियाँ की तीसरी सबसे बड़ी चोटी “कंचनजंघा” इसके सौन्दर्य को और भी निखारती है।एरिया के हिसाव देखें तो सिक्किम की गिनती भारत के दूसरे सबसे छोटे राज्य में की जाती है।

सिक्किम, भारत के सबसे सुंदर राज्यों में से एक है, जहां कश्मीर की तरह ही सुंदर पहाड़ी, रंग विरंगी फूलों से आच्छादित सुंदर और हरी भरी वादियों स्थित है।

यहाँ के मनोरम पर्वत, सुदूर तक फैली हरियाली, प्रदूषण रहित वातावरण, झील और झड़ने पर्यटक को यहाँ आने पर मजवूर करती है। सिक्किम राज्य प्राकृतिक रूप से भारत के सबसे उन्नत प्रदेशों में से एक है।

सिक्किम के बारे में जानकारी - Information about Sikkim in Hindi
सिक्किम के बारे में जानकारी – Information about Sikkim in Hindi

सिक्किम अपने मठों के लिए भी प्रसिद्ध है, जहाँ 200 के करीब बौद्ध मठ हैं। सिक्किम में चारों ओर शांति और नवीनता नजर आती है। सिक्किम रंग-बिरंगे फूलों के लिए प्रसिद्ध है।

सिक्किम में 600 से अधिक तरह के फूल के किस्म पाये जाते हैं। इस कारण हर वर्ष मार्च से मई के बीच अंतर्राष्ट्रीय पुष्प महोत्सव का आयोजन किया जाता है। आइये इस लेख में सिक्किम के बारें में विस्तार से जानते हैं।

सिक्किम के बारे में संक्षेप में (Know About Sikkim in Hindi)

सिक्किम की राजधानी – गंगटोक
सिक्किम का क्षेत्रफल – 7096 वर्ग कि.मी.
सिक्किम की जनसंख्या (Sikkim ki jansankhya)– 540493
सिक्किम की साक्षरता-82.20%
सिक्किम का जनसंख्या घनत्व – 86%
सिक्किम में जिलो की संख्या – 4 (चार )
सिक्किम में लिंगानुपात– 889 प्रति 1000
सिक्किम की मुख्य भाषा – लेपचा, हिंदी, भूटिया, नेपाली
सिक्किम में पर्यटन का उपयुक्त समय – मार्च से मई, सितम्बर से नवम्बर

सिक्किम का इतिहास और जानकारी – About Sikkim History in Hindi

क्या आप जानते हैं सिक्किम के प्रथम शासक का क्या नाम था। सिक्किम का इतिहास (Sikkim ka itihaas) करीव 350 साल पुरानी है। यहाँ के प्रथम शासक का नाम फुन्त्सोंग नाम्ग्याल था।

जिसे तिब्बती बौद्ध लामाओं ने राजा घोषित किया था। कलांतर में नाम्ग्याल राजवंश का शासन सिक्किम पर रहा, जो भारत की आजादी तक कायम था। इसिहसकारों के अनुसार सन 1642 ईस्वी से ही सिक्किम में राजतन्त्र कायम था।

उस समय इसका सीमा क्षेत्र नेपाल, दार्जिलिंग और भूटान तक फैला हुआ था। भारत की आजादी के 28 साल बाद यह भारतीय गणराज्य का राज्य बना। सन 1970 ईस्वी के दौरान जब सिक्किम में गृह युद्ध छिड़ा।

भारत में विलय के लिए सिक्किम की लगभग 97% लोगों ने अपनी रजामंदी दी। उसके बाद सिक्किम सन 1975 ईस्वी में भारत का 22 वां राज्य बना।

इन्हें भी पढ़ेंसिक्किम का भारत में विलय की सम्पूर्ण कहानी

सिक्किम दिवस – Sikkim ke bare mein jankari

भारत का खूबसूरत राज्य सिक्किम का गठन 15 मई 1975 ईस्वी में हुआ था। इस कारण हरसाल 15 मई को सिक्किम दिवस के रूप में मनाई जाती है। सन 1975 में ही सिक्किम का राज्य बनने का विधेयक राज्य सभा और लोक सभा में बहुमत से पारित हुआ था।

सिक्किम राज्य के प्रतीक चिन्ह

  • सिक्किम का राज्य पशु (State Animal of Sikkim) – रेड पांडा (Red Panda)
  • सिक्किम का राज्य पक्षी (State Bird of Sikkim) – ब्लड फ़ीज़ॅन्ट (Blood Pheasant)
  • सिक्किम का राज्य फूल (State Flower of Sikkim) – नोबेल आर्किड (Nobile Orchid)
  • सिक्किम का राजकीय वृक्ष (State Tree of Sikkim) – रोडोडेंड्रोन निवेम (Rhododendron Niveum)
  • सिक्किम का राजकीय चिन्ह (State emblem of Sikkim- Kham-sum-wangdu.
सिक्किम के बारे में जानकारी - Information About Sikkim In Hindi
सिक्किम का राज्यकिय पशु – रेड पांडा

सिक्किम की राजनीतिक व्यवस्था

जब 15 मई को जब भारत के महामहिम राष्ट्रपति ने इस विधेयक को मंजूरी दी, तब सिक्किम भारत के 22 वां राज्य के रूप में सामने आया। सिक्किम की राजनीतिक व्यवस्था के अंतर्गत इसके सबसे बड़े शहर गंगटोक को राजधानी बनाया गया।

सिक्किम की राजधानी (Capital of Sikkim in Hindi)

Sikkim Ki Rajdhani Kya Hai – सिक्किम की राजधानी ‘गंगटोक’ (Gangtok) बड़ा ही रमणीक और दर्शनीय स्थल है। यह सिक्किम राज्य का सबसे बड़ा शहर माना जाता है। गंगटोक में घूमने की जगह में रुमटेक विहार यहाँ की प्रसिद्ध धरोहर मानी जाती है।

गंगटोक, भारत के खूबसूरत राज्य सिक्किम की राजधानी है। अपने अद्भुत प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए प्रसिद्ध गंगटोक की समुन्द्र तल से ऊंचाई लगभग 1750 मी है। गंगटोक में बौद्ध मठ और गुभाओं की संख्या बहुत ज्यादा है। लगभग 140 से भी ज्यादा गुफाएं होने के कारण इसे गुफाओं का शहर कहा जा सकता है।

सिक्किम के बारे में जानकारी - Information about Sikkim in Hindi
सिक्किम की राजधानी ‘गंगटोक’ (Gangtok)- Image by Pralay Pal from Pixabay

गंगटोक पर्यटन के लिए आने वाले लोगों के लिए यह स्थान बड़ा ही मनोहर है। गंगटोक में सालों भर वर्षा होने के कारण यहाँ की जलवायु अत्यंत ही सुहाना और स्वास्थ्यवर्धक है। यहाँ बारिश अधिक होने के कारण फूलों और पेड़ों की अधिकता और सघनता देखी जा सकती है।

मई आते-आते यहाँ के घाटियों रंग बिरंगी फूलों से लद जाते हैं। फूलों पर चहकती तितलियाँ सम्पूर्ण घाटी को और भी मनोरम बना देती है। कहते हैं की सिक्किम में तितलियों की 600 से अधिक प्रजातियाँ पाई जाती है। यहाँ कई ताल और सुंदर झील में देखने योग्य हैं।

यहाँ के खेचीपेरी ताल जिसे यक्ष ताल भी कहा जाता है और छांगू झील दर्शनीय हैं। इस झील के बारें में मान्यता है की इसी स्थान पर महाभारत’ में वर्णित युधिष्ठिर ने यक्ष द्वारा पूछे गये प्रश्न का जवाब दिये थे।

इन्हें भी पढ़ें – भारत के खूबसूरत राज्य अंडमान और निकोबार की सम्पूर्ण जानकारी

सिक्किम का खानपान (About Sikkim food in Hindi)

सिक्किम का खाना in hindi – भारत के इस सुंदरतम राज्य का खानपान भी लाजवाब है। सिक्किम का मुख्य भोजन में तिब्बत के खान-पान से बड़ी समानता दिखती है। सिक्किम के खान पान में Momos, चिकन मोमो, शाकाहारी मोमो, थुकपा और शाभाले प्रमुख हैं।

सिक्किम की भाषा (Sikkim ki bhasha)

सिक्किम की भाषा (Sikkim ki Bhasha) में मुख्य रूप में हिंदी, लेपचा, खस, अंग्रेजी, भूटिया,लिंबू का नाम आता है। लेकिन सिक्किम की आधिकारिक भाषा हिन्दी हैं। हालांकि सिक्किम में लिखित व्यवहार के रूप में अंग्रेजी का ही प्रयोग होता है।

सिक्किम की संस्कृति (Sikkim culture in Hindi)

सिक्किम की कला और संस्कृति की बात की जाय तो भारत के सिक्किम राज्य में करीब 22 बिभिन्न समुदाय के लोग निवास करते हैं। जिसमें नेपाली, भूटिया, लेपचा, लिम्बू समुदाय के लोग प्रमुख रूप से निवास करते हैं।

इस कारण Sikkim ki sanskriti में मिश्रित संस्कृति की झलक देखने को मिलता है। सिक्किम की कला और संस्कृति के बारे में जानकारी यहाँ के उत्सव, बनी वस्तुएं, मकान आदि के द्वारा जानी जा सकती है। सिक्किम के लोग बड़े अच्छे शिल्पकार होते हैं।

यहाँ के निवासी बुनाई, केन एवं बांस से कलात्मक वस्तुएं बनाने में बड़े ही माहिर होते हैं। इसके अलावा सिक्किम के लोग निर्माण कला और चित्रकला में भी प्रवीण होते हैं।

सिक्किम के प्रमुख त्योहार (Sikkim festivals in Hindi)

अब हम सिक्किम में मनाये जाने वाले त्योहारों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। सिक्किम में अलग-अलग मतों और संप्रदाय के लोग निवास करते हैं। सिक्किम में बौद्ध धर्म तथा हिन्दू धर्म के लोगों की संख्या अधिक है।

लेकिन सिक्किम में सभी समुदाय के लोग आपसी भाई चारे और प्रेम के साथ रहते हैं।

भारत के अन्य राज्यों की तरह सिक्किम के प्रमुख त्योहार में दशहरा, दीपावली, संक्रांति, राम नवमी प्रमुख है। साथ ही यहाँ के लोग दिसंवर के महीने में ‘तिब्बती नव वर्ष‘ बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं।

इसके अलाबा सिक्किम के मुख्य त्योहार में लोसर, साकेवा ( राय), सोनम लोचर (गुरुंग), बराहिमज़ोग (मागर), आदि के नाम मुख्य हैं।

सिक्किम के रीति रिवाज

भारत के इस राज्य में ही यहाँ नेपाली, तिब्बती, लेप्चा और भूटिया जनजाति के लोगों की संख्या अधिक है। उन लोगों द्वारा किसी खास प्रयोजन के दौरान यहाँ की रीति -रिवाजों की झलक साफ देखी जा सकती है। यहाँ बौद्ध धर्म को मानने वाले की संख्या भी अधिक है।

यहाँ के लोग बड़े ही मिलनसार होते हैं। वैसे तो सिक्किम में कई जन जातियाँ निवास करती हैं लेकिन लेपचा को यहाँ की मुख्य आदिम निवासी माना जाता है। ‘लेपचा’ लोग प्रकृति प्रेमी होते हैं और प्रकृति-पूजा में अधिक विश्वास रखते हैं।

सिक्किम का रहन सहन (Sikkim ka rahan sahan)

सिक्किम के लोगों का रहन सहन अति उत्तम है। यहाँ के लोग शांतिप्रिय हैं। सिक्‍किम भारत का एक कृषि प्रधान है। यहाँ की 64% लोग कृषि पर निर्भर करते हैं। सिक्‍किम में कृषि योग्‍य भूमि लगभग 1,09,000 हेक्‍टेयर है।

जो यहाँ के कुल भौगोलिक क्षेत्र के लगभग 15.36% भाग पर खेती की जाती है। यहाँ की प्रमुख फसलों में मक्‍का, चावल, गेहूं, आलू, बड़ी इलायची, अदरक और संतरा का नाम आता है। राज्य की मुख्य व्यावसायिक फसल में इलायची का नाम आता है।

सिक्‍किम में इलायची की खेती बड़े पैमाने पर होने के कारण यह भारत का सबसे बड़ा इलायची उत्‍पादक राज्‍य है।

सिक्किम की वेशभूषा (Traditional dress of Sikkim)

Sikkim की traditional dress की बात करें तो सिक्किम के लेप्चा समुदाय के पुरुष वर्ग की पारंपरिक वेशभूषा ‘थोकोरो-दम‘ कहलाता है। जिसमें सफेद पजामा, शर्ट और टोपी सम्मिलित होती है।

यहाँ के भूटिया समुदाय के लोगों के वेशभूषा को खो कहा जाता है। जिसमें भोटिया जनजाति के स्त्री-पुरुष लंबा चोंगा धारण करते हैं। भोटिया के वेशभूषा खो को बाखू के नाम से भी जानते हैं।

इसके अलाबा यहाँ रहने वाले नेपाली समुदाय के वेशभूषा में नेपाली संस्कृति की झलक मिलती है। यहाँ करीब सभी जाति की स्त्रियाँ सोना, तरह-तरह के मोतियों और फीरोजी पत्थर के आभूषण धारण करती हैं।


सिक्किम का लोक नृत्य और संगीत (Sikkim music and dance)

सिक्किम खान पान और वेशभूषा के बाद हम सिक्किम के लोक नृत्यों की चर्चा करते हैं। यहाँ के प्रसिद्ध लोकनृत्य में सिकमारी, छू फाट नृत्य, सिंघई चाम या स्नो लायन डांस, याक छाम, डेनजोंग नेनहा, ताशी यांगकू नृत्य, मारूनी नाच, खूखूरी नाच, चुटके नाच आदि सम्मिलित हैं।

सिक्किम राज्य का साहित्य

सिक्किम साहित्य की बात की जाय तो यहाँ इसके नाम पर तिब्बती भाषा में लिखित धर्मग्रंथ का नाम लिया जा सकता है। इन धर्मग्रंथों में ‘कंजूर-तंजूर’ नामक बौद्ध धर्मग्रंथ प्रसिद्ध है।

यह धर्म ग्रंथ को वहाँ ‘रामायण’ और ‘गीता’ की तरह पूजनीय माना जाता है। इस ग्रंथ में भगवान् बुद्ध के उपदेशों का संग्रह किया गया है। असल में यह ग्रंथ तिब्बती भाषा में संस्कृत का अनुवाद है। कुछ नेपाली भाषा में भी साहित्य उपलब्ध हैं।

सिक्किम का धर्म क्या है

यहाँ मुख्य रूप से हिन्दू तथा बज्रयान बौद्ध धर्म को मानने वाले रहते हैं। इसके अलावा यह अल्प मात्रा में अन्य समुदाय के लोग भी रहते हैं।

सिक्किम के जिले (Districts Of Sikkim)

सिक्किम भारत के पूर्वोत्ततर राज्यों में सबसे अधिक प्राकृतिक सौन्दर्य वाला राज्य है। जनसंख्या की दृष्टिकोण से पूर्वी सिक्किम सबसे बड़ा और उत्तर सिक्किम सबसे छोटा जिला है।

वहीं क्षेत्रफल की दृष्टि से उत्तर सिक्किम सबसे बड़ा और दक्षिण सिक्किम सबसे छोटा जिला कहलाता है।

वर्तमान में सिक्किम में कुल 04 जिले है।

  1. पूर्वी सिक्किम जिला,
  2. उत्तर सिक्किम जिला ,
  3. दक्षिण सिक्किम जिला,
  4. पश्चिम सिक्किम जिला।

सिक्किम पर्यटन के बारे में – places to visit in Sikkim in Hindi

अगर आप सिक्किम पर्यटन स्थल को देखना चाहते हैं। सिक्किम यात्रा का मन बना रहें हैं तो आपको वहाँ के दर्शनीय स्थल के बारे में जरूर जानना चाहिए।

सिक्किम अपने प्राकृतिक सुंदरता, दर्शनीय घाटियों, मनोहर पर्वतमाला के कारण पूरे विश्व में प्रसिद्ध है।

सिक्किम के बारे में जानकारी - Information about Sikkim in Hindi
रुमटेक विहार – इमेज क्रेडिट – tripinvites

यहाँ सभी संप्रदाय के लोग इतने भाई चारे के साथ रहते हैं की भारत में मिसाल दी जाती है। राज्य सरकार पर्यटन को बढ़वा देने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है। ताकि यहाँ आने वाले सैलानी सिक्‍किम की जीवन-शैली और धरोहर के बारें में नजदीक से जान सकें।

यहाँ के प्रमुख पर्यटन स्थल का details इस प्रकार हैं: –

  • गंगटोक – Gangtok
  • त्सोमो झील – Tsomo Lake
  • नाथुला पास – Nathu La Pass
  • युमथांग घाटी उत्तरी सिक्किम – Yumthang Valley
  • जूलुक – Zuluk
  • पेलिंग, वेस्ट सिक्किम – Pelling, West Sikkim
  • रुमटेक मठ – Rumtek Monastery
  • नामची, दक्षिण सिक्किम – Namchi, South Sikkim
  • ताशी व्यू पॉइंट
  • हनुमान टोक

इन्हें भी पढ़ें – सिक्किम के 11 सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल की सम्पूर्ण जानकारी

सिक्किम के प्रसिद्ध लोग (Famous People of Sikkim)

  • भीम बहादुर (Bhim Bahadur)
  • गदुल सिंह लामा (Gadul Singh Lama)
  • कीपु सेरिंग लेपचा (Keepu Tsering Lepcha
  • केदार गुरुंग (Kedar Gurung )
  • डैनी डेन्जोंगपा (Danny Denzongpa) – प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता
  • तरुणदीप राय (Tarundeep Rai )
  • पवन कुमार चामलिंग (Pawan Kumar Chamling)
  • निर्मल छेत्री (Nirmal Chettri )
  • भाईचुंग भूटिया (Bhaichung Bhutia)– प्रसिद्ध फ़ुटबॉलर

सिक्किम के बारें में रोचक तथ्य (Interesting facts about Sikkim in Hindi)

  • सन 1974 तक सिक्किम भारत से अलग एक प्रांत था।
  • सन 1975 में वहाँ के लोगों के इच्छानुसार यह भारत का 22 वाँ राज्य बना।
  • सिक्‍किम के चैमचेय गांव में हिमालयन सेंटर फॉर एडवेंचर दूरिज्‍म की स्‍थापना की गई है।
  • यहाँ के प्रमुख दर्शनीय स्थानों में पेमायांत्‍से का नाम आता है जो यहाँ के प्रमुख बौद्ध मठ हैं।
  • सिक्किम में बौद्ध मठ की संख्या करीव 144 के आसपास है।
  • सिक्किम राज्य में रहने वाले अधिकांश लोग नेपाली के मूल निवासी हैं।
  • इस राज्य में 600 से अधिक प्रकार के पुष्प पाये जाते हैं।
  • यहाँ मार्च से मई तक अंतर्राष्ट्रीय पुष्प महोत्सव का आयोजन होता है।
  • हिमालयन गिद्ध के अलावा सिक्किम में 500 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां पायी जाती है।
  • सिक्किम का पवित्र जल भूम चू: भूम चू से लोगों के शुद्धिकरण के लिए किया जाता है।
  • सिक्किम में बांस से बनी चांग यहां का स्थानीय मद्य कहलाता है।
  • बौद्ध संस्कृति से जुड़ी थंका पेंटिंग सिक्किम की स्थानीय कला है।
  • यहाँ के दर्शनीय स्थल में चांगु लेक, खेचियोपलरी लेक, लाचुंग, रुमटेक मोनैस्ट्री और नाथूला दर्रा आदि नाम प्रमुख हैं।
  • सिक्किम नेपाली भाषा का शब्द है जिसका अर्थ पर्वत शिखर है।
  • लेकिन सिक्किम गजेटियर के अनुसार यह नेपाली भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है नया घर।
सिक्किम के बारे में जानकारी - Information about Sikkim in Hindi

सिक्किम कैसे पहुचें – How to reach Sikkim in HIndi

हवाई जहाज से

भारत का सिक्किम एक छोटा राज्य है। पहले सिक्किम में कोई व्यावसायिक हवाई अड्डा नहीं था। इसके निकटतम हवाई अड्डा पश्चिम बंगाल के बागडोगरा हवाई अड्डा था। जहां से नियमित उड़ानें देश की प्रमुख शहर के लिए मिलती है।

लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में सिक्किम में पहला और एक मात्र हवाई अड्डा का उद्घाटन किया। सिक्किम के इस हवाई अड्डा का नाम पाकयोंग हवाई अड्डा रखा गया है।

रोड के रास्ते से

सिक्किम देश के कोने कोने से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। आप पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग और सिलीगुड़ी से सीधे बस के माध्यम से सिक्किम की यात्रा कर सकते हैं।

रेल द्वारा सिक्किम की यात्रा

सिक्किम भारत का एक पहाड़ी राज्य है। यहाँ जाने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी और सिलीगुड़ी है। इन स्टेशन के लिए देश के हर हिस्से से ट्रेन मिल जाती है।

जानने की बातें (FAQ)

Q. सिक्किम की वेशभूषा क्या है?

Ans. सिक्किम की पारंपरिक वेशभूषा ‘थोकोरो-दम’ है। जिसमें सफेद पजामा, शर्ट और टोपी सम्मिलित होती है। इसके अलाबा ‘खो’ या ‘बाखू‘ भी यहाँ की वेशभूषा है।

Q. सिक्किम में कौन कौन सी भाषाएं बोली जाती हैं?

Ans. सिक्किम में मुख्य रूप में हिंदी, लेपचा, खस, अंग्रेजी, भूटिया,लिंबू आदि भाषा बोली जाती है। लेकिन यहाँ की आधिकारिक भाषा हिन्दी हैं।

Q. Sikkim में कौन कौन से धर्म के लोग रहते हैं?

Ans सिक्किम में हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख और ईसाई, जैनी और बौद्ध धर्म सभी धर्म के लोग रहते हैं। लेकिन सिक्किम का प्रमुख धर्म की बात की जाय तो यहाँ सबसे ज्यादा आबादी हिन्दू की है।

Q. सिक्किम में अंतर्राष्ट्रीय पुष्प महोत्सव कब मनाया जाता है?

Ans. सिक्किम अपने अनेकों तरह के पुष्प के लिए भी जाना जाता है। यहाँ पर अंतर्राष्ट्रीय पुष्प महोत्सव मार्च से मई तक हर साल मनाया जाता है।

Q. सिक्किम की भाषा क्या है?

Ans. सिक्किम में नेपाली लोग अधिक रहते हैं। नेपाली के साथ यहाँ लेपचा, खस, भूटिया जनजाति भी रहती है। लेकिन यहाँ की आधिकारिक भाषा हिन्दी और लिखित व्यवहार के रूप में अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाता है।

Q. सिक्किम की स्थापना कब हुई थी ?

Ans. सिक्किम की स्थापना 15 May 1975 को हुआ था। इसी दिन यह भारत का अभिन्न अंग बना।

आपको सिक्किम के बारे में जानकारी (Information about Sikkim in Hindi )जरूर अच्छी लगी होगी इसे और भी बेहतर के लिए अपने सुझाव से जरूर अवगत करायें।


संशोधन तिथि – 18 नबम्बर 22

Amit

Amit

मैं अमित कुमार, “Hindi info world” वेबसाइट के सह-संस्थापक और लेखक हूँ। मैं एक स्नातकोत्तर हूँ. मुझे बहुमूल्य जानकारी लिखना और साझा करना पसंद है। आपका हमारी वेबसाइट https://nikhilbharat.com पर स्वागत है।

14 thoughts on “सिक्किम के बारे में जानकारी | Information about Sikkim in Hindi”

Leave a comment

Trending Posts