तमिलनाडु की सम्पूर्ण जानकारी – Information about Tamil nadu in Hindi

तमिलनाडु साउथ इंडिया का सबसे प्रमुख राज्य है। भारत के दक्षिणी राज्य में प्रमुख तमिलनाडु का प्राकृतिक सौन्दर्यता बड़ा ही मनमोहक है। प्राचीन काल में इस प्रदेश में कई राजवंशों ने शासन किया।

यह स्थल सदियों से तमिलभाषी लोगों की भुमि रही है। इसी कारण तमिलनाडु का पुराना नाम तमिलकम है। यहाँ पर विदेशियों जैसे पुर्तगाली, डच, फ्रांसीसियों और अंग्रेजों ने लंबे समय तक राज किया।

लेकिन तमिलनाडु के लोग अपने संस्कृति और परंपरा को संजोये रखा। यहां लोग धर्मावलम्बी होने के साथ-साथ बहुत ही शिष्ट और कर्तव्यपरायण हैं। तमिलनाडु में विश्व प्रसिद्ध कई अद्वितीय मंदिर स्थित हैं।

यहां की स्थापत्य कला की द्रविड़ शैली व वास्तुकला पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। वास्तुकला की द्रविड शैली तमिलनाडु की पहचान है।

यहां के निर्मित कुम्भकोणम, रामेश्वरम, महाबलीपुरम् आदि मंदिरों की भव्यता और अनोखी स्थापत्य शैली की कोई मिसाल नहीं है। पोंगल यहाँ के लोगों का मुख्य त्योहार है।

इस लेख में तमिलनाडु की संस्कृति, इतिहास, भाषा, तमिलनाडु के जिले, प्रमुख पर्यटक, रहन सहन व वेशभूषा एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारियाँ (Information about Tamilnadu in Hindi) विस्तार से जानते हैं।  

तमिलनाडु की सम्पूर्ण जानकारी | INFORMATION ABOUT TAMIL NADU IN HINDI
तमिलनाडु की सम्पूर्ण जानकारी – INFORMATION ABOUT TAMIL NADU IN HINDI

तमिलनाडु के बारे में जानकारी संक्षेप में – Brief Information about Tamil Nadu in Hindi

राज्य का नामतमिलनाडु (Tamil Nādu)
तमिलनाडु की राजधानीचेन्न्ई (Chennai)
राज्य की स्थापना दिवस26 जनवरी 1950
तमिलनाडु का क्षेत्रफल130058 वर्ग किलोमीटर
तमिलनाडु का राजकीय पशु(State Animal)नीलगिरी तहर
तमिलनाडु की राजकीय पक्षी(State Bird)  पन्ना कबूतर
तमिलनाडु की राजकीय फूल(State flower)  बचनाग
तमिलनाडु की राजकीय वृक्ष(State Tree)ताड़
तमिलनाडु का राजकीय फल (state fruit )कटहल
तमिलनाडु के प्रथम राज्यपालसरदार उज्जल सिंह
तमिलनाडु के प्रथम मुख्यमंत्रीपी. एस. कुमारस्वामी राजा
तमिलनाडु में कुल जिले की संख्या33
राज्य में लोकसभा की कुल सीटें39
राज्य में राज्‍यसभा की कुल सीटें18
विधानसभा की कुल सीटें224
तमिलनाडु सामान्य ज्ञान

तमिलनाडु का इतिहास – tamil nadu ka itihas in hindi

इस प्रदेश का इतिहास प्रागैतिहासिक कालीन माना जाता है। इतिहासकारों के अनुसार इस प्रदेश का इतिहास संभवतः सिंदू नदी घाटी सभ्यता से पूर्वकाल का हो सकता है।

इसके लिखित इतिहास की बात की जाय तो संगम ग्रंथों में इसका कुछ उल्लेख मिलता है लेकिन लेकिन स्पष्ट नहीं है। लेकिन पल्लव राजवंशों के शासनकाल से इस प्रदेश के बारें में लिखित इतिहास उपलबद्ध है।

सदियों तक यह भू-भाग चालुक्य, चोल, चेर और पंड्या साम्राज्य के शासकों के शासन का उठा-पटक का गवाह रहा। इन राजवंशों के काल में प्रचलित वास्तुकला आज भी देखी जा सकती है।

इस प्रदेश में पल्लव राजवंशों के समय द्रविड शैली की वास्तुकला अपने चरम पर थी। बाद में चोल राजाओं का राज्य हुआ जिन्होंने यहाँ करीब 200 साल तक राज किया।

चोल राजाओं के पतन के बाद तमिलनाडु पर बहमनी सल्तनत के तहद मुस्लिम शासकों का राज्य कायम हुआ। अलाउद्दीन खिलजी के सेनाप्रमुख ने भारत के सम्पूर्ण दक्षिण क्षेत्र पर अपना अधिकार कर लिया।

बाद में इस क्षेत्र में विजयनगर साम्राज्य ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली। विजयनगर के हिंदू राजाओं ने तमिलनाडु को अलाउद्दीन खिलजी के कब्जे से छिनकर अपने अधीन कर लिया।

तालीकोटा की लड़ाई के बाद विजयनगर साम्राज्य का पतन हो गया। कलांतर में इस प्रदेश पर पुर्तगाली, फ्रांसीसी, डच और अंग्रेजों ने पहले व्यपारिक केंद्र खोला।

लेकिन अंग्रेजों ने यहाँ ईस्ट इंडिया कंपनी के तहद बाकी यूरोपीय देशों का वर्चस्व खत्म कर दिया। धीरे-धीरे उन्होंने तमिलनाडु सहित पूरे भारत को अपने अधीन कर लिया।

तमिलनाडु राज्य का गठन

संयुक्त मद्रास राज्य के पुनर्गठन के बाद दक्षिण भारत का तमिलनाडु एक राज्य के रूप में अस्तित्व में आया। सन 1960 में राज्य के गठन के समय इसका नाम मद्रास राज्य था।

लेकिन सन 1969 में मद्रास राज्य का नाम बदलकर तमिलनाडु रखा गया। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई है जो इस राज्य का सबसे बड़ा शहर माना जाता है।

तमिलनाडु के राजनीतिक व्यवस्था

भारत के दक्षिण मे स्थित यह राज्य 234 विधान सभा सीटों में बंटा हुआ है। राज्य में लोकसभा की सीटों की संख्या 39 तथा राज्यसभा की कुल सीटों 18 है।

सन 1950 में राज्य के गठन के बाद इसके प्रथम मुख्यमंत्री पी. एस. कुमारस्वामी राजा थे। तमिलनाडु के प्रथम राजपाल होने का श्रेय सरदार उज्जल सिंह का प्राप्त है।

तमिलनाडु में कितने जिले हैं उनके नाम

तमिलनाडु में कुल 33 जिले हैं। इन जिलों के नाम इस प्रकार हैं।

चेन्नई जिला, डिंडिगुल जिला, तंजावुर जिला, अरियालूर ज़िला, ईरोड जिला, कल्लाकुरिची ज़िला, कांचीपुरम जिला, कुड्डलोर जिला, कृष्णगिरि जिला, कन्याकुमारी जिला, करूर जिला, कोयम्बतूर जिला, तिरुचिरापल्ली जिला,

तिरुपुर जिला, तिरुवन्नामलई जिला, तिरुवल्लुर जिला, तिरुवारुर जिला, तिरूनेलवेली जिला, तूतुकुड़ी जिला, तेनी जिलारामनाथपुरम जिला, विरुधुनगर जिला, विलुप्पुरम जिला, वेल्लूर जिला, शिवगंगा जिला,

सेलम जिला, धर्मपुरी जिला,नागपट्टिनम जिला, नामक्कल जिला, नीलगिरि जिला, पुदुकोट्टई जिला, पेरम्बलुर जिला और मदुरई जिला।

तमिलनाडु का भूगोल – tamil nadu information in hindi

भारत के सुदूर दक्षिण में स्थित इस राज्य के दक्षिण में तीन महासागर आकर का मिलन होता है। यह कहा जा सकता है की तमिलनाडू बंगाल की खाड़ी, अरब सागर और हिंद महासागर के मुहाने पर स्थित है।

तमिलनाडु की सम्पूर्ण जानकारी | INFORMATION ABOUT TAMIL NADU IN HINDI
Photo by Mani Karthik on Pexels.com

भारत के राज्य तमिलनाडु का क्षेत्रफल 130058 वर्ग किमी है। तमिलनाडु के चौहद्दी के रूप में इसके पूरब में बंगाल की खाड़ी और पश्चिम में केरल स्थित है। इसके उत्तर में आंध्रप्रदेश व कर्नाटक और दक्षिण में हिन्द महासागर स्थित है।

तमिलनाडु की प्रमुख नदियों में कावेरी, पलार, नोय्यल, थामिराबरानी, वैगई, मोयर, पेन्‍नायर और अमरावती के नाम हैं। तमिलनाडु के प्रमुख शहर में चेन्नई, कोयम्बतूर, मदुरै, सालेम, तिरुचिरापल्ली, तिरुपुर, वेल्लोर आदि आते हैं।

चावल, ज्वार, बाजरा, मक्का तथा दलहनी फसल तमिलनाडु के मुख्य फसल कहलाता है। यहाँ के नकदी फसल में कपास, गन्ना, चाय, कॉफी और नारियल की खेती प्रसिद्ध है।

तमिलनाडु की संस्कृति – Information about culture of tamil nadu in hindi

तमिलनाडु की संस्कृति काफी प्राचीन मानी जाती है। इस राज्य की संस्कृति को यहाँ मनाये जाने वाले त्योहार पोंगल व जलीकट्टू के दौरान देखा जा सकता है। यहाँ के प्राचीन मंदिर से भी तमिलनाडु के प्राचीन संस्कृति की झलक मिलती है।

तमिलनाडु के कई लोकनृत्य प्रसिद्ध हैं जो इस राज्य की संस्कृति और परंपरा को दर्शाती है। इसमें तमिलनाडु का tamil nadu lok nritya चककई अट्टम सबसे प्रसिद्ध है। तमिलनाडु के प्रमुख नृत्य भरतनाट्यम इसके जीवंत सांस्कृति को दर्शाता है।

अंग्रेजों ने तमिलनाडु सहित पूरे भारत पर राज किया। लेकिन तमिलनाडु के निवासियों के हृदय में बसे उनके पुरातन संस्कृति के प्रेम को परिवर्तित करने में कामयाब नहीं हो सके।

तमिलनाडु का रहन सहन

किसी भी प्रदेश के रहन सहन वहाँ की वेशभूषा, आवास, नृत्य और त्योहार से साफ दिखाई पड़ता है। तमिलनाडू भारत के एक संपन्न राज्य है जो इसके रहन सहन में साफ दृष्टिगोचर होती है। तमिलनाडु के लोग पक्के मकान में रहते हैं।

समुन्द्र के किनारे स्थित होने के कारण यहाँ गर्मी ज्यादा पड़ती है। यहाँ के लोगों के आजीविका का मुख्य साधन खेती के साथ मछली पालन है। यहाँ के लोग सभी त्योहारों को बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाते हैं।

तमिलनाडु का भाषा (tamilnadu ki bhasha) – Information About tamil nadu language in hindi

तमिलनाडु में तमिल भाषा बोली जाती है। यह भारत के दक्षिण में स्थित तमिलनाडु राज्य की आधिकारिक भाषा है। तमिलभाषी प्रदेश होने के कारण ही इस प्रदेश का नाम तमिलनाडु पड़ा। तमिल भाषा का इतिहास अति प्राचीन माना जाता है।

इसके अलाबा यहाँ अंग्रेजी का भी प्रयोग किया जाता है। अब धीरे-धीरे यहाँ के लोग हिन्दी भाषा भी बोलने और समझने लगे हैं। इसके अलाबा तमिलनाडु के कुछ विशेष क्षेत्र में लोग कन्नड, तेलगु और मलयालम भी बोलते हैं।   

तमिलनाडु का भोजन – traditional food of tamil nadu in hindi

तमिलनाडु के पारंपरिक भोजन में चेतेनाडु, मसाला डोसा, इडली, सांभर, उतपम, सादा डोसा, वडा आदि प्रमुख हैं। तमिलनाडु के मुख्य भोजन में चावल की प्रधानता दिखती है।

यहाँ लोग लेमन चावल, सांभर चावल, दही चावल आदि खूब प्रयोग करते हैं। यहाँ के भोजन में नारियल और इमली का भी खूब इस्तेमाल किया जाता है।

तमिलनाडु में रसम, मटन करी, प्यासम, वेज व नन भेज बिरयानी भी खूब पसंद किया जाता है। स्वास्थ्य की दृष्टि से तमिल नाडु के भोजन बड़ा ही लाभप्रद माना जाता है। क्योंकि यहाँ के अधिकांश व्यंजन भाप से तैयार किये जाते हैं।

तमिलनाडु का पहनावा – traditional dress of tamil nadu in hindi

तमिलनाडु की वेशभूषा में यहाँ के पुरुष कमर के ऊपर धोती को लूँगी की तरह पहनते हैं। शरीर के ऊपरी हिस्से में वे शर्ट पहनते हैं। कंधे पर गमछे की तरह एक लंबा परिधान रखा जाता है।

तमिलनाडु की महिलायें काजीवरम साड़ी पहनती हैं। लेकिन आधुनिकता की दौर में लोग शर्ट पेंट और जींस पेंट भी पहनने लगे हैं। इस प्रकार तमिलनाडु का वेशभूषा क्या है आपको पता चल गया होगा अव हम यहाँ के त्योहार के बारें में जानते हैं।

तमिलनाडु की सम्पूर्ण जानकारी | Information about Tamil nadu in Hindi
तमिलनाडु के महिलाओं के प्रारंपरिक परिधान – (फोटो – storevip2h.m)

तमिलनाडु का प्रमुख त्योहार – information about Tamil nadu festivals in hindi

तमिलनाडु में मनाये जाने वाले प्रमुख त्योहार में पोंगल प्रसिद्ध है। तमिलनाडु में चार दिनों तक चलने वाला सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है। तमिल हिंदुओं का यह सबसे बड़ा त्योहार है जो जनवरी माह में मनायी जाती है।

यह वहीं समय होता है जब उत्तर भारत में मकर संक्रांति मनायी जाती है। इस त्योहार को फसल के साथ जोड़कर भी देखा जाता है। इसके अलावा यहाँ जलीकट्टू भी प्रसिद्ध है जिसमें सांड पकड़ने की कोशिस की जाती है।    

तमिलनाडु के मुख्य पर्यटक स्थल – Tamilnadu Tourist Places

तमिलनाडु में पर्यटन के लिए कई नाम प्रसिद्ध हैं। जिसमें तमिलनाडु के मंदिर, दुर्ग, धार्मिक स्थल, महल, समुन्द्री बीच आदि के नाम आते हैं। आईये जानते हैं तमिलनाडु के मुख्य पर्यटक स्थल के बारें में :-

  • अन्नानगर टॉवर पार्क (Anna Nagar Tower Park)
  • कोडाइकनाल (Kodaikanal),
  • मरीना बीच (Marina Beach)
  • वेल्लोर दुर्ग (Vellore Fort)
  • कांचीपुरम (Kanchipuram)
  • रामेश्वरम (Rameswaram)
  • अमीर महल (Amir Mahal)
  • वेलनकन्नी (Velankanni)
  • महाबलीपुरम (Mahabalipuram)
  • कन्याकुमारी (Kanyakumari)
  • इल्लियोट बीच (Elliot Beach)
  • मीनाक्षी मंदिर मदुराई :
  • ब्रिहदिश्वर मंदिर तंजावर
  • अरिनगर अन्ना चिड़ियाघर
  • गुइंडी राष्ट्रीय उद्यान
  • बेदानथंगल पक्षी अभयारण्य
  • उदगमंडलम(Udagamandalam)
  • पार्थसारथी मंदिर (Parthasarathy Temple)
body of water during golden hour
Photo by Sebastian Voortman on Pexels.com

तमिलनाडु से जुड़ी रोचक जानकारी – Interesting Facts about Tamil Nadu in Hindi

  • तमिलनाडु राज्य की स्थापना 01 नवम्बर 1956 को हुआ था।
  • तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई है जिसका पहले नाम मद्रास था।
  • ब्रिटिश शासन के दौरान तमिलनाडु मद्रास प्रेसिडेंसी का भाग था।
  • तमिलनाडु का कुल क्षेत्रफल 130,060 वर्ग किमी है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से तमिलनाडु भारत का 10वा राज्य है।
  • इस राज्य की मुख्य भाषा तमिल है जो दुनियाँ की सबसे पुरानी भाषा मानी जाती है।
  • इस राज्य की संस्कृति अति प्राचीन संस्कृति में से एक है।
  • पोंगल के अवसर पर मनाए जाने वाला जल्लीकट्टू तमिलनाडु का सबसे लोकप्रिय खेल है।
  • प्राचीनकाल में मुख्य रूप से तीन राजवंशों चेर,चोल और पांड्य ने इस क्षेत्र पर राज्य किया।
  • तमिलनाडू के मेरुर ग्राम में पल्लव और चोल कालीन करीब 200 अभिलेख प्राप्त हुए हैं।
  • इस राज्य में पाये जाने वाले ‘नील कुरिंजी’ नामक फूल 12 साल में एक बार खिलते हैं।
  • तमिलनाडु की 8 ऐतिहासिक इमारतें व संरचनाएं यूनेस्कों की विश्व विरासत सूची में सम्मिलित हैं।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से तमिलनाडु भारत का छठां सबसे बड़ा राज्य है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (F.a.q)

तमिलनाडु क्या है?

तमिलनाडु दक्षिण भारत का एक राज्य है। यहाँ की भाष तमिल है जो दुनियाँ की प्राचीन भाषा मानी जाती है।

तमिलनाडु कहाँ है?

तमिलनाडु भारत के बिल्कुल दक्षिण में तीन महासागर के मुहाने के पास स्थित है। इसका क्षेत्रफल 130,060 वर्ग किमी और राजधानी चन्नई है।

तमिलनाडु की स्थापना कब हुई थी?

26 जनवरी 1950 को इस राज्य का गठन किया गया था, उस बक्त इसका नाम मद्रास स्टेट था। बाद में 14 जनवरी 1969 को इसकी सीमाएं का फिर से निर्धारित किया गया और इसका नाम तमिलनाडु रखा गया।

तमिलनाडु किसके लिए प्रसिद्ध है?

तमिलनाडु सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है। इस राज्य के 8 चीज विश्व विरासत की सूची में शामिल है।

तमिलनाडु का पुराना नाम क्या है

तमिलनाडु आजादी के समय मद्रास प्रेसिडेंसी का हिस्सा था। आजादी के बाद यह मद्रास स्टेट कहलाया जिसे बाद में तमिलनाडु नाम रखा गया।




Leave a Comment