एमफिल और पीएचडी में क्या अंतर है बहुतों को नहीं पता …

By Amit
एमफिल और पीएचडी में क्या अंतर है
एमफिल और पीएचडी में क्या अंतर है

एमफिल और पीएचडी में क्या अंतर है बहुतों को नहीं पता। यह दोनों ही कोर्स को टीचिंग फील्ड में जाने का मजबूत आधार माना जाता है। इन कोर्स में छात्र को रिसर्च और थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिकल के बारें में जाननी जरूरी है।

एमफिल और पीएचडी में क्या अंतर है

मास्टर ऑफ फिलॉसफी (M Phil) और डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (PhD) में क्या अंतर हैं, इसे लेकर बहुत छात्र कनफूजन में रहते हैं। आज हम एमफिल और पीएचडी दोनों के बारें में भ्रम की स्थिति को दूर करेंगे।

ग्रेजुएशन अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद किए जाने वाले दोनों कोर्स शिक्षण क्षेत्र में प्रवेश के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करते हैं। इन दोनों के बीच का अंतर जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि M Phil और PhD दोनों क्या हैं।

क्या है M Phil और PhD में अंतर?

एक होता है मास्टर ऑफ फिलोसॉफी ((M Phil)) और दूसरा कहलाता है डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (PhD)।

- Advertisement -

एम फिल (M Phil)

मास्टर ऑफ फिलोसॉफी 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएट रिसर्च प्रोग्राम होता है। इसमें कॉमर्स स्ट्रीम, साइंस स्ट्रीम, लॉ स्ट्रीम, टीचिंग स्ट्रीम और ह्यूमैनिटीज स्ट्रीम के छात्र भाग ले सकते हैं।

मास्टर ऑफ फिलोसॉफी (M Phil) कोर्स में छात्रों को थ्योरी के साथ रिसर्च पर आधारित प्रैक्टिकल भी पूरा करना अनिवार्य होता है। इस डिग्री को नियमित या दूरस्थ शिक्षा पद्धति के द्वारा पूरा किया जा सकता है। एमफिल कोर्स पूरा करने का समय 1.5 से 2 साल तक का समय होता है।

इन्हें भी पढ़ें: सावधान ! एमफिल की डिग्री की मान्यता रद्द, नहीं लें इस कोर्स में प्रवेश

पीएचडी(PhD)

डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (PhD) को किसी भी विषय के अध्ययन का अंतिम चरण माना गया है। छात्र इस शोध कार्यक्रम को स्नातक और स्नातकोत्तर के डिग्री के बाद पूरा कर सकते हैं।

डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी के अंतर्गत छात्रों को शोध कार्यक्रम में एक विषय का को लाकर गहन रिसर्च करना होता है। इसके लिए छात्र को यूजीसी नेट और गेट जैसी प्रवेश परीक्षाएं पास करनी जरूरी है। पीएचडी की डिग्री के लिए छात्र के पास कम से कम 3 साल और अधिकतम 6 साल का समय होता है। इस अवधि के दौरन उन्हें अपना कोर्स पूरा करना है।

एमफिल कोर्स 1.5-2 साल तक चलता है जबकि पीएचडी करने के लिए आपको कम से कम 3 साल और अधिकतम 6 साल पूरे करने होते हैं।

जानें पीएचडी और एमफिल में अंतर

एमफिल की डिग्री पाने के लिए उम्मीदवार को अपने परफॉर्मन्स के आधार पर पूरा कर सकते हैं। वहीं पीएचडी की डिग्री हासिल करने के लिए उम्मीदवारों को प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है।

एमफिल के कोर्स करने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल ही होते हैं जबकि पीएचडी में एक्सपेरिमेंट्स के साथ रिसर्च भी करना होता है. एमफिल में जहां कई रिसर्च वर्क को एक साथ ही मिलाकर लिखा जाता है जबकि पीएचडी के लिए थीसिस, रिसर्च के बाद ही लिखी जाती है।

Share This Article