शोभा डे की जीवनी | Biography Of Shobhaa De in Hindi

शोभा डे की जीवनी | Biography Of Shobhaa De in Hindi

Facebook
WhatsApp
Telegram

शोभा डे की जीवनी, परिवार, बच्चे व प्रसिद्ध रचनायें – Biography Of Shobhaa De in Hindi

शोभा डे कौन हैं

शोभा डे की गिनती भारत के एक प्रसिद्ध लेखिका, स्तंभकार और उपन्यासकार के रूप में होती है। उन्होंने अनेकों किताबें और उपन्यास की रचना की। शोभा डे की जीवनी में हम जानेंगे की क्यों वे सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक मुद्दों पर अपने बेबाक लेखनी के लिए जानी जाती हैं।

शोभा डे अपने बेबाक लेखन की वजह से कई बार विवादों और आलोचना की भी शिकार बनी। लेकिन इस विवादों में फंसने के बावजूद भी उनकी लोकप्रियता कम होने के वजाय दिन-प्रतिदिन बढ़ती गई। आज प्रसिद्ध लेखिका शोभा डे की गिनती दक्षिण एशिया के सर्वश्रेष्ठ राइटर में की जाती है।

उन्होंने अपनी रचना में हर उम्र के पाठक का ध्यान रखा। उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया और द एशियन एज के लिए भी कॉलम लिखती हैं। इसके अलावा उन्होंने कई पत्र-पत्रिका और टीवी सीरियल के लिए भी स्क्रिप्टिंग लिखी।

इसके साथ ही लेखिका शोभा डे ने अपनी पुस्तक में महिलाओं के उत्थान से जुड़े कई गंभीर मुद्दों को भी बेबाक तरीके से उठाया। उन्होंने अपने लेखन में नए नए प्रयोग के लिए भी जानी जाती है। उनके द्वारा अपनी लेखनी में ‘हिंग्लिश’ भाषा का प्रयोग करनालोगों को खूब अच्छा लगा।

Table of Contents

खासकर युवा वर्ग द्वारा उनकी रचना को खूब पसंद और सराहा गया। पत्रकारिता में आने से पहले शोभा दे मॉडलिंग में भी अपना किस्मत अजमा चूंकि हैं। उन्होंने कई बड़े बड़े कंपनी के लिए मॉडलिंग की।

शोभा डे की जीवनी - Biography Of Shobhaa De in Hindi
शोभा डे की जीवनी – Biography Of Shobhaa De in Hindi

अगर आप Shobhaa De Age, Husband, Children, Family, Biography और उनके किताबों के वारें में जानना चाहते हैं। अथवा आप गूगल पर नीचे लिखे वाक्य को सर्च कर रहे हैं तो लेख आपके लिए है।

Biography Of Shobhaa De in Hindi, शोभा डे की जीवनी, शोभा डे का जीवन परिचय, शोभा डे जीवनी, Shobhaa De Biography in Hindi, शोभा डे, Shobha de, तो आईये भारत के इस प्रसिद्ध लेखिका शोभा डे की जीवनी विस्तार से जानते हैं :-

शोभा डे जीवनी – Biography Of Shobhaa De in Hindi Jivani

पूरा नाम शोभा डे
अन्य नाम शोभा राजाध्यक्ष
जन्म तिथि 7 जनवरी 1948
जन्म स्थानसतारा, महाराष्ट्र
पति का नाम दिलीप डे

प्रारम्भिक जीवन Early life and education

शोभा डे का जन्म 7 जनवरी 1948 को महाराष्ट्र के सतारा में एक सरस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनका पूरा नाम शोभा राजध्याय थी। शोभा डे की माँ एक गृहिणी महिला थी और उनके पिता जिला न्यायाधीश के पद पर थे।

शोभा डे चार भाई-बहनों में सबसे छोटी थी। मुंबई में पली-बढ़ी शोभा की प्रारम्भिक शिक्षा क्वीन मैरी स्कूल में हुई। उसके बाद उन्होंने मुंबई के सेंट जेवियर्स कॉलेज मुंबई, महाराष्ट्र से मनोविज्ञान में स्नातक की परीक्षा पास की। कहते हैं की शोभा डे बचपन में राज्य स्तर की एथलीट खिलाड़ी रह चूंकि हैं।

कहा जाता है की शोभा डे ने लंबी कूद और दौड़ में अपना रिकॉर्ड बनाया था। इसके अलावा उनका हॉकी और बास्केटबॉल प्रिय खेल था। लेकिन 17 साल की उम्र में मॉडलिंग का प्रस्ताव मिलते ही उन्होंने खेल छोड़ दिया।

हालांकि उनके माता-पिता द्वारा मॉडलिंग में कैरियर चुनने के फैसले का विरोध भी किया गया। शोभा डे ने अपने मॉडलिंग के दिनों में कई बड़ी कंपनियों जैसे एयर इंडिया और बॉम्बे डाइंग के लिए भी के लिए मॉडलिंग की थी।

पारिवारिक जीवन पति, बच्चे, परिवार – Shobha De Personal life

शोभा डे की जीवनी और उनके परिवरिक जीवन की बात की जाय तो उनके पति का नाम दिलीप डे है। उन्हें चार बच्चे हैं जिनके नाम अरुंधति, आदित्य, अवंतिका, आनंदिता है। कहा जाता है की शोभा डे की दो बार शादी हुई।

उनकी पहली शादी एक मारवाड़ी व्यवसायी परिवार के सुधीर व्रजलाल किलाचंद से हुई थी जिनसे उन्हें दो बच्चे थे। आगे चलकर उनसे तलाक हो गया तब शोभा डे ने शिपिंग उद्योग के एक बंगाली व्यवसायी दिलीप डे के साथ 1984 में दूसरी शादी की। उनसे उन्हें अरुंधति और आनंदिता नाम की बेटियां हैं। शोभा डे को आयशा नाम की एक पोती भी है।

करियर Career

शोभा डे का नाम दक्षिण एशिया के विशिष्ट साहित्यिक लेखिका में शामिल हैं। उन्होंने सबसे पहले 17 साल की उम्र में अपना कैरियर मॉडलिंग से शुरू की। उसके बाद करीब 5 साल के बाद सन 1970 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखी।

मास मीडिया के कोर्स करते समय उन्होंने सेलिब्रिटी एंड सोसायटी और स्टारडस्ट जैसे फिल्मी मैग्जीन में एडिटिंग का काम किया। अपनी बेबाक लेखनी के द्वारा उन्होंने एक अच्छे उपन्यासकार के रुप में लोगों के बीच अपनी छवि विकसित की।

शोभा डे ने मात्र 23 साल की उम्र में स्टारडस्ट पत्रिका की स्थापना की, जिसमें बॉलीवुड साक्षात्कार, गपशप और तस्वीरें सम्मिलित होती थी। इसके अलावा उन्होंने समाज और सेलिब्रिटी नाम से और दो पत्रिकाएँ लॉन्च कीं। उन्होंने अपनी कई किताबों में बेहिचक ‘हिंग्लिंश’ का प्रयोग किया, जिसे लोगों ने जमकर पसंद किया।

शोभा ने अपने उपन्यास सल्टरी डेज (Sultry Day), सैकण्ड थॉट्स (Second Thoughts), अनसरटेन लियासंस (Uncertain Liaisons) के जरिए खूब सुर्खियां बटोरीं। उन्होंने एक अच्छे लेखिका के साथ-साथ एक अच्छी ब्लॉगर और कॉलमिस्ट और स्क्रिप्टराइटर के रूप में अपने को विकसित किया।

टाइम्स ऑफ इंडिया में उनके द्वारा लिखी गई कॉलम ‘पॉलिटिकली इनकरेक्ट’ (Politically Incorrect) को लोगों ने खूब सराहा। इसके साथ ही उन्होंने अखवार और पत्रिका के लिए भी आर्टिकल लिखी।

उनके द्वारा लिखित पुस्तक का आज बिश्व के कई भाषाओं में अनुबाद हो चुका है। वर्तमान में वे मुंबई में रहते हुए “द वीक” के लिए लिखती हैं।

टीवी धारावाहिक के लिए लिखी पटकथा

इतना ही नहीं उन्होंने टीवी धारावाहिक ”स्वाभिमान”, ‘शांति और किटी पार्टी (Kitty Party) के लिए भी पटकथा लिखी। जिसे दूरदर्शन पर प्रसारित किया गया और लोगों ने खूब पसंद किया। आज वे एक अच्छे बेबाक राइटर के रूप में सफलता और सोहरत की ऊंचाई को छु चुकी हैं।

मशहूर लेखिका शोभा डे की मशहूर पुस्तकें :

शोभा डे को 20 से भी ज्यादा बेस्टसेलर किताबें लिखी जिसे उनका पाठक ने खूब पसंद किया। हमेशा वे अपने मुखर, सवछन्द विचारों के लिए जानी जाती है। आईये उनके द्वारा लिखित कुछ किताबों के नाम जानते हैं।

  1. सिस्टर्स (Sisters),
  2. शेठजी (Sethaji)
  3. स्पीडपोस्ट(Speedpost )
  4. स्नेपशॉट्स (Snapshots )
  5. संध्याज सीक्रेट (S’s Secret)
  6. सल्टरी डेज (Sultry Days),
  7. स्टेरी नाइट्स (Starry Nights),
  8. स्माल बेट्रयाल्स(Small betrayals),
  9. सेकण्ड थॉट्स (Second thoughts),
  10. स्टे्रंज आब्सेशन (Strange Obsession)
  11. शोभा एट सिक्सटी (Shobhaa At Sixty)
  12. शोभा: नेवर ए डल डे (Never A Dull De)
  13. अनसरटेन लियासंस (Uncertain Liaisons)
  14. शूटिंग फ्रॉम द हिप (Shooting from the Hip),
  15. द शोभा डे ओम्निबस (The Shobha Dé Omnibus)
  16. सेवंटी.. एंड टू हेल विद इट(Seventy And To Hell With It)
  17. सलेक्टिव मेमोरी(Selective Memory: Stories From My Life)
  18. सुपरस्टार इंडिया (Superstar India: From Incredible To Unstoppable)
  19. सर्वाइविंग मैन (Surviving Men: The Smart Woman’s Guide To Staying on Top)

शोभा डे की आत्मकथा ‘सिलेक्टिव मेमोरीज’

बहुत ही कम लोग को पता है की शोभा डे अपने कम के प्रतिबद्धता, सवछन्द लेखनी के अलावा अपने परिवार को प्राथमिकता देती हैं। शोभा डे ने लॉन्च की अपनी आत्मकथा ‘सिलेक्टिव मेमोरीज((Selective Memory: Stories From My Life) जिसमें अपने बचपन के दिनों के बारें में लिखा है।

उन्होंने अपनी आत्मकथा में अपने माता-पिता और भाई-बहनों के साथ विताए गए यादगार लमहें को बड़े ही मार्मिक तरीके से वर्णन किया है।

शोभा डे : विवादों से नाता है मगर लेखन भी खूब भाता है

शोभा दे जाने अनजाने में अक्सर विवादों के घेरे में रही है। एक बार प्रसिद्ध अभिनेता राजकपुर ने उनपर मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया था। क्योंकि शोभा को राजकपूर की प्रसिद्ध फ़िल्म ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ पसंद नहीं आई थी।

उन्होंने इस फिल्म की समीक्षा में फिल्म को नापसंद करते हुए हेड लाइन में लिखी की ‘सत्यम शिवम बोरडम’. इस बाद से नाराज होकर राजकपूर ने उनपर अदालत में मानहानि का केश दर्ज कर दिया जिस पर मामला कई साल तक अदालत में चलता रहा।

प्रसिद्ध लेखिका शोभा डे ने 2015 में प्रधान मंत्री मोदी पर ट्वीट करते हुए hमला किया। यह ट्वीट उन्होंने दुबई क्रिकेट स्टेडियम में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के उस भाषण के बाद कहा। जब मोदी साहब ने दुबई क्रिकेट स्टेडियम भारतीय को संबोधित करते हुए कहा की उन्होंने अपने सामने एक छोटा भारत देखा,

जहाँ लोग और दर्शक उन्हें “रॉक स्टार” के समान प्यार देते हैं। इस पर शोभा डे ने ट्वीट करते हुए लिखा की नरेंद्र मोदी कोई ‘रॉक स्टार’ नहीं हैं। क्योंकि उनका बॉलीवुड से कोई संबंध नहीं हैं।

ओलम्पिक खिलाड़ियों पर शर्मनाक बयान के लिए आलोचना

शोभा डे ओलम्पिक में भाग लेने गये भारतीय खिलाड़ियों पर भी बेहद शर्मनाक बयान देकर आलोचना की शिकार बनी थी। भारत की मशहूर लेखिका शोभा डे ने शूटर अभिनव ब्रिदा के प्रदर्शन से नाराज होकर कहा कि ओलम्पिक में हिस्सा ले रहे भारतीय खिलाड़ियों पर पैसा खर्च करना बर्बादी है।

बताते चले की उन्होंने यह बयान उस बक्त दिया था जब अभिनव बिंद्रा 10 मीटर रायफल शूटिंग में ब्रॉन्ज मेडल से चूक गए थे। हालांकि उनके इस तरह के बयान का ट्वीटर पर काफी मजाक उड़ाया गया और उनकी खूब आलोचन हुई।

जबाब में अभिनव बिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा की ”यह थोड़ी नाइंसाफी है। आपको अपने देश के एथलीट्स पर गर्व होना चाहिए। भारत की प्रसिद्ध महिला बॉक्सर मैरी कॉम ने भी ट्वीट करते हुए लिखा की इस तरह से देश के एथलीट्स को नीचा दिखाना निंदनीय है।

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कैप्टन ने भी ट्विटर पर यह लिखा की ‘मिस डे, हॉकी ग्राउंड पर 60 मिनट तक दौड़कर तो दिखाइए।

सम्मान व पुरस्कार

भारत की प्रसिद्ध लेखिका और स्तंभकार शोभा डे को फ्रेंच शैंपेन ब्रांड Veuve Clicquot ने उनकी उपलब्धियों के लिए Veuve Clicquot Business Woman of the Year सम्मान से सम्मानित किया। इस प्रकार 64 वर्ष की उम्र में वह इस पुरस्कार पाकर भारत की एकमात्र महिला लेखिका हैं।

2014 में अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर गूगल ने भारत की 20 सफल महिलाओं की सूची जारी की है जिसमें शोभा डे का भी नाम शामिल था। इस सूची में शोभा डे का नाम 18 वें नंबर पर था।

शोभा डे कौन हैं?

शोभा डे जिसका मूल नाम शोभा राजाध्यक्ष है एक जानी मानी भारतीय लेखिका और उपन्यासकार हैं।

आपको शोभा डे की जीवनी (Biography Of Shobhaa De in Hindi )से संबंधित संकलित जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी, अपने कमेंट्स से जरूर अवगत करायें।


इन्हें भी पढ़ें :



बाहरी कड़ियाँ



Leave a comment

Trending Posts