असम की सम्पूर्ण जानकारी | Information About Assam in Hindi

असम की सम्पूर्ण जानकारी | INFORMATION ABOUT ASSAM IN HINDI

असम की सम्पूर्ण जानकारी | Information About Assam in Hindi

Facebook
WhatsApp
Telegram

असम की सम्पूर्ण जानकारी – Information About Assam history in Hindi language

असम (State of India) भारत के उत्तरपूर्वी राज्यों में सबसे बड़ा और प्रसिद्ध है। भारत के पूर्वोत्तर में सात राज्य हैं जो seven sister के नाम से जाने जाते हैं। इनमें से 6 राज्यों का प्रवेश द्वार असम ही है।

क्योंकि पूर्वोत्तर के किसी भी राज्य में जाने के लिए असम से गुजरना ही है। इस कारण से असम को पूर्वोत्तर राज्यों का प्रवेश द्वार कहा जाता है। असम की प्राकृतिक सुंदरता, मनोरम हरितमा, दूर तक फैली चाय के बगान मन को मोह लेती है।

असम की सम्पूर्ण जानकारी | INFORMATION ABOUT ASSAM IN HINDI
असम की सम्पूर्ण जानकारी | INFORMATION ABOUT ASSAM IN HINDI

यहाँ की वेशभूशा, कल्चर, और लोगों का जीवन शैली बड़ा ही आकर्षक है। भारत का यह राज्य ऊंची तथा गहरी घाटियों, पर्वतीय वनस्पति के लिए प्रसिद्ध है। यह वर्षा बहुत होती है।

यही कारण है की हिमालय की तराई में वसा असम कृषि पर आधारित उददोग के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पर जुट, सिल्क, प्लाईबुड, घान पर आधारित उद्योग काफी देखने को मिलते हैं। साथ ही असम चाय के उत्पादन में पूरे भारत में अग्रणी राज्य है।

यहाँ की चाय देश विदेश में निर्यात की जाती है। असम एक सींग वाला दुर्लभ गैंडा के लिए पूरी दुनियाँ मे प्रसिद्ध है। इस लेख में असम का खान पान और वेशभूषा सहित असम के समस्त जानकारी वर्णित है।

असम के बारे में जानकारी इन हिंदी – Brief Information about Assam in Hindi

राज्य का नामअसम (अंग्रेजी – Assam)
असम की राजधानीदिसपुर (Dispur )
स्थापना दिवस15 अगस्त 1947
असम का क्षेत्रफल78438 वर्ग किमी.
असम का राजकीय पशु(State Animal)एक सिंग वाला गैण्डा
असम का राजकीय पक्षी(State Bird)सफेद बतख (White duck)
असम का राजकीय फूल (State flower)फॉक्सटेल आर्किड
असम का राजकीय वृक्ष(State Tree)होलॉग(Hollong)
असम के प्रथम राज्यपालसर मुहम्मद सालेह अकबर हैदरी
असम के प्रथम मुख्यमंत्रीगोपीनाथ बोरदोलोई
असम में कुल जिले की संख्या35
असम में लोकसभा की कुल सीटें14
असम में राज्‍यसभा की कुल सीटें03
असम में विधानसभा की कुल सीटें126
असम की मुख्य भाषा असमी, बंगाली व हिन्दी

असम राज्य की पूरी जानकारी – Full Information About Assam In Hindi

असम राज्य की विशेषता – असम भारत के पूर्वोत्तर राज्यों का द्वार कहलाता है। असम चाय बगानों के लिए पूरे विश्व मे पहचान रखती है। दुनियाँ में चीन के बाद भारत के असम में ही चाय की खेती होती है।

असम की अथाह प्राकृतिक सौन्दर्य, घने वन व वन्यजीव, दूर तक फैले चाय बागान, पर्वत, नदीओं और मंदिर पर्यटक को आकर्षित करता है। असम पेट्रोलियम उद्योग के लिए भी पूरे भारत में प्रसिद्ध है।

असम में स्थित डिगबोई रिफाइनरी (Digboi Refinery) एशिया की पहली रिफाइनरी मानी जाती है। यहाँ के डिब्रूगढ़, शिवसागर, सिलचर कच्चे तेल के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। असम के राष्ट्रीय उद्यान में काजीरंगा का नाम प्रसिद्ध है।

असम का काजीरंगा नेशनल पार्क लुप्तप्राय जीव के संरक्षण के लिए प्रसिद्ध है। इस नेशनल पार्क में विश्व का दुर्लभ जानवर एक सींग वाला गैंडा पाया जाता है। जो कभी लुप्त होने के कगार पर पहुँच चुका था।

असम शिल्प उददोग के लिए भी प्रसिद्ध है। यहाँ बेंत से बनी सुंदर कुर्सी, सोफ़े व अन्य सामन बहुतायत रूप में बनाये जाते हैं।

इन्हें भी पढ़ें – भारत के खूबसूरत राज्य अंडमान और निकोबार की सम्पूर्ण जानकारी

असम का इतिहास और जानकारी – History of assam in hindi

भारत के राज्य असम का इतिहास बहुत ही प्राचीन मानी जाती है। असम के बारें में कहा जाता है की कृष्ण भगवान के पौत्र अनिरुद्ध ने कामरूप (असम ) सुंदरी उषा को प्रेम विवाह हेतु अपहरण कर लिया था।

प्राचीन कल में असम को ‘प्रागज्योतिष व कामरूप’ के नाम से भी जाना जाता था। असम में आर्य, द्रविड, मंगोलीयन,  तिब्बती, म्यांमार की लोगों की संस्कृति का संगम देखने को मिलता है।

क्योंकि कलांतर में ये कामरूप में आकार बस गये। अति प्राचीनकाल में यह स्थान पूर्व ज्योतिष का स्थान कहलाता था। बाद में इसका नाम रूपांतरित होकर कामरूप हो गया। इस तथ्यों के आधार पर माना जाता है की कामरुप, असम का पुराना नाम था।  

असम के इतिहास से यह भी पता चलता है की यहाँ कई राजाओं और राजवंशों ने शासन किया। इन राजवंशों में कमरूपाल, शालसत्तमभस, वर्मन के साथ-साथ गुप्तवंश के राजाओं का राज्य रहा।

समुन्द्र गुप्त के इलाहाबाद शीलालेख से इस बात का प्रमाण भी मिलता है। उन शिलालेखों के अनुसार असम कभी गुप्त साम्राज्य के अधीन था। महान चीनी यात्री हवेनसांग ने भी अपने यात्रा वृतांत में इस प्रदेश को कामरूप के नाम से जिक्र किया है।

असम का मध्यकालीन इतिहास – Assam history in hindi

असम का मध्यकालीन इतिहास असम में शासन करने वाले अहोम राजा के शासन से ही शुरू होता है। जिन्होंने करीव 600 वर्षों तक असम पर राज किया।

इन्हें भी पढ़ें : – झारखंड की सम्पूर्ण जानकारी

म्यांमार (पुराना नाम बर्मा ) के  शासक अहोम ने 13वीं शताब्दी में असम पर अपना आधिपत्य कायम कर लिया। आज भी उनके द्वारा निर्मित किले के खंडहर असम के शिवसागर जिले के पास देखे जा सकते हैं।

भारत के मनोरम राज्य असम का इतिहास अहोम राजा से लेकर अंग्रेजों तक बड़ा ही उतार चढ़ाव भरा रहा है। भारत के पूर्वोत्तर का राज्य असम जो भूतकाल में विशाल भूखंड था।

वह कलांतर में धीरे-धीरे सिकुड़कर छोटा होता गया। अंग्रेजों के आगमन से पूर्व यहाँ पर उत्तर भारत के राजाओं ने कब्जा करने की कोशिस की लेकिन वे वे पूरी तरह से सफल नहीं हो सके।

असम को बाद में एक संधि के तहद अंग्रेजों ने अपने अधीन कर लिया। पहले उन्होंने अपर असम के कुछ हिस्से को बंगाल में विलय किया। उन्होंने असम और पूर्वी बंगाल का एकीकरण करने की कोशिस की। इस प्रकार असम से कुछ हिस्से टूटते और कुछ जुडते रहे।

भारत के महान स्वतंरता सेनानी के लंबे संधर्ष के बाद जब 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ। तब असम स्वतंत्र भारत का एक प्रमुख राज्य बना। लेकिन आजादी के बाद असम से पृथक मेघालय, अरुणाचल प्रदेश नागालैंड, मिजोरम आदि नए राज्य बनाये गये।

असम का पुराना नाम – Assam Information In Hindi

इतिहासकारों के वर्णन के आधार पर असम का पुराना नाम कामरूप व प्रागज्योतिष था। जिसका वर्णन महान इतिहासकार अल्बरूनी के किताब में भी मिलता है। वर्तमान में बदलकर इसका नाम असम हुआ।

असम का क्या अर्थ है जानते हैं। असम शब्द का आशय कुछ लोग इस प्रकार लगाते हैं। असम अर्थात जो सम नहीं हो, जिसकी भूमि समतल नहीं है।

कुछ विद्वानों का मानना है की असम की भूमि पहाड़ी और घाटी के कारण कहीं ऊंचा है तो कहीं नीचा। इसकी भूमि सम (बराबर) नहीं होने के कारण ही शायद इसे असम कहा गया।

लेकिन कुछ विद्वान मानते हैं की असम संस्कृत के ‘असोमा’ शब्द से बना है। जहाँ असोमा का मतलब अनुपम होता है। वहीं कुछ विद्वान मानते हैं की यहाँ बर्मा के अहोम राजा ने कई सौ साल तक राज्य किया।

असम का नामांकरण इसी अहोम राजा से हुआ है।

असम के प्रसिद्ध लोकनृत्य – Information about assam dress in Hindi

असम के लोक नृत्य के नाम हैं : – खेल गोपाल बीहू, किलगोथा, अंकियानट, राखल, बिछुआ, नट पूजा और लीला आदि। 

असम के बीहू डांस – information about bihu dance of assam in hindi

असम की राजधानी – About Assam In Hindi Language

असम पहले संयुक्त असम के नाम से जाना जाता था। बाद में उनसे कट कर नए राज्यों का जन्म हुआ। 15 अगस्त 1947 को आजादी के साथ ही अन्य भारतीय राज्यों की तरह इस राज्य की स्थापना हुई।

असम की राजधानी गुवाहाटी से सटे दिसपुर है। दिसपुर की दूरी गुवाहाटी से लगभग 15 किलो मीटर है। असम की राजधानी दिसपुर अपने अंदर कई सांस्कृतिक और इतिहासिक विरासत को समेटे हुए है।

दिसपुर प्राचीन ऋषि बशिष्ट के आश्रम के लिए भी प्रसिद्ध है।  

असम की भाषा क्या है – Language of assam in hindi

असम के लोगों की मुख्य भाषा असमिया है जिसे असमी भी कहते हैं। असमिया बोलने वालों की संख्या यहाँ सबसे अधिक है। लेकिन यहाँ के लोग बंगाली और हिन्दी भी बोलते हैं। असम की राजभाषा के रूप में असमिया भाषा को ही अपनाया गया है।

असम के जिले – About Assam In Hindi Language

भारत के असम राज्य में कुल 27 जिले हैं। उनके नाम इस प्रकार हैं।

1. बक्सा ( Baksa ), 2. बरपेटा ( Barpeta ),

3. बिस्वनाथ (Biswanath), 4. बंगाईगाँव( Bongaigaon ),      

 5. काछार (Cachar ), 6. चराईदेव (Charaideo ),

7. चिरांग ( Chirang ), 8. दरंग (Darrang ),  

9. धेमाजी( Dhemaji ), 10. धुबरी( Dhubri ),

11. डिब्रूगढ़ ( Dibrugarh ), 12. डिमा हासाओ(Dima Hasao ),

13. गोलपाड़ा(Goalpara ), 14. गोलाघाट ( Golaghat ),

15. हाईलाकांदी ( Hailakandi ),     16. होजई(Hojai ) 

17. जोरहाट (Jorhat), 18. कामरूप( Kamrup ),

19. कामरूप मेट्रो (Kamrup Metro), 20. कार्बी आंगलोंग (Karbi Anglong),

21. करीमगंज(Karimganj), 22. कोकराझार ( Kokrajhar ),   

23. लखीमपुर(Lakhimpur ), 24. माजुली (Majuli),

25. मरिगाँव(Morigaon), 26. नगाँव(Nagaon),   

27. नलबाड़ी( Nalbari ), 28. शिवसागर ( Sivasagar ),

29. शोणितपुर (Sonitpur ) 30. दक्षिण सलमारा (South Salamara-Mankachar),

31. तिनसुकिया (Tinsukia),  32. उदलगुड़ी (Udalguri],

33. पश्चिम करबी आंगलोंग( West Karbi Anglong )

असम के चाय की खेती का इतिहास

चाय की खेती भारत के असम राज्य की पहचान बन चुकी है। दुनियाँ में भारत चाय के उत्पादन में दूसरा स्थान रखता है। असम में चाय की खेती का इतिहास ब्रिटिश काल से ही माना जाता है।

यहाँ की जलवायु और मिट्टी चाय की खेती के लिए बहुत ही अनुकूल मानी जाती है। यहीं कारण है की असम में चाय की बहुत पैदावार होती है। असम में चाय की खेती की शुरुआत का श्रेय एक अंग्रेज अधिकारी को जाता है।

असम की सम्पूर्ण जानकारी | Information About Assam in Hindi
असम चाय बगान के लिए प्रसिद्ध – Photo by Taryn Elliott on Pexels.com

जिन्होंने असम में चाय की खेती की शुरुआत कराई थी। आज असम में उत्पादित चाय अपनी पहचान बना चुका है और  यहाँ के लोगों के मुख्य आजीविका का साधन बन चुका है। 

भारत में पूरे चाय के उत्पादन में 70% से ज्यादा असम का योगदान माना जाता है। यहाँ कई किस्म की चाय की पैदावार होती है। असम की चाय की पत्ती देखने में मुलायम और पीने में अधिक कडक होती है।

असम की भौगोलिक स्थिति

आगे असम की भौगोलिक स्थिति क्या है उसे जानते हैं। भारत के पूर्वोत्तर का राज्य असम दो देशों भूटान और बांगलादेश के अंतर्राष्ट्रीय सीमा को छूती है। असम के सीमा पूर्व में नागालैंड, मणिपुर और मेघालय को छूती है।

वहीं पश्चिम में यह बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल को छूती है। असम के उत्तर में भूटान और अरूणाचल प्रदेश और दक्षिण में मिजोरम और त्रिपुरा अवस्थित है। असम का कुल क्षेत्रफल करीव 78438 वर्ग किलोमीटर है।

असम के करीब 26% भूभाग पर जंगल हैं। इसमें कई प्रकार के दुर्लभ वनस्पति और जीव-जन्तु पाए जाते हैं। एक आंकड़ों के अनुसार यहाँ करीब 40 लाख हेक्टर जमीन खेती योग्य है। जिसमें लगभग 27.24 लाख हेक्टेयर में खेती की जाती है।

यहाँ उगाए जाने वाले फसल में कपास, चाय, जुट, गन्ना और तिलहन प्रमुख हैं। यहाँ पर केला, अन्नास, नारियल और सुपारी की पैदावार भी खूब होती है। लेकिन असम चाय और धान की प्रमुख उत्पादन करने वाले भारत के प्रसिद्ध राज्यों में से है।

असम का रहन सहन – assam ke logo ka rahan sahan

असम के लोगों का रहन सहन अच्छा है। यहाँ के लोगों के मुख्य आजीविका का साधन चाय की खेती है। हिन्दू बहुल्य आबादी वाला इस राज्य में वैष्णव संप्रदाय के लोग अधिक हैं।

यहाँ हिन्दी, मुस्लिम, सिक्ख और ईसाई सभी मिलजुल कर रहते हैं। असम में बारिश बहुत ज्यादा होती है। इस कारण ग्रामीण इलाकों में लोग अपने घर बांस के खंभों पर तैयार करते थे। जिससे बाढ का पानी घरों में आसानी से नहीं घुसे।

असम का वेशभूषा – Information about assam dress in Hindi

असम की पारंपरिक वेशभूषा की बात करें तो यहाँ की महिलाओं मेखला नामक वस्त्र धारण करती हैं। असम का पहनावा में मेखला स्त्रीयों की लोकप्रिय वेशभूषा है। मेखला दो भागों में विभक्त होता है।

यहाँ की पुरुष धोती और कुर्ता पहनते हैं। साथ ही वे अपने कंधे पर पारंपरिक पोशाक गमछा धारण करते हैं। 

असम का मुख्य भोजन – Information about assam food in Hindi

असम का खानपान की बात करें तो असम में धान की खेती बहुत ज्यादा होती है। यहाँ के लोगों का मुख्य भोजन चावल है। साथ ही यहाँ मछली पालन भी खूब किया जाता है। इस कारण भात के साथ मछली यहाँ के लोग खूब पसंद करते हैं।

यहाँ चावल से एक खास तरह का पकवान बनाया जाता है जिसे “खार” के नाम से जाना जाता है। खार एक प्रकार का नॉन वेजिटेरियन डिश है जिसमें दाल और कच्ची सब्जियों भी मिश्रित कर बनाया जाता है।

इसके अलावा यहाँ के प्रसिद्ध डिश में मसोर टेंगा, जॅक अरु भाजी, आलू पिटिका, पीठा, गोरूर पायस का नाम आते हैं।    

असम के प्रमुख शहर

असम के प्रमुख शहर में निम्न नाम प्रसिद्ध है।

  • गुवाहाटी,
  • जोरहाट,
  • सिलचर,
  • शिवसागर,
  • तेजपुर,
  • गोलाधाट

असम राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य – Interesting and Amazing facts about assam in hindi

  • असम भारत के पूर्वोत्तर का एक प्रसिद्ध प्रांत है।
  • भारत का प्रथम खनिज तेल भंडार असम के डिगबोई में पायी गई।
  • असम दो देशों की सीमा को साझा करती है बांग्लादेश और भूटान।
  • अंग्रेजों के शासन काल से ही असम चाय का सबसे बड़ा निर्यातक राज्य है।
  • असम के जातिंगा नामक स्थान पक्षियों के सामूहिक आत्महत्या वाली जगह के रूप में प्रसिद्ध है।
  • इस रहस्यमयी जगह पर हर साल सैकड़ों की संख्या में पक्षी अपनी जान दे देते हैं।
  • पक्षियों के सामूहिक आत्महत्या वैज्ञानिक के लिए यह एक पहेली बनी हुई है।
  • बीहू असम का प्रमुख त्योहार है जिसे साल में तीन बार मनाया जाता है।
  • असम के उत्तर में अरुणाचल प्रदेश तथा दक्षिण में मिजोरम तथा मेघालय स्थित है।
  • इसके पूर्व में नागालैंड और मणिपुर तथा पश्चिम में बंग्लादेश है।
  • असम रेशम उत्पादन में अग्रणी स्थान रखता है।
  • असम बेंत व बाँस की कलाकृतियाँ के लिए जाना जाता है।
  • खनिज तेल के उत्पादन में भी असम भारत में प्रथम स्थान रखता है।
  • असम में पाये जाने वाले एक सींग वाले पूरे दुनियाँ में प्रसिद्ध है।
  • असम की प्रमुख बोली जाने वाली भाषा में असमिया भाषा है।
  • असमिया भाषा को यहाँ के करीब 50% आबादी बोलती है।
  • इस राज्य में बहने वाली सबसे बड़ी नदी ब्रह्मपुत्र है।
  • राज्य में स्थित मजुली विच को एसिया का सबसे बड़ा river beach माना जाता है।
  • असम की झीलें में चंदुवी झील तथा शिवसागर झील प्रमुख है।
  • असम का कामाख्या मंदिर प्रसिद्ध शक्तिपीठ में से एक है।
  • असम का काजीरंगा नेशनल पार्क तथा मानस वन्यजीव अभ्यारण्य UNESCO की विश्व विरासत लिस्ट में शामिल है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (F. A. Q

असम का मुख्य भोजन क्या है?

असम मे धान की पैदावार बहुत होती है। साथ ही वर्षा अधिक होने से मछली पालन में भी अग्रणी है। इस कारण असम के अधिकांश लोगों का मुख्य भोजन मछली भात है।

असम में कुल कितने जिले हैं?

वर्तमान में असम में कुल 33 जिले हैं। जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला नौगांव और सबसे छोटा ज़िला दीमा हासाओ है।

असम की राजभाषा क्या है?

भारत के असम राज्य की राजभाषा असमिया है। इसके अलावा यहाँ बोडो भाषा, कार्बी भाषा, हिन्दी, बंगला भी बोली जाती है।

असम का निर्माण कब हुआ?

भारत के अन्य प्रमुख भारतीय राज्य की तरह ही असम का भी 15 अगस्त 1947 को निर्माण हुआ।

असम में क्या प्रसिद्ध है?

असम चाय की खेती के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध है। साथ ही यह दुर्लभ वन्य जीव अभारण्य के लिए भी प्रसिद्ध है। यहाँ के काजीरंगा राष्ट्रीय उधान में एक सिंह वाला दुर्लभ गैंडा पाया जाता है।



असम स्टेट पोर्टल – Assam State Portal


Leave a Comment

Trending Posts