तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी  | Information about Telangana in Hindi

तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी  | INFORMATION ABOUT TELANGANA IN HINDI

तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी  | Information about Telangana in Hindi

Facebook
WhatsApp
Telegram

भारत के 29 वें राज्य तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी – Information about Telangana in Hindi

भारत के राज्य तेलंगाना का परिचय – telangana information in hindi

तेलंगाना (State of India) भारत के दक्षिण-पूर्व में स्थित देश का 29 वां राज्य है। यह राज्य नया है लेकिन इस प्रदेश का इतिहास कई दशक पुरानी है। यह राज्य कभी आंध्रप्रदेश का एक अहम भाग था।

पृथक राज्य के लिए वर्षों तक आंदोलन चला। फलतः 2 जून 2014 को तेलंगाना भारत का एक नए राज्य के रूप में आस्तित्व में आया। तेलंगाना दो शब्द तेलगु और आंगना का संगम है।

जहाँ तेलगु भाषा का प्रतिनिधित्व करता है और आंगना का मतलब आप जानते ही हैं। इस प्रकार तेलांगना का आशय तेलगु भाषी के आंगना से है। क्योंकि तेलगु यहाँ की मुख्य भाषा है। राज्य के 76% लोग तेलगु भाषा बोलते हैं।

तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी  | INFORMATION ABOUT TELANGANA IN HINDI
तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी  | INFORMATION ABOUT TELANGANA IN HINDI

प्राकृतिक सौन्दर्य की दृष्टि से तेलांगना भारत का अनुपम राज्य है। इस लेख में तेलंगाना की वेशभूषा, तेलंगाना का रहन-सहन और तेलंगाना की संस्कृति का विस्तार से वर्णन है।

इस राज्य  के महान हस्तियां में प्रसिद्ध तबला वादक जाकिर हुसैन, सरोजनी नायडू, सानिया मीरजा और क्रिकेटर वी.वी.वी.लक्ष्मण और कवि बममेरा पोतना के नाम सम्मिलित हैं।

तेलंगाना के बारे में जानकारी हिंदी में – Brief Information of Telangana in Hindi

राज्य का नामतेलंगाना (Telangana)
तेलंगाना की राजधानीहैदराबाद
तेलंगाना का स्थापना दिवस2 जून 2014
तेलंगाना का क्षेत्रफल114840 वर्ग किलोमीटर
तेलंगाना का राजकीय पशु(State Animal)चीतल (चितकबरा हीरण)
तेलंगाना की राजकीय पक्षी(State Bird)  नीलकंठ
तेलंगाना की राजकीय फूल(State flower)  कसोद
तेलंगाना की राजकीय वृक्ष(State Tree)जामई
तेलंगाना का राजकीय फल (state fruit)आम
तेलंगाना के प्रथम राज्यपालए श्रीनिवासन लक्ष्मी नरसिम्हन
तेलंगाना के प्रथम मुख्यमंत्रीके. चंद्रशेखर राव
तेलंगाना में कुल जिले की संख्या33
राज्य में लोकसभा की कुल सीटें17
राज्य में राज्‍यसभा की कुल सीटें07
विधानसभा की कुल सीटें119
तेलंगाना का राजकीय खेलकबड्डी
तेलंगाना का राजकीय नदीगोदावरी

तेलंगाना का इतिहास हिंदी में – history of telangana in hindi

इस क्षेत्र का इतिहास बहुत ही पुराना है। कभी इस प्रदेश के कुछ क्षेत्र पर सातवाहन वंश का शासन रहा। कलांतर में यहाँ काकतीय वंश के शासक ने वारंगल को अपनी राजधानी बनाकर शासन किया।

बाद में दिल्ली सल्तनत के अलाउद्दीन खिलजी के सेनापति ने काकतीय वंश का पतन कर दिया। आगे चलकर इस क्षेत्र के कुछ भागों पर मुगल साम्राज्य स्थापित हो गया।

मुगलों के बाद 1769 में यहाँ निजाम वंश के शासक ने हैदरवाद को राजधानी बनाकर शासन करने लगा। भारत की आजादी तक यहाँ हैदरवाद रियासत का हिस्सा था।

तेलंगाना का आधुनिक इतिहास

आजादी के बाद हैदरवाद के निजाम ने भारत में विलय से इनकार कर दिया। लेकिन भारत सरकार ने करबाई कर हैदराबाद को भारत में विलय कर हैदराबाद प्रांत बनाया।

इधर मद्रास प्रांत से अलग होकर आंध्रप्रदेश एक अलग राज्य बना। लेकिन 1953 में एक प्रस्ताव के तहद हैदराबाद प्रांत और आंध्र राज्य को विलय की मंजूरी दी गई। 20 फरवरी 1956 को तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के नेताओं के बीच बैठक हुई।

इस बैठक में एक समझौते पर सहमति बनी। फलतः राज्य पुनर्गठन अधिनियम के अनुसार भाषाई आधार पर हैदराबाद प्रांत को आंध्र में विलय कर दिया गया। इस प्रकार तेलांगन, आंध्रप्रदेश राज्य का हिस्सा बना।

तेलंगाना राज्य का इतिहास

आजादी के बाद से ही तेलांगना के लोग एक अलग राज्य चाहते थे। आंध्र प्रदेश में विलय से नराज तेलंगाना के कुछ लोग आंदोलन पर उतर आये।

तेलंगाना समर्थक नेता मारी चन्ना रेड्डी ने तेलंगाना प्रजा समिति नामक पार्टी का गठन कर आंदोलन को हवा दी। इस आंदोलन को तेलांगना के लोगों और छात्रों का पूरा समर्थन मिला।

आंदोलन इतना जोर पकड़ लिया की इस आंदोलन में कई लोग मारे भी गये। हालांकि अलग राज्य को लेकर तेलंगाना प्रजा समिति के आंदोलन के विरोध में ‘जय आंध्र’ आंदोलन भी शुरु हुआ।

जिसका मकसद था की राज्य का बंटवारा रोकना। लेकिन पृथक तेलांगना राज्य को लेकर आंदोलन चलता रहा। बाद में तेलंगाना आंदोलन को तेज करने के लिए चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना राष्ट्र समिति नामक पार्टी बनाई।

अलग तेलंगाना राज्य को लेकर 2009 में चंद्रशेखर राव अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ गये। इसके परिणाम स्वरूप तत्कालीन केंद्र सरकार दबाव बढ़ने लगा।

फलतः फरवरी 2010 में पूर्व न्यायाधीश श्रीकृष्ण के नेतृत्व में पांच सदस्यीय समिति बनाई गई। इस सिमिति के रिपोर्ट के बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 2013 में पृथक तेलंगाना राज्य के गठन को मंजूरी दे दी।

इस प्रकार 2 जून 2014 को तेलंगाना (Telangana) भारत का 29 वां राज्य बना।

Google web stories – राजस्थान के किले और महल

तेलांगना की राजधानी – information about telangana capital in hindi

सन 2014 में राज्य का गठन के साथ Telangana Ki Rajdhani हैदराबाद बनाई गई। इस प्रकार हैदराबाद अभी आंध्रप्रदेश और तेलांगना दोनों की राजधानी है। हैदराबाद एक इतिहासिक शहर है। पर्यटन के दृष्टि से यह शहर बेहद ही खास है।

राज्य व्यवस्था

तेलंगाना में द्वि-सदनीय शासन व्यवस्था है। राज्य में विधान परिषद की संख्या 40 और विधानसभा के कुल सदस्य की संख्या 119 है। इस राज्य से 17 लोकसभा के तथा 7 राज्य सभा के सदस्य चुने जाते हैं।

प्रसासनिक दृष्टि से तेलांगना 33 जिलों में विभक्त है। तेलंगाना के प्रमुख शहर में हैदराबाद, निजामाबाद, करीमनगर, वारंगल, खम्मम, आदिलाबाद और सिकन्दराबाद शामिल हैं।

तेलंगाना की संस्कृति – telangana culture in hindi

इस राज्य पर हिन्दू राजाओ के साथ-साथ मुस्लिम राजाओं ने भी लंबे समय तक राज किया। इस कारण तेलंगाना में मिश्रित संस्कृति देखने को मिलती है।

तेलंगाना में मनाये जाने वाले उत्सव, नृत्य, ख़ान-पान और वेशभूषा से यहाँ की संस्कृति को नजदीक से समझा जा सकता है।

तेलंगाना राज्य के लोक नृत्य (telangana ka lok nritya)

भारत के राज्य तेलंगाना के प्रमुख नृत्य की बात की जाय तो इसमें ‘पेरीनी शिवतांडवम’ का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। तेलंगाना के लोक नृत्य पेरीनी शिवतंदवम या पेरीनी थांडवम एक प्राचीन नृत्य है।

तेलंगाना की भौगोलिक स्थिति

तेलंगाना की क्षेत्रफल की बात की जाय तो यह 114840 वर्ग किलोमीटर में फैला है। क्षेत्रफल के हिसाब से तेलांगना भारत के राज्यों में 12 वां स्थान रखता है।

इस राज्य की सीमा देश के पाँच राज्यों आन्ध्र प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र उड़ीसा, छत्तीसगढ़ की सीमा से लगती है। राज्य में बहने वाली तेलंगाना की प्रमुख नदियाँ (Rivers in Telangana) में कृष्णा, गोदावरी, तुंगभद्रा, मुसी, प्रन्हिता और भीमा के नाम शामिल हैं।

राज्य में बहने वाली गोदावरी नदी को दक्षिण की गंगा भी कहा जाता है। यहाँ के प्रमुख खनिज में लोहा, कोयला, चुना पत्थर आदि शामिल हैं।

तेलंगाना की चौहद्दी – इस राज्य के उत्तर में महाराष्ट्र तथा दक्षिण में आंध्रप्रदेश स्थित है। इसके उत्तर पूरब में छतीसगढ़ और पश्चिम में कर्नाटक स्थित है। 

तेलंगाना की भाषा – telangana ki bhasha in hindi

तेलंगाना की भाषा किया है इसके बारें मे संक्षेप में जानते हैं। यहाँ की अधिकांश आवादी तेलगु भाषा बोलती हैं। तेलंगाना में उर्दू बोलने वालों की संख्या दूसरे नंबर पर आती है।

फलतः तेलंगाना की राजभाषा के रूप में तेलुगू (Telgu) और ऊर्दू को मान्यता प्राप्त है। तेलगु भाषा का इतिहास अत्यंत ही समृद्ध है। इन भाषाओं के अलावा तेलंगाना में उर्दू, अंग्रेजी, हिन्दी, कन्नड और उडिया भी बोली जाती है।

तेलंगाना का रहन-सहन – telangana ka rahan sahan

तेलांगना की अर्थव्यवस्था खेती पर निर्भर करती है। यहाँ चावल की खेती खूब होती है। इसके अलाबा यहाँ  मक्का, ज्वार, तिल, गन्ना, अरंडी, कपास, मूंगफली, सोयाबीन और तम्बाकू की खेती की जाती है।

आई टी सेक्टर में यह राज्य भारत में अहम स्थान रखता है। तेलंगाना की अर्थव्यवस्था में सेवाओ का बड़ा योगदान माना जाता है।

तेलंगाना का मुख्य भोजन – information about telangana food in hindi

तेलंगाना के लोगों का मुख्य भोजन चावल है। क्योंकि इस राज्य में चावल की बहुत पैदावार होती है। चावल को यहाँ कढ़ी व अन्य व्यंजन के साथ खाया जाता है। इस क्षेत्र पर लंबे समय तक निजामों ने राज्य किया।

जो तेलंगाना के ख़ान-पान में दृष्टिगोचर होता है। यहाँ के प्रसिद्ध भोजन में नारियल, इमली, मक्का, मूंगफली और गन्ना का बहुतायत रूप में इस्तेमाल होता है।

तेलंगाना का प्रमुख भोजन में हैदरवादी बिरयानी काफी लोलप्रिय हैं। इसके अलावा यहाँ रोटी आधारित व्यंजन भी खूब पसंद किए जाते हैं.  

तेलंगाना के जिले

जब तेलंगाना राज्य का 2014 में गठन हुआ था तब इसके अंदर 10 जिले थे। गठन के 2 वर्ष के बाद 21 और जिले बनाये गए। सन 2019 में दो और नए जिले का गठन किया गया। इस प्रकार वर्तमान में तेलंगाना में कुल 33 जिले हैं।

तेलंगाना के जिलों के नाम हैं – 1.आदिलाबाद जिला  2.कोमराम भीम जिला 3. भद्राद्री कोठागुडम जिला  4. जयशंकर भूपपाल जिला, 5. जोगुलबा गडवाल जिला  6. हैदराबाद जिला 7. जागतिअल जिला, 8. जनगांव जिला

9. कामारेड्डी जिला, 10. करीमनगर जिला 11. खम्मम, 12. महबुबाबाद जिला  13.  महबूबनगर जिला 14. मंचेरिअल जिला 15. मेडक जिला 16. मेडचाल मल्काजगिरि जिला  17. नलगोंडा जिला  18. नगरकुरनूल जिला   

19. निर्मल जिला  20. निजामाबाद जिला  21. रंगारेड्डी जिला  22. पेड्डापल्ली जिला 25. राजन्ना सिर्सिल्ला जिला 23. संगारेड्डी जिला 24. सिद्दिपेट जिला  26. सूर्यापेट जिला  27. विकाराबाद जिला  28. वनापर्थी जिला

29. वारंगल शहर जिला 30. वारंगल (ग्रामीण) जिला 31. यदाद्रि भुवनगिरी जिला 32. नारायणपेट 33. सम्मक्का मुलुगु   

तेलंगाना राज्य की वेशभूषा – telangana ki veshbhusha in hindi

Telangana ka pehnawa में यहाँ की महिलाये साड़ी पहनती हैं। तेलंगाना वेशभूषा में साड़ी तेलंगाना की पारंपरिक वेशभूषा में शामिल है। वहीं लड़कियां कुर्ती व सलवार धारण करती है। जबकि यहाँ के पुरुष कुर्ता पाजामा,पेंट शर्ट और जींस धारण करना पसंद करते हैं।

तेलंगाना का धर्म – religion in telangana

तेलंगाना में लंबे समय तक निजामों का शासन रहा है। इस राज्य में कई धर्मों के लोग मिलजुल कर रहते हैं। तेलंगाना में सबसे अधिक हिन्दू धर्म के लोग रहते हैं जिसकी आवादी 80% से अधिक है।

राज्य में दूसरे नंबर पर मुस्लिम धर्म के लोग हैं। इन धर्मों के अलावा यहाँ सिक्ख, ईसाई व अन्य धर्म के लोग भी रहते हैं।

तेलंगाना के त्योहार

जैसा की हम जानते हैं तेलांगना में सबसे अधिक हिन्दू आवादी है। यहाँ आषाढ़ के महीने में बोनालू नामक त्योहार बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है। इस त्योहार में देवी काली की पूजा की जाती है।

इसके अलावा यहाँ संक्रांति, महाशिवरात्री, उगादि, दीपावली, ईद, बकरीद, मुहरम, क्रिसमस, गुरु नानक जयंती बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है।   

तेलंगाना में घूमने लायक मुख्य दर्शनीय व पर्यटन स्थल – Tourist Places of Telangana in Hindi

  • मेदक (Medak),
  • चार मीनार – (Charminar )
  • वारंगल (Warangal),
  • अनंतागिरी हिल्स (anantgiri Hills)
  • नलगोंडा (Nalgonda),
  • खम्मम (Khammam),
  • रंगारेड्डी (Ranga Reddy),
  • संगारेड्डी (Sanga Reddy),
  • निजामाबाद (Nizamabad),
  • रामागुंडम (Rama Gundam),
  • बिरला मंदिर (Birla Temple),
  • महबूबनगर (Mahbubnagar),
  • बालाजी मंदिर (Balaji Temple),
  • गोलकुंडा का किला (Golkonda Fort),
  • हुसैन सागर झील (Hussain Sagar Lake),
  • चौमहल्ला पैलेस (Chowmahalla Palace),
  • सालारजंग संग्रहालय (Salarganj Museum),
  • नेहरू जूलॉजिकल पार्क (Nehru Zoological Park),
  • ताज फलकनुमा पैलेस (Taj Falaknuma Palace),

तेलंगाना राज्य से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य – Interesting Facts about Telangana in Hindi

  • तेलंगाना भारत का 29वां राज्य है। जो जनसंख्या और क्षेत्रफल की दृष्टि से देश का 12वां सबसे बड़ा राज्य है।
  • तेलंगाना के पड़ोसी राज्य में आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और ओडिशा हैं।
  • तेलंगाना का क्षेत्रफल करीब 114, 840 वर्ग किलोमीटर है, जो इंगलेंड के लगभग बराबर है।
  • इस राज्य में विधानसभा की 119 और लोकसभा की 17 सीटें हैं।
  • तेलंगाना के प्रथम मुख्यमंत्री होने का गौरव ‘कालवाकुंटला चंद्रशेखर राव को प्राप्त है।
  • इस राज्य की मुख्य भाषा तेलगु है जिसे यहाँ के करीब 76% लोग प्रयोग करते हैं।
  • तेलंगाना में 86% हिन्दी, 12% मुस्लिम और बांकी अन्य संप्रदाय के लोग रहते हैं।
  • राज्य की कुल साक्षरता दर 67.2 % के करीब प्रतिशत है।
  • कृष्ण और गोदावरी नदी राज्य की सबसे बड़ी नदी है।
  • तेलंगाना का सबसे बड़ा शहर हैदराबाद है जो इसकी राजधानी भी है।
  • भौगोलिक दृष्टि से तेलंगाना भारत के प्रायद्वीपीय भाग में डेक्कन पठार पर स्थित है।

तेलंगाना राज्य कब बना ?

भारत के 29 वें राज्य के रूप में आंध्रप्रदेश से पृथक तेलंगाना राज्य का गठन हुआ। इस प्रकार तेलंगाना राज्य की स्थापना 02 जून 2014 को हुई।

तेलंगाना की राजधानी कहाँ है?

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद है।

तेलंगाना की सीमा कितने राज्यों से लगती है?

भारत के 29 वें राज्य तेलंगाना की सीमा उत्तर तथा उत्तर पश्चिम में महाराष्ट्र से, दक्षिण और पूर्व में आंध्र प्रदेश से, पश्चिम में कर्नाटक तथा छत्तीसगढ़ से और उत्तर पूर्व में इसकी सीमा ओडिशा से सटी है।

अगर आप तेलंगाना राज्य पर निबंध पढ़ना चाहते थे तो आपको तेलंगाना की सम्पूर्ण जानकारी (INFORMATION ABOUT TELANGANA IN HINDI) जरूर अच्छी लगी होगी, अपने कमेंट्स से अवगत करायें।




Leave a Comment

Trending Posts

भानगढ़ किला सबसे भुतहा जगह | bhangarh fort history in hindi मेहरानगढ़ किले का इतिहास | Mehrangarh Fort Jodhpur History in Hindi चितोड़ गढ़ किले का इतिहास और जानकारी – About Chittodgarh fort जयगढ़ का किला जयपुर राजस्थान | jaigarh fort history in hindi राज निवास पैलेस धौलपुर राजस्थान वेब स्टोरी | Raj Niwas Palace Dholpur कुंभलगढ़ किला का इतिहास | kumbhalgarh fort information in hindi नाहरगढ़ किले का रहस्य, इतिहास | Nahargarh fort Jaipur history in Hindi यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर में शामिल राजस्थान के 6 किले की खास बातें उम्मेद भवन जोधपुर | umaid bhawan palace jodhpur history in hindi