Table of Contents

INFORMATION ABOUT MANIPUR IN HINDI – मणिपुर के बारे में पूरी जानकारी मात्र 5 मिनट में,

इस ब्लॉग में खूबसूरत राज्य मणिपुर का इतिहास, भूगोल व रोचक तथ्य सहित समस्त जानकारी प्रदान की गयी है। मणिपुर नॉर्थ ईस्ट इंडिया के सात राज्यों में सबसे महत्वपूर्ण राज्य है। मणिपुर का अर्थ है? ‘मणियों व आभूषणों की धरती।

कश्मीर और सिक्किम की तरह मणिपुर में भी प्रकृति ने अपना भरपूर प्यार लुटाया है। अद्भुत सुंदरता के कारण मणिपुर को “भारत का गहना नाम से जाना जाता है।

भारत के सबसे अनुपम और खूबसूरत राज्यों के रूप में मणिपुर की गिनती होती है। मणिपुर अपने अद्भुत सुंदरता के कारण कश्मीर के बाद दूसरा सबसे बड़ा पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा है।

INFORMATION ABOUT MANIPUR IN HINDI - मणिपुर के बारे में जानिये मात्र 5 मिनट में
INFORMATION ABOUT MANIPUR IN HINDI
By Mongyamba – Own work, CC BY-SA 3.0, https://commons.wikimedia.org/w/index.php?curid=4295809

मितई जनजाति के लोग यहाँ के घाटी क्षेत्रों में सबसे ज्यादा पाये जाते हैं। यदि आप मणिपुर राज्य के बारे में विस्तार-पूर्वक जानना चाहते हैं तो Information about Manipur in Hindi – शीर्षक वाले इस लेख को अंत तक पढ़े।

मणिपुर राज्य के बारे में पूरी जानकारी – Manipur Information In Hindi language

  • मणिपुर राज्य का गठन – 21 जनवरी 972
  • मणिपुर की राजधानी – इम्फाल
  • मणिपुर की भाषा – मणिपुरी
  • मणिपुर का क्षेत्रफल –22327 वर्ग की मि
  • मणिपुर की जनसंख्या – 2.72 करोड़ (2011 के अनुसार )
  • जनसंख्या का घनत्व -128 वयक्ति /कीमी (2011 के अनुसार )
  • लिंगानुपात – 985
  • मणिपुर में लोकसभा की कुल सीट – 02
  • मणिपुर में विधान सभा की कुल सीट – 60
  • राज्यसभा की कुल सीटें – 01
  • मणिपुर के प्रथम मुख्यमंत्री – मैरेमबम कोइरांग सिंह
  • मणिपुर का राजकीय पुष्प – सिरोय कुमुदिनी
  • मणिपुर का राजकीय पक्षी-मिसिस हूमेस
  • मणिपुर का राजकीय पशु- संगाई हिरण
  • मणिपुर का राजकीय वृक्ष- तून

मणिपुर का इतिहास – About History of Manipur in Hindi

मणिपुर करीब 22,358 वर्ग कि.मी. के क्षेत्र में फैला भारत का सीमावर्ती राज्य है। इसे पूरब का स्वर्ग भी कहा जा सकता है। क्योंकि इसकी अद्भुत प्राकृतिक सौन्दर्य पर्यटकों को असीम आनंद का अहसास करती है।

हरियाली से आच्छादित मस्तक उठाए पर्वत, रंग-बिरंगे फूलों से आच्छादित खूबसूरत वनस्पतियाँ, मनोहर पेड़ पौधे इनके सौन्दर्य में चार चांद लगा देते। मणिपुर को कथे, मोगली, मैत्रबाक आदि कई नामों से भी जाना जाता था।

इसिहसकारों के अनुसार मणिपुर के प्रथम शासक पाखंगबा था। जिसने इस क्षेत्र पर लगभग 120 वर्षों तक राज्य किया। उसके बाद मणिपुर में महाराज कियाम्बा, खागेमबा गरीबनिवाज, भाग्यचन्द्र(जय सिंह) गंभीर सिंह आदि कई राजाओं ने राज्य किया।

कहते हैं की प्रसिद्ध खेल पोलो की शुरुआत मणिपुर से ही हुई थी। मणिपुर में इस खेल को सगोल कांजेई के नाम से जानते हैं।

ABOUT MANIPUR IN HINDI - मणिपुर का इतिहास
पोलो
INFORMATION ABOUT MANIPUR IN HINDI / Image By Vince pahkala


ईस्ट इंडिया कंपनी के आगमन से पहले यह क्षेत्र वहाँ के राजा टिकेन्द्रजीत के कब्जे में था। सन 1891 में अंग्रेजों ने मणिपुर के अंतिम स्वतंत्र शासक टिकेन्द्रजीत को फांसी की सजा दे दिया। इस प्रकार मणिपुर अंग्रेजों के कब्जे में आ गया।

मणिपुर दिवस – Manipur divas in Hindi

आजादी के बाद 1947 में मणिपुर भारत का हिस्सा कब बना? तब से लगातार यह प्रदेश उन्नति कर रहा है। जब सन 1956 में राज्य के पुनर्गठन किया गया तब मणिपुर को केन्द्र शासित प्रदेशों का दर्जा मिला।

सन 1972 में भाषा के आधार पर राज्य का गठन हुआ और मणिपुर को स्वतंत्र राज्य के रूप में मान्यता मिली। मणिपुर की स्थापना 21 जनवरी को हुई थी। तभी से हर साल 21 जनवरी को मणिपुर दिवस के रूप में मनाया जाता है।

मणिपुर का रहन-सहन

मणिपुर का इतिहास जितना रोचक है उतना ही रोचक वहाँ की संस्कृति है। मणिपुर के लोगों का रहन सहन, त्योहार और पर्यटकोंस्थल यहाँ आने पर मजबूर करती है। मणिपुर राज्य के मूल निवासी मितई जनजाति के लोग कहलाते हैं।

मणिपुर के लोगों की वेशभूषा – traditional dress of Manipur

मणिपुर की वेशभूषा में पारंपरिक रूप से जहाँ पुरुष वर्ग सफेद रंग की धोती और कुर्ता पहनते हैं। वहीं मणिपुर का वेशभूषा में वहाँ की औरतें एक खास प्रकार से डिजाइन किए गये वस्त्र पहनती है जिसे इनाफी कहते हैं। इस वस्त्र के किनारों पर सुंदर डिजाइन बनी रहती है।

मणिपुर का भूगोल – About Geography of Manipur In Hindi

पूर्वोत्तर भारत के राज्य मणिपुर के उत्तर में नागालैंड, दक्षिण में मिजोरम, पश्चिम में असम स्थित है। इसके पूर्व में म्यांमार और दक्षिण-पूर्व में चीन स्थित है। कृषि कार्य यहाँ के लोगों के आजीविका का मुख्य साधन है। मणिपुर राज्य को मैदानी व पहाड़ी दो क्षेत्रों में बांटा कर देखा जा सकता है।

इस प्रदेश का लगभग 90% क्षेत्र पहाड़ियों व घने जंगलों से आच्छादित है। मणिपुर भारत के विभिन्न राज्यों से सड़क और रेलमार्ग द्वारा यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है। विदेशी पर्यटकों को मणिपुर में भ्रमण के लिए मिनिस्ट्री ऑफ फोरेन अफेयर्स से आज्ञा लेना जरूरी है।

मणिपुर का उधोग – About income source of Manipur In Hindi

इस राज्य का कुटीर उद्योग मुख्य रूप से हस्तशिल्प पर आधारित है। यहां का हस्तशिल्प विश्वभर में प्रसिद्ध है। हैंडलूम भी मणिपुर राज्य के कुटीर उद्योग में सम्मिलित है।

मणिपुर की राजधानी – manipur ki rajdhani

मणिपुर के राजधानी इम्फाल है। यह शहर समुद्र तल से लगभग 790 मी. ऊंची है। जैसा की हम बता चुके हैं की 17.48 वर्ग किमी. के क्षेत्र में फैली राज्य की राजधानी इम्फाल एक खूबसूरत शहर है।

मणिपुर की भाषा क्या है (language of Manipur In Hindi )

पूर्ववोत्तर राज्य मणिपुर की भाषा मणिपुरी है। लेकिन यहाँ के लोग बँगला भी लिख पढ लेते हैं। क्योंकि मणिपुरी भाषा की लिखाई बांग्ला भाषा की लिपि में होती है। मणिपुरी भाषा की अपनी कोई मूल लिपि नहीं है।

मणिपुर की संस्कृति के बारे में जानकारी – manipur culture in hindi

मणिपुर में कई धर्म और संस्कृति के लोग निवास करते हैं। यहाँ की संस्कृति प्राचीन काल से ही अत्यंत समृद्ध रही है। मणिपुर का पहनावा, लोगों के रीति-रिवाज में यहाँ की संस्कृति साफ दृष्टिगोचर होती है।मणिपुर धर्म यहाँ मुख्य रूप से मताई और नागा जनजाति के लोग रहते हैं।

मणिपुर के नृत्य के वारे में जानकारी

पूर्वोत्तर में स्थित भारत के मणिपुरी राज्य का शास्‍त्रीय नृत्‍य मणिपुरी कहलाता है। यह नृत्‍य भारत के अन्‍य राज्यों के नृत्‍य से अलग है। कहते हैं की मणिपुरी नृत्य का विकास 18वीं के दौरान हुआ था।

इसके अलाबा मणिपुर का मुख्य नृत्य ‘थाबल चौबा नृत्य’ तथा राधा और कृष्ण के दिव्य प्रेम पर रचा गया नृत्य ‘रास लीला’ हैं। इस दौरान मणिपुर के पुरुष और महिलायें यहाँ पारंपरिक पोशाक में नृत्य करते अद्भुत छटा विखेरती है।

मणिपुर का खाना (food of manipur in hindi)

मणिपुर का खास व्यंजन चामथोंग के नाम से जाना जाता है। यहाँ के लोगों का मुख्य भोजन मछली और भात(चावल) हैं। मछली का खास व्यंजन जो नगा थोंगबा के नाम से प्रसिद्ध है मणिपुरी लोगों का प्रिय भोजन है।

मणिपुर के त्योहार (manipur festival in Hindi)

वसंत पूर्णिमा के अवसर पर मनाये जाने वाला होलीमणिपुर का मुख्य त्योहार है। इसे मणिपुरी में याओशांग (डोल जात्रा) के नाम से जाना जाता है। इसके अलाबा यहॉँ के प्रमुख त्योहारों में ‘लाइ-हरोबा‘, कांग (रथ जात्रा), कुट, हिकरू हिडोंगबा, निंगोल चकौबा, चुमफा गंग नगाई और क्वाक यात्रा (दशहरा) प्रसिद्ध है।

खबाई राम्बई बाजार-
भारत के मणिपुर राज्य में स्थित इस एकमात्र बाजार है जहाँ के बाजारों में सारा कार्य औरतें द्वारा ही संचालित होती है। इस बाजार में स्थित मणिपुरी हस्तशिल्प, यहाँ के पारंपरिक वस्त्र, कपड़े व अन्य बस्तुएं पर्यटक के लिए आकर्षण का केंद्र है।

वहाँ से कुछ दूरी पर लाग्थबाल नामक स्थान पर मणिपुर का अति प्रचीन राजमहल स्थित है।

इन्हें भी पढ़ें – बिहार के प्रमुख पर्यटन स्थल महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल

विष्णु मन्दिर – यह मंदिर मणिपुर के इम्फाल शहर से करीब 27 किमी. की दूरी पर दक्षिण पश्चिम दिशा में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण सन 1467 ईस्वी में हुआ था। चीनी स्थापत्य-कला द्वारा निर्मित यह विष्णु मन्दिर बेहद ही आकर्षक है।

श्री-गोविन्दजी मन्दिर- यह मंदिर वैष्णव समुदाय के लिए खास है। यह उनके प्रमुख तीर्थ स्थल में से एक है। यह मंदिर स्वर्ण गुम्बदों से युक्त है जिसमें बड़े से हाल बना हुआ है। इस हाल में किसी खास उत्सव के दौरान विशेष समारोह का आयोजन किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ेंप्रेम मंदिर वृंदावन लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर

मोचरंग/लोकतंक- झील के किनारे बसा यह शहर अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है। नेताजी जी सुभाषचंद्र बोस द्वारा भारत के आजादी के लिए गठित आजाद हिन्द फौज का मुख्र्यालय इसी स्थान पर था। भारत के महान क्रांतिकारी नेता सुभाषचन्द्र ने देशवासी से कहा था ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा

करीब 64 वर्ग किमी. में फैला यह क्षेत्र पर्यटक को खूब आकर्षित करता है। झील में कुकुरमुत्ते की तरह उगे द्वीप बेहद ही सुंदर लगता है। जो बरबस ही पर्यटक को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।

कश्मीर की डल झील की तरह इस झील में भी पर्यटकों के सैर के लिए नाव की व्यवस्था है। पर्यटक को यहाँ रात्री विश्राम के लिए टूरिस्ट होम भी उपलब्ध है।

इन्हें भी पढ़ेंभारत के 29 प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी

भारत के 25 महिला फ़्रीडम फाइटर

केइबुल लामजाओ- मणिपुर राज्य में स्थित इस उद्यान को सन 1977 ईस्वी में राष्ट्रीय उद्यान के सूची में शामिल किया गया। इस राष्ट्रीय उद्यान में बाघों व अन्य कई जंगली जानवरों का प्राकृतिक बसेरा है। यहाँ के जंगलों में लुप्तप्राय सांगाई (हिरण) आपको देखने को मिल जायेंगे।

चुरा-चांदपुर- यह मणिपुर राज्य का एक सीमान्तवर्ती जिला है। यह स्थान माओ नागाओं का निवास स्थल कहलाता है। स्वास्थ्य लाभ के दृष्टि से यह स्थल बड़ा ही अच्छा है।

कांचुप- अनुपम प्राकृतिक सुंदरता से माला-माल यह क्षेत्र समुद्र तल से करीब 925 मी. की ऊंचाई पर अस्थित है।

कायना– कहा जाता है की महाराज जयसिंह को श्री-गोविन्द ने इसी स्थल पर दर्शन दिये थे। कायना में निर्मित श्री-गोविंद का मन्दिर यहाँ के मुख्य आकर्षण का कारण है।यह मंदिर मुख्य रूप से भगवान श्री कृष्ण, बलराम, व जगन्नाथ को समर्पित हैं,

थौबल– यह शहर एक स्मृति-स्थल के रूप में भी प्रसिद्ध है। अंग्रेजों के साथ हुए विद्रोह की झलक यहां साफ नजर आती है।

कांचीपुर– इस स्थान पर ही मणिपुर विश्वविद्यालय स्थित है। यहाँ ठहरने के पर्यटक विभिन्न होटलों या गेस्ट हाउस का प्रयोग कर सकते हैं।

लोकटक झील – यह मणिपुर का सबसे प्रसिद्ध झील में से एक माना जाता है। इस झील की अनुपम सुंदरता पर्यटक का मन मोह लेती है। करीव 40 वर्ग कीलोमीटर में फ़ैला यह एक प्राकृतिक झील है।

मणिपुर के जिले – About District of Manipur In Hindi

मणिपुर में कुल 9 जिले हैं। राज्य में जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला इम्फाल वेस्ट है। जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला चूराचांदपुर है।

मणिपुर के जिले का नाम – 1. इम्फाल वेस्ट, 2. इम्फाल ईस्ट जिला, 3. चन्डेल 4. उखरुल, 5. सेनापति, 6. चुराचांदपुर 7. थौबल 8. बिष्णुपुर, 9. तमेंगलॉन्ग जिला

मणिपुर कैसे पहुचें

आप भारत के किसी कोने से सड़क मार्ग द्वारा मणिपुर पहुँच सकते है। मणिपुर सड़क मार्ग द्वारा गुवाहाटी से NH-39 (राष्ट्रीय राजमार्ग) और सिल्चर से NH- 53(राष्ट्रीय राजमार्ग) से जुड़ा हुआ है। भारत के कई प्रमुख शहर से हवाई जहाज के द्वारा भी मणिपुर पहुँचा जा सकता है।

आपको Information about Manipur in Hindi – मणिपुर के बारे में जानिये मात्र 5 मिनट में शीर्षक वाला यह लेख आपको कैसा लगा, अपने सुझाव से जरूर अवगत करें।

मणिपुर का क्या अर्थ होता है?

मणिपुर भारत का एक रमणीक राज्य है। मणिपुर का अर्थ है? ‘मणियों या आभूषणों की भूमि।

इन्हें भी पढ़ें :-

Leave a Comment