वैज्ञानिक कनिष्क बिस्वास की जीवनी – Biography of Kanishka Biswas in Hindi

प्रो कनिष्क बिस्वास (Prof. Kanishka Biswas )भारत के प्रसिद्ध रसायन विज्ञानी हैं। उन्होंने सॉलिड स्टेट केमिस्ट्री, थर्मोइलेक्ट्रिक्स, अकार्बनिक नैनोमैटेरियल्स में विशेषज्ञता हासिल की है।

डॉ कनिष्क बिस्वास वर्ष 2021 में भारत का विज्ञान के क्षेत्र में सबसे बड़ा सम्मान शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से प्राप्त हुआ। यह पुरस्कार उन्हें केमिकल विज्ञान के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया गया।

वर्तमान में वे बंगलुरु स्थित जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च में रसायन संकाय में एसोसिएट प्रोफेसर के रूप में कार्यरत हैं।

वैज्ञानिक कनिष्क बिस्वास की जीवनी | BIOGRAPHY OF KANISHKA BISWAS IN HINDI
वैज्ञानिक कनिष्क बिस्वास

उन्होंने विशेष रूप से solid state inorganic chemistry के metal chalcogenides, थर्मोइलेक्ट्रिक सामग्री (thermoelectric materials), 2D layered materials और टोपोलॉजिकल इंसुलेटर (topological insulators) पर महारत हासिल की।

कनिष्क बिस्वास की जीवनी व शिक्षा – kanishka biswas key jeevani

प्रो. कनिष्क बिस्वास का जन्म 25 अक्टूबर 1982 को हुआ था। डॉ कनिष्क बिस्वास की education प्रोफ़ाइल की बात की जाय तो, इन्होंने वर्ष 2003 में पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित जदावपुर विश्वविधालय (Jadavpur University, Kolkata) से स्नातक की डिग्री प्राप्त की।

कोलकाता से B. Sc रसायन विज्ञान में Honors करने का बाद वे बंगलुरु चले गए। उन्होंने 2006 में बंगलुरु स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस से एमएस की डिग्री प्राप्त कि।

सन 2009 में  इसी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) बंगलुरु से उन्होंने पी एच डी की उपाधि ग्रहण की। पी एच डी की उपाधि उन्होंने प्रसिद्ध Prof. C. N. R. Rao के नेतृत्व में रसायन विज्ञान में शोध करते हुए प्राप्त किया।

उसके बाद उन्होंने 2009 से 2012 के बीच नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी(Northwestern University, USA) में पोस्ट डॉक्टोरल के लिए अनुसंधान किया।

उन्होंने अपना Post-doc के लिए Research प्रसिद्ध Prof. Mercouri G. Kanatzidis के मार्गदर्शन में किया। इस दौरान उन्होंने अकार्बनिक सामग्री (Inorganic Materials) और Solid State Chemistry में विशेषज्ञता प्राप्त की।

करियर

प्रो कनिष्क बिस्वास, पीएच.डी., FRSC वर्तमान में Associate Professor के रूप में जवाहरलाल नेहरू केंद्र के Advanced वैज्ञानिक अनुसंधान संकाय से जुड़े हैं। साथ ही वे एसीएस एप्लाइड एनर्जी मैटेरियल्स, एसीएस, USA के एसोसिएट एडिटर भी हैं।

अनुसंधान का क्षेत्र व योगदान

डॉ कनिष्क बिस्वास का शोध solid state inorganic chemistry के metal chalcogenides, थर्मोइलेक्ट्रिक मेटेरियल, 2डी स्तरित मेटेरियल, टोपोलॉजिकल इंसुलेटर पर केंद्रित रहा।

डॉ कनिष्क बिस्वास का नवीन थर्मोइलेक्ट्रिक सामग्री के विज्ञान और विकास में उत्कृष्ट योगदान माना जाता है।

उनका अनुसंधान लीड (पीबी) मुक्त उच्च प्रदर्शन थर्मोइलेक्ट्रिक सामग्री विकसित करने के लिए अकार्बनिक ठोस पदार्थों की संरचना और उनके गुण के बीच संबंधों की fundamental understanding पर आधारित है।

जो प्रभावी रूप से अपशिष्ट ताप को ऊर्जा में परिवर्तित कर सकता है। वह मेटल चाकोजेनाइड्स, थर्मोइलेक्ट्रिक्स, टोपोलॉजिकल क्वांटम मैटेरियल्स, 2डी मैटेरियल्स और पेरोव्स्काइट हैलाइड्स के सॉलिड स्टेट इन ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में रिसर्च कर रहे हैं।

अबतक डॉ कनिष्क बिस्वास के 130 के करीब शोध पत्र, 2 पुस्तकें तथा 6 पुस्तकों का प्रकाशन हो चुके हैं।

सम्मान और पुरस्कार

प्रोफेसर कनिष्क बिस्वास, वर्तमान में बंगलुरु स्थित विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान के एक स्वायत्त संस्थान, जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च (JNCASR) में एसोसिएट प्रोफेसर हैं।

सॉलिड-स्टेट अकार्बनिक केमिस्ट्री और थर्मोइलेक्ट्रिक एनर्जी कन्वर्जन के क्षेत्र में उनकी खोजों के लिए रसायन विज्ञान में प्रतिष्ठित शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

इसके अलावा भी डॉ कनिष्क बिस्वास को अबतक विज्ञान में योगदान के लिए अनेकों सम्मान और पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं।

  • वर्ष 2021 – मर्क युवा वैज्ञानिक पुरस्कार (रासायनिक विज्ञान)
  • वर्ष 2021 – शेख साकर करियर अवार्ड फेलोशिप
  • वर्ष 2021 – अकार्बनिक और भौतिक रसायन विज्ञान में अनुसंधान के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार
  • वर्ष 2021 – विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार
  • वर्ष 2020 – आईसीएससी मेटरियाल विज्ञान वार्षिक पुरस्कार भारत के MRSI द्वारा
  • वर्ष 2020 – लीडर ऑफ द रॉयल सोसाइटी ऑफ केमिस्ट्री (FRSC) के आमंत्रित फेलो।
  • वर्ष 2020 – शेख साकर करियर अवार्ड फेलोशिप, जेएनसीएएसआर, बैंगलोर द्वारा
  • वर्ष 2019 – स्वर्णजयंती फेलोशिप, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा
  • वर्ष 2019 – केमिकल रिसर्च सोसाइटी ऑफ इंडिया द्वारा (सीआरएसआई) कांस्य पदक
  • वर्ष 2017 – मैटेरियल्स रिसर्च सोसाइटी ऑफ इंडिया (MRSI) मेडल
  • वर्ष 2017 – जापान के क्योटो में IUMRS 2017 विली अवार्ड से सम्मानित
  • वर्ष 2016 – भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (INSA) द्वारा युवा वैज्ञानिक पदक
  • वर्ष 2016 – IUMRS-MRS सिंगापुर यंग रिसर्चर मेरिट अवार्ड्स

प्रो कनिष्क बिस्वास Contact details

Address:

New Chemistry Unit, JN Centre for Advanced Scientific Research, JakkurBengaluru 560 064, Karnataka, Office: (080) 2208 2678, Preferred Email: [email protected] Alternate Email: [email protected], Web page: http://www.jncasr.ac.in/kanishka/

आपको 2021 में विज्ञान के क्षेत्र में भारत का सबसे बड़ा सम्मान प्राप्तकर्ता वैज्ञानिक कनिष्क बिस्वास की जीवनी ( BIOGRAPHY OF KANISHKA BISWAS IN HINDI) जरूर अच्छी लगी होगी।

Leave a Comment